शिवराज सर, कोरोना कंट्रोल हेतु राज्य आपदा प्रबंधन का उपयोग कीजिए | khula khat @ CM Shivraj singh
       
        Loading...    
   

शिवराज सर, कोरोना कंट्रोल हेतु राज्य आपदा प्रबंधन का उपयोग कीजिए | khula khat @ CM Shivraj singh

आदरणीय महोदय जी, सारा विश्व इस समय कोरोना जैसी आपदा का सामना कर रहा है यह बीमारी आंगतुकों की वजह से दुर्भाग्य से भारत के कई भागों मे प्रवेश कर चुकी है और अब हमारा म.प्र भी इससे अछूता नहीं रहा है ऐसे वक्त मे सिर्फ कुशल प्रबंधन ही इस बीमारी के प्रभाव को फैलने से रोक सकता है। चिकित्सा एवं प्रशासनिक अमले की सजगता व समन्वय ऐसे मे नितांत आवश्‍यक है। वैसे तो भोपाल समाचार कई बार म.प्र राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के रिक्त पदों एवं निष्कासित संविदा कर्मियों की सेवा बहाली की ओर कई बार अपने प्रकाशन के माध्यम से ध्यान आकर्षि‍त कर चुका है परंतु बीजेपी सरकार मे पदस्थापना एवं सेवा समाप्ति के बाद बीजेपी एवं कांग्रेस की सरकार ने इस ओर ध्यान नहीं दिया है। 

इस महामारी को रोकने का सारा दारोमदार जिले के कलेक्टर एवं एसपी पर आ गया है जबकि इनके पास पहले से ही वर्कलोड बहुत अधिक होता है एवं किसी भी आपदा का सामना ये सिर्फ सरकार द्वारा दिए गए आदेश का पालन सुनिश्चित कराके ही करा सकते है जबकि इनके पास अन्य कोई प्रशिक्षण या कार्ययोजना नही होती है ऐसे समय मे म.प्र के मुख्यमंत्री माननीय मामा शिवराज सिंह चौहान जी को जल्द से जल्द इन निष्कासित संविदा कर्मियों की सेवा बहाली करना चाहिए एवं इनको अपने कार्यक्षेत्र के पुराने जिलों मे एक्टिव कर देना चाहिए। क्योंकि इनमे से प्रत्‍येक संविदाकर्मी पूर्व मे 2-3 जिलों की कार्ययोजना तैयार कर चुके है। 

इनके पास वहां के प्रशासनिक एवं बुनियादी ढॉंचे का डाटा एवं कार्ययोजना क्रियाविंत कराने का अनुभव है। राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण एवं राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के कुशल मार्गदर्शन मे संभव है जल्द महामारी पर काबू पाया जा सके क्योंकि अब महामारी के बढ़ते प्रभाव के कारण चिकित्सालयों का चयन करना भी बड़ी चुनौती होगी जहॉं इस महामारी पर काबू पाया जा सके ऐसे समय मे ये 18-20 लोग जो 1.5 वर्ष पूर्व सेवा से निष्कासित कर दिए गए है। 

ये वर्तमान समय मे प्रभावी कार्य करने मे सक्षम हो सकते हैं। ये म.प्र के लिए शर्म की बात है कि हमारे पास लाखों कर्मचारी है परंतु आपदा प्रबंधन प्राधिकरण म.प्र मे 40-45 लोगों का स्टाफ स्वीेकृत है वह भी पूरा नहीं है और जो 18-20 लोग संविदा पर कार्य कर रहे थे उनको भी हटा दिया गया व सेवा बहाली पर सरकारों द्वारा ध्यान नहीं दिया गया जबकि उड़ीसा ने अपने ही राज्‍य आपदा प्रबंधन एवं केन्द्रीय एजेसिंयो के निर्देशों के पालन से आपदा के प्रभाव को निष्क्रिय कर दिया था। 

इन संविदाकर्मियों को लगाया शिवराज जी ने था व उनके ही शासन मे सेवा मुक्‍त कर दिया गया था अब मौका है पुन: इनकी सेवा बहाली एवं प्रदेश को उचित प्रबंधन द्वारा महामारी से बचाने का तो चूको मत चौहान।
सादर धन्यवाद
आशीष कुमार बिलथरिया
उदयपुरा जिला रायसेन म.प्र

24 मार्च को सबसे ज्यादा पढ़ी गई खबरें

हवाई जहाज कितना माइलेज देता है, प्रति व्यक्ति ईंधन का खर्चा कितना होता है 
यदि चलती ट्रेन में ड्राइवर बेहोश हो जाए तो क्या होगा, पढ़िए 
पूरे भारत में 21 दिनों के लिए लॉक-डाउन, जो जहां है वही रहे: प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी
विदेश से लोटा युवक घर की बजाय होटल पहुंचा, स्वास्थ्य विभाग ने आइसोलेशन में रखा
जींस में छोटी जेब क्यों होती है, कोई बड़ा कारण है या बस डिजाइन
गृह मंत्रालय भारत सरकार की गाइडलाइन, 15 अप्रैल तक थोड़ी राहत 
थप्पड़ वाली कलेक्टर सहित 4 IAS अधिकारियों को हटाया 
चिंता ना करें, दैनिक उपयोग की चीजें सरकार पहुंचाएगी: शिवराज सिंह चौहान 
MP VIMARSH PORTAL 9th-11th EXAM RESULT DIRECT LINK यहां देखें
मध्यप्रदेश में मुख्य सचिव बदले, श्री एम. गोपाल रेड्डी मात्र 9 दिन के मुख्य सचिव