Loading...    
   


बॉलीवुड की वीरांगनाओं में तनातनी का तमाशा किसी भी पॉपुलर शो से ज्यादा सुर्ख़ियों में / BOLLYWOOD NEWS

मुंबई। बॉलीवुड की वीरांगनाओं में इन दिनों जबरदस्त जंग चल रही है। भारत में जब दो महिलाएं आपस में लड़तीं हैं तो वैसे भी आकर्षण का केंद्र बन जाती हैं और यदि वह महिलाएं खूबसूरत होने के साथ-साथ बॉलीवुड की स्थापित स्टार हों, तो कहना ही क्या। बात कंगना रनौत और तापसी पन्नू के बीच शुरू हुई तकरार की चल रही है। इसका नतीजा जो भी हो परंतु कोरोनावायरस के कारण जो तनाव पैदा हुआ है उसे कम करने के काम जरूर आ रहीं हैं।

मामला बॉलीवुड में नेपोटिज्म का है जिसका विरोध एक्टर सुशांत सिंह राजपूत की मौत के साथ शुरू हुआ था। अब इस आग में सब अपने अपने तरीके से रोटियां सेक रहे हैं। कंगना रनौत बॉलीवुड में नेपोटिज्म के खिलाफ शुरू हुए अभियान की स्वयंभू लीडर बन गई है। नेता प्रतिपक्ष की तरह हर रोज कोई ना कोई बयान जारी कर रही है। अजीब बात यह है कि वह अपने बयानों में उन कलाकारों को भी घसीट रही हैं, जिन्होंने कंगना रनौत को अपने कॉपीराइट नहीं दिए हैं।

पिछले दिनों कंगना रनौत ने कहा कि तापसी पन्नू और स्वरा भास्कर, आलिया भट्ट से भी ज्यादा खूबसूरत है परंतु फिर भी उन्हें केवल बी ग्रेड फिल्में ही क्यों मिलती हैं। तापसी पन्नू ने 'बी ग्रेड फिल्में' पर बड़ी आपत्ति उठाई और कंगना रनौत के इस बयान को अपने अभिनय और लोकप्रियता के खिलाफ माना। कंगना रनौत भी तापसी पन्नू से भिड़ गई, जैसे उन्होंने यह बयान तापसी पन्नू और स्वरा भास्कर को बी ग्रेड एक्ट्रेस बताने के लिए ही दिया था। नेपोटिज्म तो सिर्फ बहाना था। 

बॉलीवुड के स्थापित एक्टर शत्रुघ्न सिन्हा की बेटी एवं अभिनेत्री सोनाक्षी सिन्हा ने तापसी पन्नू का समर्थन करते हुए सोशल मीडिया पर एक पोस्ट किया है और लिखा है.. ' मुझे आप पर गर्व है तापसी। जिस तरह से तुमने अपनी मर्यादा, परिपक्वता और ईमनदारी के साथ जवाब दिया है बहुतों को सम्मान दिया है। बहुत सारी ताकत तुम्हें'। सोनाक्षी सिन्हा से पहले वीर दास, स्वरा भास्कर और ऋचा चड्ढा भी तापसी पन्नू के समर्थन में उतरे थे और उनके पोस्ट सामने आए थे। 

21 जुलाई को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

कांग्रेस के वरिष्ठ विधायक केपी सिंह, डॉ नरोत्तम मिश्रा से मिले: कमलनाथ के किले में बड़ी दरार
जब मोबाइल 100% चार्ज हो जाता है तो चार्जर ऑटोमेटिक ऑफ क्यों नहीं होता
मिस्र देश की रानियां कभी बूढ़ी क्यों नहीं होती थी, क्या उनके पास कोई फार्मूला था
मध्यप्रदेश की भर्ती परीक्षाओं में लागू आरक्षण अधिनियम निष्प्रभावी है
UGC COLLEGE EXAM: भारत की 560 यूनिवर्सिटी ने परीक्षा कार्यक्रम बनाया
क्या कर्मचारी के वेतनमान/पे स्केल में किसी भी प्रकार की घटोत्री की जा सकती है
संपत्ति अधिग्रहण का शारीरिक विरोध आईपीसी में अपराध माना गया है
कोरोना पॉजिटिव को काटकर उड़ा मच्छर यदि आम इंसान को काट ले तो क्या वह भी पॉजिटिव हो जाएगा, पढ़िए
मध्य प्रदेश के सरकारी ऑफिसों में 33-50% का फार्मूला, प्राइवेट ऑफिस 7 दिन बंद होंगे
प्रिय शिवराज, मेरी OBC आरक्षण की लड़ाई अब आपको लड़नी है: कमलनाथ
पशुपालक किसानों के लिए KCC: 1.80 लाख का लोन, बिना गारंटी के लिए KCC: 1.80 लाख का लोन, बिना गारंटी
मध्यप्रदेश में कोरोना बढ़े या घटे, उपचुनाव सितंबर लास्ट तक हो जाएंगे: चुनाव आयोग
मध्यप्रदेश में रात 8:00 बजे से कर्फ्यू, कोरोना कंट्रोल के लिए सख्त कदम शुरू
राखी में रेशम के धागों की मान्यता क्यों है क्या कोई लॉजिक है या बस पंडित जी ने कह दिया इसलिए!
पिछड़ा वर्ग 27% आरक्षण के लिए हाईकोर्ट में कांग्रेस अपने वकील भेजेगी
मध्य प्रदेश कोरोना: 15 जिलों में महामारी, 52 जिले संक्रमित
जबलपुर में कोरोना वाले कमिश्नर के यहां शादी में गए सभी अधिकारी-कर्मचारियों के खिलाफ कार्यवाही होगी
मध्य प्रदेश के 15 से ज्यादा जिलों में 2 दिन का लॉकडाउन


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here