Loading...    
   


DEWAS: सरकारी कतार में खड़े किसान की मौत / MP NEWS

भोपाल। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान गर्व के साथ बताते हैं कि इस साल भी गेहूं की रिकॉर्ड खरीदी की गई है परंतु शर्मनाक स्थिति यह है कि गेहूं बेचने के लिए आने वाले किसानों को छांव और पेयजल भी उपलब्ध नहीं होता। इसी के चलते देवास में एक किसान की मौत हो गई। 

सरकारी बदइंतजामी के कारण हार्ट अटैक आया

किसान की मौत के बाद एक्टिव हुए देवास के एसडीएम SDM प्रदीप सोलंकी ने बताया कि किसान की मृत्यु हार्टअटैक के कारण हुई है। किसान गेहूं खरीदी केंद्र पर अपनी बारी का इंतजार कर रहा था। उचित सुविधाएं ना होने के कारण उसे हार्ट अटैक आ गया और उसकी मृत्यु हो गई है।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि देवास के किसान जयराम मंडलोई जी के हृदयाघात से हुए असमय निधन के समाचार से अत्यधिक दु:ख हुआ। ईश्वर से दिवंगत आत्मा को अपने श्री चरणों में स्थान और परिजनों को यह गहन दु:ख सहन करने की शक्ति देने की प्रार्थना करता हूं। विनम्र श्रद्धांजलि!


01 जून को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

पालतू कुत्तों की पूंछ क्यों काट दी जाती है, क्या कोई साइंस है या बस देखा-देखी
इंदौर में व्यापारी के गोदाम से नोटों से भरे बोरे,1 ट्रक 4 गाड़ियां भरकर गुटखा बरामद
MP BOARD 10th-12th EXAM RESULT कब आएगा, यहां पढ़िए
जीतू पटवारी ने मध्यप्रदेश विधानसभा उपचुनाव में हार स्वीकारी ?
बैंक वाले चेक के पीछे सिग्नेचर क्यों करवाते हैं, जबकि वहां सिग्नेचर मार्क नहीं होता
जब खून लाल है तो नसों का रंग नीला क्यों होता है
DATING APP पर मिली गर्लफ्रेंड वीडियो बनाकर ब्लैकमेल करने लगी
यदि समुद्र के पानी को मीठा कर दिया जाए तो क्या होगा
कोरोना तक प्राइमरी स्कूल बंद रहेंगे, मिडिल-HSS स्कूल सितंबर से: बाल आयोग
1 जून से 12 ट्रेनें ग्वालियर में रुकेंगी, टाइम और नंबर बदल गया है
लॉकडाउन 5.0: मुख्यमंत्री ने बताया, क्या खुलेगा - क्या बंद रहेगा
मध्यप्रदेश में कोरोना 8000 के पार, 23 जिलों में 198 पॉजिटिव
आपका मोबाइल नंबर बदलने वाला है, TRAI की तरफ से तैयारी हो गई है
इंदौर में पत्नी को लेने गए युवक को ससुरालवालों ने जिंदा जला दिया
निर्माणाधीन बिल्डिंग का गिर जाना हादसा होता है या अपराध, यहां पढ़िए
भूख से बिलखते नवजात शिशु को बस स्टॉप पर छोड़ दिया क्योंकि माँ भी भूखी थी, दूध तक नहीं निकल रहा था
ड्रग इंस्पेक्टर के खिलाफ जबलपुर की मेडिकल स्टोर्स बंद, सस्पेंड करने के बाद भी नहीं खुली


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here