Loading...    
   


कोरोना के साथ जीना पड़ेगा, यह खत्म नहीं होने वाला: अरविंद केजरीवाल / CORONA NEWS INDIA

नयी दिल्‍ली। देश इस समय कोरोना संकट से जूझ रहा है। अब तक जो आंकड़े सामने आये हैं उसके अनुसार देश में 37776 लोग संक्रमित हो चुके हैं और 1223 लोगों की मौत भी हो चुकी है। कोरोना संक्रमण का इलाज अब तक खोजा नहीं जा सका है। अब तक केवल शोध कार्य जारी हैं, लेकिन कोई पुष्‍ट दावे नहीं किये जा सके हैं कि कोरोना की दवा खोज ली गयी है। कोरोना से बचाव का एक मात्र उपाय सोशल डिस्‍टेंसिंग ही रह गया है। इस बीच दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने एक टीवी कार्यक्रम में कोरोना को लेकर बड़ा बयान दे दिया है।

कोरोना संक्रमण से बचने के लिए दो सुझाव भी दिये

अरविंद केजरीवाल ने न्‍यूज चैनल आजतक के कार्यक्रम ई एजेंडा में कोरोना चर्चा में कहा कि कोरोना संक्रमण खत्‍म नहीं होने वाला है। उन्‍होंने कहा, कोई यह न सोचे कि पूरी तरह से कोरोना संक्रमण मुक्‍त हो जाएगा, जब तक इसकी दवा नहीं आएगी। चर्चा में केजरीवाल ने कहा कि कोरोना खत्‍म नहीं होने वाला है, बल्कि इसके साथ जीना सीख लेना चाहिए। हालांकि उन्‍होंने कोरोना संक्रमण से बचने के लिए दो सुझाव भी दिये। उन्‍होंने कहा, कोरोना संक्रमण को फैलने के लिए अगर रोकना है तो फिर हमें खूब टेस्ट करना होगा और मरीज को पूरी तरह से ठीक करके घर भेजो।

केवल रेड जोन को ही बंद रखना चाहिए

केजरीवाल ने आगे कहा, दूसरा उपाय है कि कोरोना से हो रही मौतों को भी रोकना होगा। किसी भी व्‍यक्ति की मौत नहीं होनी चाहिए। केजरीवाल ने कहा, अब समय आ गया है अर्थव्‍यवस्‍था को खोलने का, दिल्‍ली इसके लिए तैयार है। कोरोना के पॉजिटिव केस बढ़ते हैं तो इसके लिए हमें तैयार रहना होगा। उन्‍होंने कहा, अब समय आ गया है कि धीरे-धीरे लॉकडाउन से बाहर निकला जाए। उन्‍होंने कहा, केवल रेड जोन को ही बंद रखना चाहिए और बाकी सभी इलाकों को खोल देना चाहिए।

70 साल से भारत की स्‍वास्‍थ्‍य व्‍यवस्‍था पर काम नहीं किया गया

केजरीवाल ने कहा, 70 साल से देश की स्‍वास्‍थ्‍य व्‍यवस्‍था पर काम नहीं किया गया। उन्‍होंने अपनी सरकार की तारीफ करते हुए कहा कि दिल्‍ली में स्‍वास्‍थ्य को लेकर काफी काम किये गये हैं। उन्‍होंने मोहल्‍ला क्लिनिक का उदाहरण दिया और कहा, कोरोना ने हमें सीखा दिया है कि हमें अपने हेल्‍थ इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर पर काफी काम करना बाकी है। रिसर्च पर काम करना है।

हम खुद कोरोना की दवा क्यों नहीं बना सकते: केजरीवाल

उन्‍होंने कहा, आज भी हमें अमेरिका का मुंह देखना पड़ता है कि वो दवा बनाएगा और हमारे देश का भी कल्‍याण होगा। उन्‍होंने कहा, हमें भी इस ओर आगे बढ़ना चाहिए, रिसर्च पर काम करना होगा। उन्‍होंने डॉक्‍टरों के संक्रमित होने पर काफी चिंता जतायी। उन्‍होंने कहा, जिस दिन लोगों में मौत का डर निकल जाएगा, उस दिन मन से कोरोना का भय खत्म हो जाएगा।

03 मई को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

हवा फेंकने वाला पंखा गंदा क्यों हो जाता है, जबकि हवा से धूल साफ होती है 
रसोई गैस सिलेंडर का रंग लाल क्यों होता है, क्या इससे खाना पकाना खतरनाक है, यहां पढ़िए 
सिंधिया समर्थक पूर्व मंत्री प्रद्युम्न सिंह के बेटे का हाईप्रोफाइल ड्रामा VIDEO वायरल 
नाई को घर बुलाकर कटिंग/सेविंग कराने वालों के खिलाफ FIR होगी: कलेक्टर 
मध्यप्रदेश: कोरोना 33वें जिले में पहुंचा, बुरहानपुर और मंदसौर गंभीर, उज्जैन मौत का घर 
मध्यप्रदेश में केंद्रीय गाइडलाइन लागू होगी या नहीं: सीएम शिवराज सिंह के निर्देश जारी
कमलनाथ के खास विधायक सुरेंद्र सिंह सहित 17 लोगों में कोरोनावायरस का इन्फेक्शन 
रेंट एग्रीमेंट 11 महीने के लिए क्यों होता है, 6 या 12 महीने का क्यों नहीं होता 
ज्योतिरादित्य सिंधिया के कारण दीपक बावरिया से इस्तीफा लिया, मुकुल वासनिक नए प्रभारी
मुरैना में चली बंदूकें, 2 की मौत, 16 घायल, 1 गंभीर 
लॉकडाउन में शादी के लिए छूट, इन नियमों का पालन करना होगा 
छत पर चला रहा था सैलून, ड्रोन ने पकड़ा, मकान मालिक और नाई गिरफ्तार 
मध्यप्रदेश में शराब की दुकानें खोलने की तैयारी, हाई कोर्ट में कैविएट दाखिल 
लॉकडाउन 3.0: ऑरेंज ज़ोन में यात्रा परिवहन के बारे में केंद्रीय गृहमंत्रालय की गाइडलाइन
अपराध या भ्रष्टाचार की झूठी जानकारी देने का मामला IPC की किस धारा के तहत दर्ज होगा, कितनी सजा मिलेगी 
लॉकडाउन 3.0: पूरे भारत में शराब, पान मसाला और तम्बाकू के लिए छूट 
कोरोना के साथ जीना पड़ेगा, यह खत्म नहीं होने वाला: अरविंद केजरीवाल 
मजदूरी या वेतन में से नियम विरुद्ध कटौती के खिलाफ FIR दर्ज करवा सकते हैं


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here