Loading...    
   


3 मई के बाद लाइफ पहले जैसी नहीं रहेगी, नए कानून बनेंगे, काफी कुछ बदल जाएगा | NATIONAL NEWS

सेंट्रल डेस्क। प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने देशव्यापी तालाबंदी की तारीख बढ़ाकर 3 मई तक कर दी है लेकिन 3 मई के बाद भी लाइफ पहले जैसी नहीं रहेगी। भारत में काफी कुछ बदल जाएगा। भारत के नागरिकों में कुछ नई आदतें डालने के लिए नए कानून बनाने पड़ेंगे। पुलिस केवल विदाउट हेलमेट पर ही चालान नहीं बनाएगी बल्कि और भी कई नए तरह के चालान बनेंगे। 

भारत के नागरिकों की लाइफ स्टाइल क्यों बदल जाएगी

वैज्ञानिकों ने आगाह किया है कि कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम के लिए 2022 तक सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा। अगले 2 साल तक सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने का अर्थ है इसके लिए संसद को एक नया कानून बनाना पड़ेगा। ऑफिस में, मॉल में, मंदिर में और पब्लिक प्लेस पर डिस्टेंस मेंटेन करने के लिए धारा 144 से काम नहीं चलेगा। काफी कुछ बदलना पड़ेगा। 

सिर्फ एक बार लॉकडाउन से महामारी खत्म नहीं होगी: नई स्टडी रिपोर्ट

नई स्टडी में शोधकर्ताओं ने कहा है कि आने वाले सालों में कोरोना वायरस से फिर से तबाही मचा सकता है। जर्नल साइंस में प्रकाशित हुए शोध में कहा गया है कि सिर्फ एक बार लॉकडाउन करने से महामारी पर नियंत्रण पाना मुश्किल है। रोकथाम के उपायों के बिना कोरोना वायरस की दूसरी लहर ज्यादा भयावह हो सकती है। 

वैक्सीन या इलाज नहीं खोजा तो 2025 में दुनिया की सबसे बड़ी महामारी होगी

हार्वर्ड यूनिवर्सिटी में महामारी विशेषज्ञ और स्टडी के लेखक मार्क लिपसिच के अनुसार वैक्सीन या इलाज ना खोजे जा पाने की स्थिति में 2025 में कोरोना वायरस फिर से पूरी दुनिया को अपनी जद में ले सकता है। महामारी विशेषज्ञ मार्क का कहना है कि वर्तमान में कोरोना वायरस से संक्रमण की स्थिति को देखते हुए 2020 की गर्मी तक महामारी के अंत की भविष्यवाणी करना सही नहीं है। 

बाजार में खाद्य सामग्री की उपलब्धता पर नियंत्रण करना पड़ेगा

हार्वर्ड यूनिवर्सिटी में महामारी विशेषज्ञ और स्टडी के लेखक मार्क लिपसिच ने कहा, संक्रमण दो चीजें होने पर फैलता है- एक संक्रमित व्यक्ति और दूसरा कमजोर इम्यून वाले लोग। जब तक कि दुनिया की ज्यादातर आबादी में वायरस के खिलाफ प्रतिरोधक क्षमता विकसित नहीं हो जाती है, तब तक बड़ी आबादी के इसके चपेट में आने की आशंका बनी रहेगी। इसका मतलब हुआ लोगों के खानपान को बदलना होगा। क्योंकि मामला महामारी का है इसलिए यह काम सरकार को करना होगा। इम्यूनिटी बढ़ाने वाले खाद्य पदार्थ सस्ते करने होंगे, उत्पादन बढ़ाना होगा। इम्यूनिटी को कमजोर करने वाले खाद्य पदार्थों को प्रतिबंधित करना होगा। इसके लिए भी नया कानून बनाना पड़ेगा। 

ऑटो रिक्शा से लेकर फ्लाइट तक सब कुछ बदलना होगा 

यदि इन वैज्ञानिकों की बात सही साबित हुई तो परिवहन के सभी साधन बदल जायेंगे। ऑटो रिक्शा से लेकर फ्लाइट तक यात्रियों के बैठने का इंतजाम सोशल डिस्टेंस को ध्यान में रखकर करना पड़ेगा। निश्चित रूप से यह काफी मुश्किल होगा।

16 अप्रैल को सबसे ज्यादा पढ़ी जा रहीं खबरें

चलती ट्रेन में उड़ती मक्खी दीवार से क्यों नहीं टकराती, यहां पढ़िए
क्या आपको पता है डॉ. आम्बेडकर के नीले कोट का रहस्य, यहां पढ़िए
24 डिब्बे की एक्सप्रेस ट्रेन की कीमत कितनी होती है
मध्य प्रदेश: राज्यपाल ने यूनिवर्सिटी परीक्षाओं के निर्देश दिए 
इंदौर की लगाम थामने आगे बढ़े कैलाश विजयवर्गीय को कांटा लगा
लॉक डाउन: मध्य प्रदेश के 14 जिलों में राहत, 29 जिलों में लॉकइन की संभावना 
लॉक डाउन बढ़ गया, IPL-13 कब होगा, यहां पढ़िए 
मध्य प्रदेश: 2 नए जिले, कुल 26 में संक्रमण, आज 197, इंदौर 133, कुल 938
लॉकडाउन-2: भारत सरकार की गाइडलाइन जारी, पढ़िए क्या खुलेगा क्या बंद रहेगा 
FAKE हस्ताक्षर, डॉक्यूमेंट या पोस्ट बनाए तो IPC की किस धारा के तहत FIR होगी
ज्योतिरादित्य सिंधिया पर जमकर तंज कस रहे हैं लोग, बॉलीवुड ने भी चुटकी ली 
एक सब इंजीनियर की सेवा समाप्त, दूसरा सस्पेंड, चार का वेतन राजसात 
काला धन मामले में कमलनाथ के बहनोई एवं भांजे को स्वीटजरलैंड से नोटिस
3 मई के बाद लाइफ पहले जैसी नहीं रहेगी, नए कानून बनेंगे, काफी कुछ बदल जाएगा
श्योपुर में भाजपा नेता की हत्या, पहले गोली मारी फिर तलवार से काट डाला
कर्फ्यू में बेवजह बाहर घूम रहीं लगभग 2 दर्जन महिलाएं गिरफ्तार



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here