Loading...    
   


क्वारेंटाइन सेंटर या जेल: ग्वालियर में बेडशीट के लिए हंगामा करना पड़ा / GWALIOR NEWS

ग्वालियर। कोरोना संदिग्धों के लिए शहर में बनाए गए एक दर्जन क्वारेंटाइन सेंटरों में से दस सेंटरों में रह रहे संदिग्धों द्वारा बेडशीट व अन्य व्यवस्थाओं से परेशान होकर हंगामा कर दिया था। हंगामे की सूचना मिलते ही केयर सेंटर के लिए अधिकृत किए गए नोडल अधिकारी अपर कलेक्टर रिंकेश वैश्य ने मौके पर पहुंचे। 

कलेक्टर रिंकेश वैश्य ने यहां मौजूद स्टाफ को व्यवस्थाएं दुरुस्त करने के निर्देश देने के साथ ही सभी संदिग्धों को डिस्पोजल बेडशीट देने के निर्देश दिए। जो कोरोना संक्रमित लोगों के संपर्क में आए हैं ऐसे लोगों को प्रशासन ने जांच सैंपल लेने के लिए इन क्वारेंटाइन सेंटरों में रखा जा रहा है। ऐसे संदिग्धों की संख्या वर्तमान में एक सैकड़ा से अधिक है। वहीं साडा स्थित रामकृष्ण व डे-केयर हॉस्पीटल में एक भी संदिग्ध नहीं है। शेष दस क्वारेंटाइन सेंटरों में रह रहे इन संदिग्धों ने प्रशासन द्वारा दी जा रही सुविधाओं से नाराज होकर हंगामा कर दिया। संदिग्धों का कहना था कि हमें उपयोग की गई बेडशीट व घटिया खाना दिया जा रहा है। 

हंगामें की सूचना मिलते ही मौके पर पहुंचे नोडल अधिकारी रिंकेश वैश्य अपने अधीनस्थ व स्वास्थ्य अमले को लेकर इन क्वारेंटाइन सेंटरों में पहुंचे और तत्काल ही सभी संदिग्धों को डिस्पोजल बेडशीट उपलब्ध कराई। साथ ही मौके पर मौजूद डॉक्टरों से कहा कि डॉक्टरों द्वारा बताई गई डाइट ही इन संदिग्धों को नियत कैलोरी के हिसाब से दी जाए, जिससे उनका स्वास्थ्य ठीक रहे। 


03 मई को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

हवा फेंकने वाला पंखा गंदा क्यों हो जाता है, जबकि हवा से धूल साफ होती है 
रसोई गैस सिलेंडर का रंग लाल क्यों होता है, क्या इससे खाना पकाना खतरनाक है, यहां पढ़िए 
सिंधिया समर्थक पूर्व मंत्री प्रद्युम्न सिंह के बेटे का हाईप्रोफाइल ड्रामा VIDEO वायरल 
नाई को घर बुलाकर कटिंग/सेविंग कराने वालों के खिलाफ FIR होगी: कलेक्टर 
मध्यप्रदेश: कोरोना 33वें जिले में पहुंचा, बुरहानपुर और मंदसौर गंभीर, उज्जैन मौत का घर 
मध्यप्रदेश में केंद्रीय गाइडलाइन लागू होगी या नहीं: सीएम शिवराज सिंह के निर्देश जारी
कमलनाथ के खास विधायक सुरेंद्र सिंह सहित 17 लोगों में कोरोनावायरस का इन्फेक्शन 
रेंट एग्रीमेंट 11 महीने के लिए क्यों होता है, 6 या 12 महीने का क्यों नहीं होता 
ज्योतिरादित्य सिंधिया के कारण दीपक बावरिया से इस्तीफा लिया, मुकुल वासनिक नए प्रभारी
मुरैना में चली बंदूकें, 2 की मौत, 16 घायल, 1 गंभीर 
लॉकडाउन में शादी के लिए छूट, इन नियमों का पालन करना होगा 
छत पर चला रहा था सैलून, ड्रोन ने पकड़ा, मकान मालिक और नाई गिरफ्तार 
मध्यप्रदेश में शराब की दुकानें खोलने की तैयारी, हाई कोर्ट में कैविएट दाखिल 
लॉकडाउन 3.0: ऑरेंज ज़ोन में यात्रा परिवहन के बारे में केंद्रीय गृहमंत्रालय की गाइडलाइन
अपराध या भ्रष्टाचार की झूठी जानकारी देने का मामला IPC की किस धारा के तहत दर्ज होगा, कितनी सजा मिलेगी 
लॉकडाउन 3.0: पूरे भारत में शराब, पान मसाला और तम्बाकू के लिए छूट 
कोरोना के साथ जीना पड़ेगा, यह खत्म नहीं होने वाला: अरविंद केजरीवाल 
मजदूरी या वेतन में से नियम विरुद्ध कटौती के खिलाफ FIR दर्ज करवा सकते हैं
कमलनाथ के बयान के साथ मध्यप्रदेश में शराब की दुकानें खुलने से पहले लॉक डाउन
ग्वालियर में चश्मे की दुकानें खुलीं, टोपी बाजार, राज मार्केट, ज्येंद्रगंज में रौनक 
मध्य प्रदेश: मस्जिद में छुपे बांग्लादेश, WB और AP के 22 जमातियों के खिलाफ FIR 
सिर्फ 14 दिन और दे दें, हम जीतने वाले हैं: भोपाल कलेक्टर की अपील 
पेन के ढक्कन में छेद क्यों होता है, क्या इससे लोगों की जान बचाई जाती है
यदि 7 साल से कम का बच्चा चोरी करे तो क्या उसके खिलाफ FIR दर्ज होगी, पढ़िए 
कोरोना के साथ जीना पड़ेगा, यह खत्म नहीं होने वाला: अरविंद केजरीवाल 
कमलनाथजी, आपके दुर्व्यवहार ने मंत्री विधायकों को कुर्बानी के लिए विवश किया: विष्णुदत्त शर्मा


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here