Loading...    
   


150 साल पहले नदी में डूबा मंदिर फिर से ऊपर आ गया, INTACH की टीम मौजूद

नई दिल्ली। भारत के राज्य ओडिशा में चमत्कारी घटनाक्रम हुआ है। करीब 500 साल पहले एक भयंकर बाढ़ में 7 गांव के साथ डूब गया प्राचीन विष्णु मंदिर अचानक नदी के ऊपर की तरफ दिखाई देने लगा। मंदिर का शिखर नदी में ऊपर से नजर आ रहा है। हालांकि पूरा का पूरा मंदिर अभी भी नदी के अंदर है। इंडियन नेशनल ट्रस्ट फॉर आर्ट एंड कल्चरल हेरिटेज की टीम मौके पर मौजूद है। उसने आसपास के तमाम इलाके को आम नागरिकों के आने जाने के लिए प्रतिबंधित कर दिया है।

पद्मावती नदी से निकला विष्णु मंदिर कम से कम 500 साल पुराना है

इंडियन नेशनल ट्रस्ट फॉर आर्ट एंड कल्चरल हेरिटेज (INTACH) की पुरातत्वविदों की टीम ने बताया कि उन लोगों ने ही इस मंदिर को खोजा है। मंदिर का शिखर ओडिशा के नयागढ़ स्थित बैद्येश्वर के पास महानदी की शाखा पद्मावती नदी के बीच में है। आर्कियोलॉजिस्ट दीपक कुमार नायक ने बताया कि यह मंदिर करीब 60 फीट ऊंचा है। नदी के ऊपर दिख रहे मंदिर के मस्तक, उसके निर्माण कार्य और वास्तुशिल्प को देखकर लगता है कि यह 15वीं या 16वीं सदी का है।

150 साल पहले नदी में आई बाढ़ में डूब गए थे 7 गांव और गोपीनाथ मंदिर

जिस जगह यह मंदिर मिला है उस इलाके को सतपताना कहते हैं। सतपताना में सात गांव हुआ करते थे। सातों गांव भगवान गोपीनाथ की पूजा करते थे। उसी समय यह मंदिर बनाया गया था। दीपक कुमार नायक ने बताया कि करीब 150 साल पहले नदी ने रुख बदला और तेज बाढ़ आई। जिसकी वजह से मंदिर और आसपास का इलाका डूब गया। यह घटना 19वीं सदी में हुई थी। गांव वालों ने भगवान की मूर्ति मंदिर से निकाली और ऊंचे स्थान पर चले गए।

जहां नदी में डूबा हुआ मंदिर मिला, 5 किलोमीटर के दायरे में 22 मंदिरों की खोज है

आसपास के लोग बताते हैं कि पद्मावती गांव के आसपास 22 मंदिर थे, जो इस नदीं में डूबे हुए हैं लेकिन इतने सालों के बाद फिर भगवान गोपीनाथ देव के मंदिर का मस्तक बाहर की तरफ दिखाई दिया है। INTACH के प्रोजेक्ट कॉर्डिनेटर अनिल धीर ने कहा कि हम महानदी के आसपास के सभी ऐतिहासिक धरोहरों का दस्तावेजीकरण कर रहे हैं। हम इस मंदिर के चारों तरफ पांच किलोमीटर के दायरे में और मंदिरों और धरोहरों की खोज कर रहे हैं। गांव के लोग बताते हैं कि इस मंदिर का मस्तक 25 साल पहले दिखाई दिया था। 

12 जून को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

प्रीति ने लिखा 'लाइफ बहुत गंदी है' और फांसी पर झूल गई
स्वस्थ इंसान का हृदय 1 मिनट में कितना खून पंप करता है
लो जी, कमलनाथ को पता ही नहीं था, दिल्ली में उनके खिलाफ क्या पक रहा है
चलती ट्रेन में यदि कोई सामान गिर जाए तो क्या करें
ग्वालियर में छात्रों की बेमियादी भूख हड़ताल, जनरल प्रमोशन के लिए
यदि कोई मर्जी के बिना घर में घुस आए तो क्या FIR दर्ज करवाई जा सकती है
पेड़ की पत्तियों का रंग हरा क्यों होता है, धूप में सूखती क्यों नहीं
थ्री पिन प्लग का पहला पिन शेष दोनों पिन से बड़ा क्यों होता है
RGPV : प्रैक्टिकल परीक्षा के लिए गाइडलाइन
बिना अनुमति घर में घुसने वालों के खिलाफ 3 तरह की धाराओं में FIR दर्ज हो सकती है
मध्य प्रदेश कोरोना: बेकाबू हुआ भोपाल, ग्वालियर-नीमच भी लाल
DAHET के लिए आवेदन शुरू, ऑफिशल नोटिफिकेशन यहां है
RGPV: परीक्षाओं के लिए नए नियम जारी
नरोत्तम मिश्रा, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह से बदतमीजी कर रहे हैं: पूर्व मुख्यमंत्री
IPC की एक धारा ऐसी जिसमें आत्महत्या को भी हत्या माना जाता है, क्या आप जानते हैं 

कॉलेज स्टूडेंट से लेकर यूनिवर्सिटी कुलसचिव तक के लिए राज्यपाल की गाइडलाइन


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here