Loading...    
   


अमिताभ बच्चन समेत बॉलीवुड के 50 से ज्यादा महान कलाकारों पर उद्धव ठाकरे सरकार का प्रतिबंध / BOLLYWOOD NEWS

मुंबई। महाराष्ट्र सरकार ने बॉलीवुड को अनलॉक करने की अनुमति तो दे दी है लेकिन अमिताभ बच्चन, अनुपम खेर से लेकर डेविड धवन और जावेद अख्तर तक करीब 50 से ज्यादा महान हस्तियों पर बैन लगा दिया है। यह लोग ना तो शूटिंग में भाग ले सकते हैं और ना ही किसी भी स्टूडियो में प्रवेश कर सकते हैं। कोरोनावायरस के इंफेक्शन को फैलने से रोकने के लिए महाराष्ट्र सरकार ने एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री को काम करने की छूट तो दी है लेकिन गाइडलाइन भी जारी कर दी है। 

नई गाइडलाइन के अनुसार अमिताभ बच्चन, अनुपम खेर, परेश रावल, नसीरुद्दीन शाह, धर्मेन्द्र, शक्ति कपूर, जैकी श्रॉफ, अन्नू कपूर, मिथुन चक्रवर्ती जैसे कलाकार और अनिल शर्मा, डेविड धवन, सुभाष घई, मणिरत्नम, शेखर कपूर, गुलजार, जावेद अख्तर जैसे निर्माता और गीतकार 65 वर्ष की ज्यादा आयु के महान कलाकार काम नहीं कर पाएंगे। महाराष्ट्र सरकार ने कुछ ऐसे नियम भी बनाए हैं जिसके चलते बॉलीवुड का चेहरा ही बदल जाएगा। जैसे बिना पंख का मोर या बिना नाखून का शेर।

क्या हैं बॉलीवुड के लिए नई चुनौतियां?

1) रोमांटिक सीन शूट नहीं हो सकेंगे।
2) पांव छूना या हैंडशेक भी मुमकिन नहीं है।
3) हम साथ-साथ है जैसी फिल्में बनना मुमकिन नहीं है।
4) 33% क्रू ही सेट पर मौजूद रह सकता है।
5) ढाई किलो का हाथ जैसे सीन शायद ही फिल्माए जाएं।
6) लात-घूसे और थप्पड़- एक्शन सीन में भी बदलाव होगा।
7) बच्चों वाली कहानियों में बदलाव होगा क्योंकि, 10 साल से कम उम्र के बच्चे सेट पर मौजूद नहीं रह सकते।
8) 65 साल से ज़्यादा उम्र के एक्टर सेट पर नहीं जा सकते। मतलब अमिताभ बच्चन, अनुपम खेर जैसे आर्टिस्ट लॉकडाउन ही रहेंगे। 
9) खुद एक्टर को मेक-अप घर से करके आने की सलाह। हर किसी की सेट पर पर्सनल मेक-अप किट मौजूद होगी।
10) महाराष्ट्र में मेडिकल स्टाफ की क़िल्लत- ऐसे में सेट पर डॉक्टर नर्स और एम्बुलेंस कैसे मौजूद रहेंगे।
11) स्क्रिप्ट राइटर को हर समय कहानी में नए मोड़ सोचकर रखने की सलाह। क्योंकि, कोविड का खतरा शूटिंग रोक सकता है और एक्टर भी इससे बचें नहीं- अगर किसी एक्टर को हो गया तो कहानी में होगा बदलाव।

उम्र का नियम बदलने की मांग

IFTDA के अध्यक्ष अशोक पंडित ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से दो नियमों पर पुनर्विचार की मांग की है।IFTDA की दूसरी मांग है कि सेट पर डॉक्टर्स और नर्सेज की मौजूदगी की अनिवार्यता पर भी दोबारा विचार किया जाए। राज्य में पहले ही कोविड-19 के मामलों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। इसके चलते मेडिकल वर्कर्स की कमी है। ऐसे में हर शूटिंग स्थल पर डॉक्टर्स और नर्सेज का होना संभव नहीं होगा। एसोसिएशन का सुझाव है कि बजाय हर सेट पर मेडिकल टीम की अनिवार्यता के एरिया वाइज शूटिंग लोकेशंस पर डॉक्टर्स और नर्सेज की उपलब्धता रहे।

06 जून को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

मैं कांग्रेस में लौट आया हूं 'महाराज' आने वाले हैं: सत्येंद्र यादव
छतरपुर में युवा कर्मचारी ने CMO की पत्नी को गोलियां मारीं, घटना के समय दोनों घर में अकेले थे
दिवालिया बैंक में पैसा डूब जाता है तो क्या लिया गया LOAN भी नहीं चुकाना पड़ता
सिंधिया के सवाल पर तोमर ने कहा: भाजपा किसी को पचाने में सक्षम है
CBSE 12th EXAM NOTIFICATION जारी, यहां पढ़िए
भोपाल में देह व्यापार अनलॉक, 5 लड़कियों के साथ सीहोर का किसान गिरफ्तार
धूम्रपान करने वालों के खिलाफ IPC की किस धारा के तहत FIR दर्ज होगी, क्या आप जानते हैं
इंदौर में जिस व्यापारी के यहां नोटों से भरे बोरे मिले, वो पाकिस्तानी निकला
दुनिया में जब रेजर नहीं थे, लोग सेविंग कैसे करते थे
शिवलिंग गोल होते है, फिर आधी परिक्रमा क्यों करते हैं
MP BOARD EXAM के लिए प्रवेश-पत्र जारी, यहां से डाउनलोड करें
जबलपुर में युवक ने खंडहर में नाबालिग को हवस का शिकार बनाया
चिन्ह और चिह्न में से क्या सही है और क्या गलत, प्रमाण सहित उत्तर यहां पढ़िए
SSC EXAM 2020 DATE घोषित, शेड्यूल जारी / SSC EXAM 2020 TIMETABLE
कोरोना के लक्षण दिखाई देते ही क्या करें: 1000 मरीजों का ठीक करने वाले डॉ. गोयनका के सुनिए
सीएम शिवराज सिंह गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा के घर क्यों गए, जवाब की तलाश
ग्वालियर नगर निगम ने नामांतरण शुल्क 50 से 5000 कर दिया, चेंबर ऑफ कॉमर्स नाराज
बॉयफ्रेंड के साथ भागने वाली थी विवाहिता, पति ने पत्थर पर पटककर मार डाला
चुनाव की तरह सभी कर्मचारियों को कोरोना ड्यूटी पर लगाएं: कमिश्नर ग्वालियर
पेयजल को अपवित्र करना पाप ही नहीं क्राइम भी है, पढ़िए किस धारा के तहत FIR दर्ज होती है


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here