Loading...    
   


इंदौर में फंसे स्टूडेंट्स को घर जाने की अनुमति मिली, पढ़िए क्या करना होगा | INDORE NEWS

इंदौर। कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए देशभर में 21 दिन का लॉकडाउन कर दिया गया है। लॉकडाउन के बाद से स्टूडेंट सहित नौकरी पेशा लोग शहर में ही फंस गए थे। होटल सहित अन्य खानपान की दुकानें बंद होने से कई लोगों के सामने भोजन का संकट खड़ा हो गया था। इसके बाद से ही वे घर जाने की अनुमति देने की मांग कर रहे थे।  

छात्रों की परेशानी को देखते हुए शनिवार को प्रशासन ने बाहरियों को जाने की अनुमति देनी शुरू कर दी। अनुमति की जानकारी मिलते ही बड़ी संख्या में लोग एसडीएम के समक्ष पहुंचे और सोशल डिस्टेंसिंग बनाकर परमिशन ली। SDM शास्वत शर्मा के अनुसार लॉकडाउन के बाद इंदौर में फंसे सैकड़ों छात्रों को अपने घर जाने की अनुमति प्रशासन द्वारा दिया जाना शुरू कर दिया गया है। इंदौर में अलग-अलग थाना क्षेत्रों के हिसाब से छात्रों को एसडीएम द्वारा अनुमति दी जा रही है। 

प्रशासन द्वारा मिल रही अनुमति हासिल करने के लिए सिर्फ भंवरकुआं थाना क्षेत्र पर ही लगभग 400 से ज्यादा छात्र पहुंच चुके हैं, जिन्हें एसडीएम और तहसीलदार घर जाने की अनुमति लिखित में दे रहे हैं। गौरतलब है कि एजुकेशन हब कहलाने वाले इंदौर शहर में प्रदेश के कई हिस्सों से हजारों छात्र पढ़ाई के लिए पहुंचे हैं, जिन्हें लॉकडाउन की वजह से हॉस्टलों में ही रहना पड़ रहा था। लगातार यह छात्र प्रशासन से घर जाने की अनुमति मांग रहे थे, जिस पर कलेक्टर ने क्षेत्रवार इन छात्रों को घर जाने की अनुमति देने के निर्देश दिए हैं।

28 मार्च को सबसे ज्यादा पढ़ी गईं खबरें

CRPC की धारा 144 का उल्लंघन करने पर IPC की धारा 188 के तहत FIR क्यों होती है
'पास आउट' का सही अर्थ, 'अकॉर्डिंग टू मी' का मतलब क्या होता है 
टोटल लॉक-डाउन में पैसा कैसे कमाए, यहां पढ़िए 
VVIP कारों की प्लेट पर नंबर क्यों नहीं होते, कोई लॉजिक है या अकड़ दिखाने के लिए, पढ़िए
यदि पेट्रोल को इंडक्शन कुकर पर उबाला जाए तो क्या होगा, पढ़िए 
MP VIMARSH PORTAL 9th-11th EXAM RESULT DIRECT LINK यहां देखें
मध्यप्रदेश में शराब की दुकान मामले में शिवराज सिंह का यू-टर्न 
CORONA को खत्म करने महुआ के पेड़ से देवी प्रकट हुई, अफवाह उड़ी, मेला लगा, प्रशासन सोता रहा 
मप्र लॉकडाउन: कलेक्टर/एसपी के नाम संशोधित गाइडलाइन
मध्य प्रदेश कोरोना बुलेटिन: इंदौर-उज्जैन गंभीर, भोपाल-शिवपुरी चिंताजनक, जबलपुर-ग्वालियर कंट्रोल


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here