Loading...    
   


PUBG MOBILE लवर्स के लिए बुरी खबर, SAFE GUARD लगने वाला है

नई दिल्ली। PUBG MOBILE लवर्स के लिए बुरी खबर है। जल्द ही PUBG GAME पर SAFE GUARD लगने वाला है। इसके बाद आपके आईपी एड्रेस पर PUBG GAME एक लिमिटेड टाइम के लिए ही चलेगा, उसके बाद अपने आप बंद हो जाएगा। यह जानकारी भारत सरकार ने पंजाब एवं हरियाणा कोर्ट में दी है। हाईकोर्ट में पबजी गेम पर प्रतिबंध के लिए याचिका दाखिल की गई है। 

PUBG GAME 5 घंटे से ज्यादा नहीं खेल सकेंगे, बीच में ब्रेक भी होगा

केंद्रीय संचार एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के अतिरिक्त निदेशक धवल गुप्ता ने अपने जवाब में बताया गया कि बच्चों पर PUBG के दुष्प्रभाव को रोकने के लिए इसी माह से सरकार गेम पर सेफ गार्ड लागू कर रही है। बच्चे एक दिन में पांच घंटे से ज्यादा यह गेम खेल नहीं सकेंगे तथा परिजनों के मोबाइल पर गेम खेलने का ओटीपी जाएगा। गेम खेलने के दो और तीन घंटे के बाद कुछ अंतराल भी जरूरी किया जाएगा। ऐसे ही वयस्क लोगों के लिए भी कुछ नियम तय किए जा रहे हैं।

लगातार PUBG खेलने से बच्चों पर क्या असर पड़ता है

इस मामले में हाई कोर्ट के वकील एचसी अरोड़ा ने हाई कोर्ट में एक याचिका दायर कर कोर्ट से मांग की थी कि कोर्ट केंद्र को PUBG मोबाइल गेम पर रोक लगाने का आदेश दे। अरोड़ा ने हाई कोर्ट को बताया कि यह गेम ऐसा है जो बच्चों को अपना आदी बना लेता हैं। याचिका के अनुसार बच्चे कई-कई घंटे इसको खेलते रहते हैं और इसी वजह से उनका शारीरिक और मानसिक विकास धीमा हो जाता है। बच्चे दिन में कई घंटे तक इस गेम को खेलते हुए बिताते हैं, जिस कारण वे सामाजिक रूप से कम ही एक्टिव रह पाते हैं।

इसके साथ ही याची ने कहा कि इस गेम में हथियारों से लैस खिलाड़ी होते हैं जो हिंसक रूप से एक दूसरे पर हमला करते हैं, जिसकारण बच्चोंं के बीच हिंसक प्रवृत्ति बढ़ती है। बच्चे इस गेम के पात्रों को खुद में महसूस करने लगते हैं और इसी वजह से इमोशनल रूप से उससे जुड़ जाते हैं।

ऐसे कई मामले सामने आए हैं जब गेम के दौरान पात्र की मौत हो जाने पर उससे लगे आघात से बच्चों की मौत हो गई है। ऐसे में इस गेम की तुलना ब्लू व्हेल गेम से करते हुए अपील की गई थी कि ब्लू व्हेल गेम की तरह इस गेम पर भी पूरी तरह से पाबंदी लगाई जानी चाहिए। हाई कोर्ट ने याचिका का निपटारा करते हुए केंद्र सरकार को याची द्वारा सौंपे गए मांग पत्र पर विचार करने का आदेश दिया था। कोर्ट के इसी आदेश पर विभाग ने अपने द्वारा उठाए गए कदम की जानकारी याची को दी है।

08 जून को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

मैं कांग्रेस में लौट आया हूं 'महाराज' आने वाले हैं: सत्येंद्र यादव
केंद्रीय कर्मचारियों के महंगाई भत्ता मामले में दिल्ली हाई कोर्ट का डिसीजन
ज्योतिरादित्य सिंधिया: बिना आग के धुंए में कौन सी खिचड़ी पका रहे हैं
एमपी बोर्ड 12वीं की परीक्षा तारीख बदल सकती है
दिवालिया बैंक में जमाधन डूब जाता है तो क्या लिया गया LOAN भी नहीं चुकाना पड़ता
चिन्ह और चिह्न में से क्या सही है और क्या गलत, प्रमाण सहित उत्तर यहां पढ़िए
ज्योतिरादित्य सिंधिया: राज्यसभा चुनाव के बाद भी चैन से नहीं बैठ पाएंगे
सॉफ्ट ड्रिंक बॉटल का बेस 5 पॉइंट वाला क्यों होता है जबकि मिनरल का फ्लैट
SIM CARD का फुल फॉर्म क्या है, आविष्कार कब हुआ, कितने प्रकार की होती है
मध्य प्रदेश शासन ने सभी सरकारी/प्राइवेट स्कूलों की छुट्टियां बढ़ाई
MP BOARD 12th EXAM 2020: ऑनलाइन प्रवेश-पत्र की मान्यता के संबंध में संशोधित आदेश
मुख्यमंत्री ने 7 जिलों के कलेक्टर, भोपाल निगम कमिश्नर बदले
MP BOARD 12th EXAM GUIDELINE, परिजन क्वॉरेंटाइन है तो परीक्षा नहीं दे सकते
नेताजी के स्वागत में हाईवे पर खड़े रहे IG पुलिस, वर्दीधारी से चाय पेश करवाई
दवाई में मिलावट और विक्रय, किस धारा के तहत FIR दर्ज होगी, पढ़िए
CBSE 12th EXAM के लिए HELPLINE NUMBER एवं प्रमुख दिशा निर्देश


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here