Loading...    
   


ग्वालियर में कोरोना से मौत के 3 घंटे बाद रिपोर्ट पॉजिटिव आई, परिजन और पड़ोसीयों में दहशत / GWALIOR NEWS

ग्वालियर। मध्य प्रदेश के ग्वालियर शहर में कोरोना संक्रमण को लेकर प्रशासन कितना गंभीर है, इसका अंदाजा इस घटना क्रम से लगाया जा सकता है। ग्वालियर के सिंगपुर रोड निवासी वीरेंद्र खंडेलवाल शुक्रवार को सैंपल देकर अपने घर आ गए थे। शनिवार को शाम 4 बजे उनकी मौत हो गई। इसके बाद भी तीन घंटे तक उनके परिजन और पड़ोसी शव को छूते रहे। 

जिला प्रशासन की ओर से शाम 7 बजे मृतक के परिजनों को रिपोर्ट पॉजिटिव आने की जानकारी दी गई। जिला प्रशासन के पास करीब 6:30 बजे वायरोलॉजिकल लैब से काेरोना पॉजिटिव मरीजों की लिस्ट पहुंच चुकी थी,इसके बाद भी उनके शव को जेएएच पोस्टमार्टम भवन तक पहुंचाने में अधिकारियों को रात 10 बज गए।

जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी कोरोना मरीजों को अस्पताल तक पहुंचाने के लिए अधिक वाहनों की तो व्यवस्था कर नहीं पाए हैं। सिर्फ 108 एंबुलेंस की छह गाड़ियों के ही भरोसे मरीज भर्ती कराए जा रहे हैं। सबसे ताज्जुब की बात यह है कि प्रशासन के पास इस बात के इंतजाम नहीं हैं कि अगर कोई कोरोना संदिग्ध मरीज घर पर खत्म हो जाए तो एंबुलेंस भेजकर उसके शव को तुरंत लाया जा सके। 

मृतक वीरेंद्र के मामले में भी यही हुआ। जब अधिकारियों को यह पता चला कि कोरोना पॉजिटिव वीरेंद्र की मौत हो चुकी है तो पहले जिला प्रशासन के अधिकारियों ने जिला अस्पताल मुरार के डॉक्टरों से शव वाहिका भेजने के लिए संपर्क किया। डॉक्टरों ने उन्हें बताया कि शव वाहिका जिला अस्पताल में है ही नहीं। इसके बाद सीएमएचओ डॉ. वीके गुप्ता से शव वाहिका का इंतजाम करके मृतक के घर भेजने के लिए कहा गया। रात करीब 9:35 बजे शव वाहिका वहां पहुंची। 

मृतक के शव को बैग में रखने के बाद रात करीब 10 बजे जेएएच के पोस्टमार्टम भवन पहुंचाया गया। शव का अंतिम संस्कार कोविड नियमों के अनुसार रविवार को लक्ष्मीगंज विद्युत शवदाह गृह में किया जाएगा। वीरेंद्र खंडेलवाल की मौत के बाद उनके परिवार के 9 लोग शव से लिपटकर रोते रहे। इसके अलावा उनके मरने की सूचना मिलते ही उनके रिश्तेदार और मोहल्ले के कई लोग उनके घर पहुंच गए थे। जो रिपोर्ट पॉजिटिव आने की सूचना मिलते ही वापस चले गए।

26 जुलाई को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

ग्वालियर में लड़की ने ब्लैकमेलर को मां का ATM और गहने तक दे दिए फिर भी नहीं माना 
मध्य प्रदेश के 38 जिलों में 5 दिन लगातार बारिश की संभावना 
ट्रैक्टर का साइलेंसर ऊपर की ओर क्यों होता है, कार की तरह पीछे, ट्रक की तरह साइड में क्यों नहीं 
ग्वालियर की सीमाएं सील, डॉक्टर सहित 59 कोरोना पॉजिटिव 
भोपाल में एक्टर की लेट नाइट पार्टी में पुलिस का छापा, 26 लड़के 7 लड़कियां गिरफ्तार 
जानिए, रत्ती में ऐसा क्या है जो हीरे-जवाहरात के लिए डिजिटल तराजु के बजाए उस पर भरोसा करते हैं 
IGNOU के सभी कोर्सेज के लिए TEE अनिवार्य, नोटिफिकेशन जारी 
दुनिया का पहला पिगी बैंक कहां बना, क्या सूअर बचत का प्रतीक होता है 
मध्य प्रदेश के 25 जिलों में आंधी और बारिश की संभावना
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह सरकारी अस्पताल में भर्ती क्यों नहीं हुए, शासन ने बताया 
सिंधिया समर्थक उप चुनाव प्रत्याशी कोरोना पॉजिटिव 
सीएम शिवराज सिंह की अनुपस्थिति में 4 मंत्री मध्यप्रदेश सरकार चलाएंगे 
AIRTEL 52.6 लाख और VODAFONE-IDEA को 45.1 लाख यूजर्स का घाटा, JIO मुनाफे में
मध्य प्रदेश कोरोना: पॉजिटिविटी रेट आज भी 5%, हालात बेहद गंभीर 
मिस्र देश की रानियां कभी बूढ़ी क्यों नहीं होती थी, क्या उनके पास कोई फार्मूला था
भारत में फिर से लॉकडाउन या अनलॉक 3.0 की राहत, फैसला 27 जुलाई को 


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here