Loading...    
   


मध्य प्रदेश के किस शहर को कितने स्टार मिले: कचरा मुक्त स्टार रेटिंग / MP NEWS

भोपाल। भारत सरकार के केंद्रीय आवास एवं शहरी मामलों के मंत्रालय ने कचरा मुक्त स्टार रेटिंग का रिजल्ट घोषित कर दिया है। केंद्रीय मंत्री श्री हरदीप सिंह पुरी ने आज नई दिल्ली में रिजल्ट की घोषणा की। आइए देखते हैं मध्य प्रदेश के किस शहर को कितने स्टार मिले।

मध्यप्रदेश के इंदौर को फाइव स्टार 

भारत के 5 स्टार रेटिंग वाले शहरों में छत्तीसगढ़ का अंबिकापुर, गुजरात के राजकोट और सूरत, कर्नाटक का मैसूर और महाराष्ट्र का नवी मुंबई भी शामिल है। मध्यप्रदेश के इंदौर शहर को भी फाइव स्टार रेटिंग मिली है। इंदौर में इन दिनों कोरोनावायरस के मामले में 2000 से ज्यादा पॉजिटिव केस सामने आने के बाद टोटल लॉक डाउन चल रहा है।

मध्य प्रदेश के 10 शहरों को थ्री स्टार रेटिंग 

मध्य प्रदेश के 10 शहर जिनमें राजधानी भोपाल सहित बुरहानपुर, छिंदवाड़ा, कन्ताफोद (जिला देवास), कटनी, खरगोन, ओंकारेश्वर, पीथमपुर, सिगरौली और उज्जैन शहर को थ्री स्टार मिले हैं।

मध्य प्रदेश के 7 शहरों को सिंगल स्टार 

मध्यप्रदेश के इंदौर और भोपाल के बाद ग्वालियर शहर का नाम भी इस लिस्ट में शामिल है। ग्वालियर को एक स्टार मिला है। ग्वालियर के अलावा मध्यप्रदेश के सरदारपुर, हातोद, महेश्वर, खंडवा, शाहगंज और बदनावर को एक स्टार मिला है।

कचरा मुक्त शहर के मामले में मालवा-निमाड़, मध्यप्रदेश का नंबर वन

मध्य प्रदेश के जिन 18 शहरों को स्टार मिले है उनमें से 12 मालवा-निमाड़ के हैं। इंदौर तीन बार देश में सबसे स्वच्छ शहर का अवार्ड पा चुका था, वहां लगातार बढ़ते कोरोना मरीजों की संख्या ने शहरवासियों को निराश कर दिया था। इस रेटिंग ने इंदौर के जनप्रतिनिधियों और लोगों के चेहरे पर एक बार फिर मुस्कान ला दी है। मध्य प्रदेश का यह एकलौता शहर है जिसे गारबेज फ्री रेटिंग में फाइव स्टार मिले हैं।

इंदौर में 7 STAR के लिए दावा पेश किया था

केंद्रीय शहरी विकास मंत्रालय ने नई दिल्ली में मंगलवार दोपहर स्टार रेटिंग के परिणाम घोषित किए। मंत्रालय ने इसकी सूचना देशभर के नगरीय निकायों को दे दी है। इंदौर ने पिछले साल की तरह इस बार भी सेवन स्टार रेटिंग के लिए दावा पेश किया था, लेकिन परिणाम आए तो इंदौर को फाइव स्टार रेटिंग से ही संतोष करना पड़ा था।

19 मई को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

लॉक डाउन 4.0 भोपाल में क्या कर सकते है क्या नहीं पढ़िए
कंप्यूटर को टीवी की तरह डायरेक्ट स्विच ऑफ क्यों नहीं कर सकते
गर्भपात के दौरान यदि महिला की मृत्यु हो गई तो जेल कौन जाएगा डॉक्टर या पति
कमलनाथ को पहला चुनावी झटका, कांग्रेस नेताओं की एक टीम भाजपा में शामिल
तुम डेढ़ साल तक रोते रहे, हमने डेढ महीने में कर दिखाया: शिवराज सिंह का कमलनाथ को जवाब
भारत में परमाणु बम का कोड और हमले का अधिकार किसके पास होता है
ग्वालियर के प्राइवेट डॉक्टरों पर पाबंदी, सर्दी-जुकाम का इलाज नहीं करेंगे
कांग्रेस की गोपनीय लिस्ट ज्योतिरादित्य सिंधिया के पास पहुंच गई
इंदौर लॉक डाउन 4.0 में: किसको कितनी छूट मिली, पढ़िए
सीबीएसई 10वीं-12वीं परीक्षा का टाइम टेबल
इस साल स्कूल नहीं खुलेंगे तो बच्चों को कैसे पढ़ाएंगे, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बताया
विधायक कमलनाथ और सांसद नकुल नाथ लापता, छिंदवाड़ा में पोस्टर लगे
मध्य प्रदेश: RED ZONE में सरकारी एवं प्राइवेट कर्मचारियों के लिए गाइडलाइन
ग्वालियर से नवविवाहिता का अपहरण, करैरा में गैंगेरेप
सिंधिया के समर्थन में इस्तीफा देने वाले विधायकों के टिकट खतरे में
जब बिजली को स्टोर नहीं किया जा सकता तो फिर सरकार SAVE ELECTRICITY क्यों कहती है
OMG! सूरज कमजोर पड़ रहा है, यह कितना भयानक हो सकता है
PoK को लेकर तनाव शुरू, पाकिस्तान ने कदम उठा लिया, अब भारत की बारी है


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here