Loading...    
   


28 दिन बाद सरकारी दफ्तर खुले, लोगों की आवाजाही कम रही | GWALIOR NEWS

ग्वालियर। पिछले एक महीने से कोरोना संक्रमण को देखते हुए देश व्यापी लॉकडाउन अभी भी जारी है। मगर केन्द्रीय गृहमंत्रालय के निर्देश पर राज्य सरकार ने सोमवार से जिले की सीमा में स्थित सरकारी दफ्तर खोल दिए। इस तरह के आदेश तो पहले ही जारी हो गये थे। इसके पालन में सोमवार से सभी प्रमुख सरकारी ऑफिस खुल गये हैं। लेकिन प्रायवेट ऑफिस अभी बंद रहेंगे। पहले दिन केवल 30 फीसदी कर्मचारी ही दफ्तरों में पहुंचे। लॉकडाउन के चलते पुलिस ने काम से आने वाले लोगों को घरों से नहीं निकलने दिया। इस वजह से ऑफिस खुले भले ही मगर भीड़भाड़ या लोगों की आवाजाही कहीं भी देखने को नहीं मिली।

कलेक्ट्रेट में तो कामकाज पहले से ही जारी था मगर सोमवार को कर्मचारियों की संख्या अधिक थी। वहीं मोतीमहल स्थित संभाग आयुक्त कार्यालय में संभाग आयुक्त एमबी ओझा तय समय पर आफिस पहुंचे। पिछले 28 दिन से चल रहे लॉकडाउन की वजह से जिले के सभी विभागों के कार्यालय बंद थे, बेहद आवश्यक होने पर ही बहुत कम कार्यालय खुल रहे थे। हालांकि इस दौरान कलेक्ट्रेट व पुलिस अधिक्षक कार्यालय में कामकाज पहले भी चल रहा था। जिला कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने सोमवार को नया आदेश जारी करते हुये कुछ मामलों में राहत दी है। जिसके तहत मेडिकल इमरजेंसी, अंतिम संस्कार, कृषि कार्य और दूसरे जिलों में सरकारी कर्मचारियों के जाने के लिये परमीशन मिलना सोमवार से प्रारंभ हो गया है। इसके लिये निर्धारित वेबसाइड पर ऑनलाइन आवेदन करना होगा और परमीशन भी ऑन लाइन ही जारी होगी।

पिछले कई दिन से यह कार्य देख रहे डिप्टी कलेक्टर संजीव खेमरिया को इस कार्य से मुक्त करते हुये अब यह काम नायाब तहसीलदार शैलेन्द्र सिंह धाकड़ और जीडीए के कार्यपालन यंत्री सुभाष सक्सेना को सौंपा गया है। परमीशन चाहने वाले लोग निर्धारित प्रपत्र में ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। सोमवार को सभी बैंक भी पूरे समय के लिये खुली रहीं।

लेबर बिना अटका काम

नगर निगम और पीडब्ल्यूडी विभाग में भी निर्माण कार्य सोमवार से शुरू हो रहे थे लेकिन लेबर के अपने घरों को लौट जाने के कारण यहां पर काम शुरू नहीं हो पाऐ और लेबर के लौटकर आने का इंतजार करना पड़ेगा। ऐसे में एक हजार बिस्तर का अस्पताल और शहर में बन रहे रेलवे पुल के साथ ही सडक़ निर्माण का कार्य अभी शुरू नहीं हो पाएगा और शहर का विकास रूका रहेंगा। 


सरकारी कामों पर रहा जोर

सोमवार से खुले कार्यालयों में आम आदमी के ना आने पर सरकारी योजनाओं के चल रहे कामों को निपटाने पर कर्मचारियों का जोर रहा , जिससे जनता से जुड़े कामों को गति मिल सके। शुरू हुए मनरेगा का काम पंचायत सीइओ शिवम वर्मा ने बताया कि सोमवार से सोंसा, बडेराफुटकर, जगूपुरा, जखारा, सुपावली, देहली, बिरमपुरा, बरेठा, बस्तरी, पारसेन, गुंधारा, चपरोली, सिरसौद, चकम्हरोली, इकहरा और सुनपुरामाफी गांव में मनरेगा का काम शुरू करा दिया है। जिससे आम लोगों को रोजगार मिल सके और लोगों के जरूरत के काम हो सके। 

परिवहन विभाग में कर्मचारी तो समय पर पहुंच गए, लेकिन दोपहर तक जनता से जुड़ा कोई भी व्यक्ति नहीं आया। मोतीमहल में कई कार्यालय हैं और कोरोना संक्रमण से पहले यहां पर हर जगह चहल- पहल रहती थी, लेकिन सोमवार को यहां पर सिर्फ कुछ कर्मचारी ही नजर आ रहे थे। पुलिस अधीक्षक कार्यालय में भी पिछले काफी समय से कार्यालय बंद थे और यहां पर कर्मचारी काम करने पहुंचे, लेकिन जनता से जुड़ा एक भी व्यक्ति नजर नहीं आया।

कलेक्ट्रेट में भी रोजाना कुछ कार्यालय खुल रहे थे, लेकिन सोमवार को सभी कार्यालयों में काम शुरू होने के बाद भी ना के बराबर लोगों की आवाजाही थी। यहां पर जो लेाग पहुंचे थे वे सिर्फ बाहर से अपने लोगों को लाने व छोडऩे जाने की अनुमति के लिए चक्कर काट रहे थे।


21 अप्रैल को सबसे ज्यादा पढ़ी जा रहीं खबरें

कूलर में यदि पानी की जगह बर्फ रख दें तो क्या वह ज्यादा ठंडी हवा देगा
ग्वालियर में सरेआम महिला ने कपड़े उतारे, पुलिस और डॉक्टर के सामने हंगामा 
20 अप्रैल से 03 मई तक क्या खुलेगा क्या बंद रहेगा, यहां पढ़िए 
आग की लौ ऊपर क्यों जाती है, गुरुत्वाकर्षण प्रभावित नहीं करता क्या 
कमलनाथ की प्रिय बहन रामबाई को शिवराज सरकार में मंत्री पद चाहिए (वीडियो देखिए क्या कहा) 
अस्थाई शिक्षकों के पक्ष में सुप्रीम कोर्ट का फैसला, नियमितीकरण पर मुहर 
रेप पीड़ित महिला बैंक अधिकारी की हालत गंभीर, पति लॉक डाउनलोड फंसा था 
मध्यप्रदेश 03 मई तक लॉक डाउन में ठेकेदारों के लिए गाइडलाइन 
टीआई देवेंद्र चंद्रवंशी आज डिस्चार्ज होने वाले थे, लगातार दो रिपोर्ट नेगेटिव आई थी 
इंदौर शोक मग्न: कोरोना फाइटर TI देवेंद्र चंद्रवंशी शहीद, पढ़िए पूरी रिपोर्ट 
प्रधानमंत्री ने छोटे दुकानदारों को धन्यवाद के साथ संदेश दिया 
कोरोना वायरस: MADHYA PRADESH तीसरे नंबर पर, महाराष्ट्र और DELHI के बाद सबसे ज्यादा मरीज
गृह निर्माण के समय ईटों पानी में क्यों भिगोया जाता है, आइए जानते हैं 
मध्यप्रदेश में शराबबंदी के नए आदेश जारी 
BHOPAL: मात्र 9 दिन की नवजात बच्ची कोरोना पॉजिटिव
लॉकडाउन में घर बैठे डॉक्टर को उसकी पत्नी ने पीटा, चाकू अड़ा दिया
मध्य प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों में 20 अप्रैल के बाद क्या कर सकते हैं, क्या नहीं कर सकते, यहां पढ़िए
कोरोना शहीद TI चंद्रवंशी के माता-पिता को पुलिस ने गांव में घुसने से मना किया
मच्छर शाम के समय सिर के ऊपर क्यों भिनभिनाते हैं
ट्रेन का इंजन CAR की तरह चाबी से स्टार्ट होता है या कोई दूसरा तरीका है, यहां पढ़िए
मध्य प्रदेश में शिक्षक, बोर्ड परीक्षाओं के होम वैल्यूएशन के लिए तैयार नहीं
कर्मचारियों की NPS बंद करके OPS शुरू कर दें, कोरोना के लिए बजट आ जाएगा
ग्वालियर में धारा 144 संशोधित आदेश: 20 अप्रैल से क्या खुलेगा, क्या बंद रहेगा


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here