Loading...    
   


पूरे भारत में 21 दिनों के लिए लॉक-डाउन, जो जहां है वही रहे: प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी | INDIA LOCK-DOWN

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने पूरे भारत में लोक डाउन घोषित कर दिया है। आपको ये याद रखना है कि कई बार कोरोना से संक्रमित व्यक्ति शुरुआत में बिल्कुल स्वस्थ लगता है, वो संक्रमित है इसका पता ही नहीं चलता। इसलिए ऐहतियात बरतिए। 

आने वाले 21 दिन हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण हैं। हेल्थ एक्सपर्ट्स की मानें तो, कोरोना वायरस की संक्रमण सायकिल तोड़ने के लिए कम से कम 21 दिन का समय बहुत अहम है। इसलिए मेरी आपसे प्रार्थना है कि आप इस समय देश में जहां भी हैं, वहीं रहें। अभी के हालात को देखते हुए, देश में ये लॉकडाउन 21 दिन का होगा। हमें भी ये मानकर चलना चाहिए कि हमारे सामने यही एक मार्ग है। हमें घर से बाहर नहीं निकलना है। चाहे जो हो जाए।

इस लॉकडाउन की एक आर्थिक कीमत देश को उठानी पड़ेगी। लेकिन एक-एक भारतीय के जीवन को बचाना इस समय मेरी, भारत सरकार की, देश की हर राज्य सरकार की, हर स्थानीय निकाय की, सबसे बड़ी प्राथमिकता है।

आने वाले 21 दिन हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण हैं। हेल्थ एक्सपर्ट्स की मानें तो, कोरोना वायरस की संक्रमण की सायकिल तोड़ने के लिए कम से कम 21 दिन का समय बहुत अहम है। घर में रहें, घर में रहें और एक ही काम करें कि अपने घर में रहें।

आपको ये याद रखना है कि कई बार कोरोना से संक्रमित व्यक्ति शुरुआत में बिल्कुल स्वस्थ लगता है, वो संक्रमित है इसका पता ही नहीं चलता। इसलिए ऐहतियात बरतिए, अपने घरों में रहिए।

कोरोना वायरस से पहले एक लाख लोग संक्रमित होने में 67 दिन लगे और फिर इसे 2 लाख लोगों तक पहुंचने में सिर्फ 11 दिन लगे। ये और भी भयावह है कि 2 लाख संक्रमित लोगों से 3 लाख लोगों तक ये बीमारी पहुंचने में सिर्फ 4 दिन लगे।

कुछ ही देश जहाँ के नागरिकों ने सरकारी आदेशो का पालन किया वो ही इस बीमारी के प्रकोप से बचते हुए नजर आ रहे है।

भारत आज उस स्टेज पर है जहां हमारे आज के एक्शन तय करेंगे कि इस बड़ी आपदा के प्रभाव को हम कितना कम कर सकते हैं। ये समय हमारे संकल्प को बार-बार मजबूत करने का है। कोरोना से निपटने के लिए उम्मीद की किरण, उन देशों से मिले अनुभव हैं जो कोरोना को कुछ हद तक नियंत्रित कर पाए। हफ्तों तक इन देशों के नागरिक घरों से बाहर नहीं निकले, इसलिए ये देश इस महामारी से बाहर निकलने की ओर बढ़ रहे हैं। 

23 मार्च को सबसे ज्यादा पढ़ी गई खबरें 

यदि चलती ट्रेन में ड्राइवर बेहोश हो जाए तो क्या होगा, पढ़िए 
क्या ट्रक की तरह ट्रेन को धक्का देकर चालू किया जा सकता है, पढ़िए 
MPPEB NEWS: अप्रैल से जून तक की एंट्रेंस एग्जाम का कैलेंडर जारी
9वीं और 11वीं के विद्यार्थी परीक्षा परिणाम घर से देख सकेंगे 
हवाई जहाज कितना माइलेज देता है, प्रति व्यक्ति ईंधन का खर्चा कितना होता है
दिग्विजय सिंह का दलित एजेंडा रिवर्स मारा गया, राज्यसभा सीट खतरे में 
शिवराज सिंह मंत्रिमंडल के बारे में नरोत्तम मिश्रा का बयान
कोरोना वायरस: ग्वालियर कलेक्टर गाइडलाइन जारी 
मध्य प्रदेश के 39 जिलों में लॉक-डाउन, शिवराज सिंह ने 3 महीने की तैयारी को कहा 
हम फिर से मध्य प्रदेश में सरकार बनाएंगे: कमलनाथ का सोनिया गांधी को वादा


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here