Loading...    
   


गांव में हर बाहरी व्यक्ति की जानकारी आशा कार्यकर्ता को देनी होगी | GWALIOR NEWS

ग्वालियर। जिला लगातार कोरोना पर जीत हासिल कर रहा है, ऐसे में प्रशासन किसी भी तरह की लेतलाली न बरतकर अलर्ट मोड़ पर है। शहर के साथ ही अब प्रशासन का फोकस ग्रामीण क्षेत्रों पर भी है। ऐसे में तरह-तरह की सावधानियां बरती जा रही हैं।

जहां सरकारी अमला लगातार गांवों की स्थिति पर नजर रख रहा है, वहीं उसके सामने सबसे बड़ी समस्या बाहर से आने वाले लोगों कोलेकर है, चूंकि इन पर सतत निगाह रखना और यह पहचानना कि वह बाहरी है या नहीं बेहद कठिन है। इन हालात में अब ग्रामीणों को समझाइश दी गई है कि वह गांव में किसी भी बाहरी या अंजान व्यक्ति को देखें तो फिर तुरंत यह जानकारी ‘आशा’ कार्यकर्ता को देनी होगी और वहीं इनका डाटा तैयार कर पंचायत सचिव को देंगी।

इन दिनों गांवों में फसल कटाई का काम चल रहा है, जिसके चलते बिहार, उत्तर प्रदेश के साथ ही अन्य प्रांतों और जिलों से भी श्रमिक काम करने आते हैं। वहीं पंजाब से भी गेहूं काटने के लिए थ्रेसर लेकर लोग आते हैं। इनमें कोई यदि कोरोना संक्रमित होगा तो फिर बात बिगड़ सकती है। एक ही व्यक्ति अनेक लोगों को संक्रमित कर सकता है।

यही खतरा सबसे अधिक है। इसे लेकर प्रशासन की दूसरी सोच यह भी है कि जो भी चेकिंग की जा रही है, वह जिले की सीमा पर हो रही है, जबकि श्रमिक इस रास्ते को कम ही अपना रहें हैं और गांवों के भीतर से या फिर जंगली इलाकों से होकर गांवों में पहुंच रहे हैं, जिससे इनकी जानकारी नहीं मिल पाती।

21 अप्रैल को सबसे ज्यादा पढ़ी जा रहीं खबरें

मच्छर शाम के समय सिर के ऊपर क्यों भिनभिनाते हैं 
कूलर में यदि पानी की जगह बर्फ रख दें तो क्या वह ज्यादा ठंडी हवा देगा 
चरणामृत क्यों पीते हैं, कोई साइंस है या ब्राह्मणों की दूसरों को नीचा दिखाने वाली परंपरा
ग्वालियर में सरेआम महिला ने कपड़े उतारे, पुलिस और डॉक्टर के सामने हंगामा 
मध्य प्रदेश: 1307 सैंपल में से 78 पॉजिटिव, टोटल 1485, 3 जिले कोरोना क्लीन 
कोरोना प्रभावित 26 जिलों में सभी ऑफिस नहीं खुलेंगे: मुख्यमंत्री शिवराज सिंह 
जबलपुर SP को हटाया: किसान की हत्या और साधु की पिटाई के बाद हुई कार्रवाई 
भोपाल: गांव और झुग्गियों तक पहुंचा संक्रमण, आशा कार्यकर्ता, किसान और बस्ती के लोग पॉजिटिव 
भारत सरकार एडवाइजरी: प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने और सांस संबंधी बीमारी के लिए आयुर्वेदिक दवाएं 
20 अप्रैल से 03 मई तक क्या खुलेगा क्या बंद रहेगा, यहां पढ़िए 
मध्य प्रदेश में शिक्षक, बोर्ड परीक्षाओं के होम वैल्यूएशन के लिए तैयार नहीं 
कोरोना शहीद TI चंद्रवंशी के माता-पिता को पुलिस ने गांव में घुसने से मना किया 
आग की लौ ऊपर क्यों जाती है, गुरुत्वाकर्षण प्रभावित नहीं करता क्या 
लॉकडाउन में घर बैठे डॉक्टर को उसकी पत्नी ने पीटा, चाकू अड़ा दिया 
मध्य प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों में 20 अप्रैल के बाद क्या कर सकते हैं, क्या नहीं कर सकते, यहां पढ़िए


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here