JAYS: अब 47 सीटों पर चुनाव लड़ने का दावा | MP NEWS

20 August 2018

भोपाल। जय आदिवासी युवा शक्ति (जयस) को लेकर 2 तरह की बातें सामने आईं हैं। Mohan Mouri mohanmouri@gmail.com द्वारा भेजे गए ईमेल में बताया गया था कि कोर कमेटी ने चुनाव ना लड़ने का फैसला किया है। सोशल मीडिया पर भी इस फैसले की चर्चा थी लेकिन आज एक नया बयान सामने आया है। एक लोकप्रिय न्यूज पोर्टल ने जय आदिवासी युवा शक्ति के अध्यक्ष डॉ हीरालाल अलावा के हवाले से लिखा है कि जयस 47 सीटों पर चुनाव लड़ने जा रही है। इसकी तैयारियां शुरू हो गईं हैं। 

जय आदिवासी युवा शक्ति के अध्यक्ष डॉ हीरालाल अलावा का बयान आया है। डॉ हीरालाल एमडी मेडिसिन हैं और एम्स में अपनी सेवाएं दे चुके हैं। अलावा ने कहा कि सरकार द्वारा जो फंड आदिवासी क्षेत्रों के लिए जारी किया गया था उसका इस्तेमाल कहीं नहीं किया गया। उन्होंने कहा कि भाजपा और कांग्रेस दोनों राजनीतिक दलों ने उनसे संपर्क किया है और पार्टी की सदस्यता देने का प्रस्ताव भी दिया है लेकिन हम किसी भी राजनीतिक दल के टिकट पर चुनाव नहीं लड़ेंगे। सरकार आदिवासियों के विकास का जो दावे करती है वह सब कागजों पर सीमित हैं। धरातल पर कोई भी विकास कार्य नहीं किया गया है। जल, ज़मीन, जंगल को लेकर जो मौलिक अधिकार आदिवासियों को हासिल है, उन पर किसी भी सरकार ने ध्यान नहीं दिया है। अब हमारा नारा ही अबकी बार आदिवासी सरकार है। हम पूरी 47 सीटों पर अपने प्रत्याशी मैदान में उतारेंगे।

हम जयस को चुनौती नहीं मानते: भाजपा
भाजपा प्रदेश प्रवक्ता रजनीश अग्रवाल ने कहा कि पार्टी का फोकस आदिवासी क्षेत्र पर है लेकिन जयस को हम चुनौती नहीं मानते, कई कार्यकर्ता भाजपा के साथ जुड़ रहे हैं। आदिवासी क्षेत्रों में हमारी पार्टी की मजबूत पकड़ है। कांग्रेस ने भी जयस को चुनौती के तौर पर खारिज कर दिया है।

बिटीपी के टिकट पर जयस के कार्यकर्ता चुनाव लड़ेंगे: अलावा
फेसबुक पर डॉ. हीरालाल अलावा facebook.com/drhira.alawa का एक बयान सामने आया है। इसमें उन्होंने लिखा है जयस राजनीतिक पार्टी के रूप में रजिस्टर्ड संस्था नही है तो चुनाव लड़ने का सवाल ही नही सिर्फ जयस के समर्थन में समाज समर्थित युवा 80 विधानसभा सीटों पर चुनावी मैदान में उतरेगें जिसकी घोषणा बहुत पहले हो चुकी है लेकिन कुछ जयस के नाम पर बीजेपी से मिलकर जबरन प्रेस कॉन्फ्रेंस कर यह अफवाह फैला रहे है कि जयस चुनाव नही लड़ रहा है जबकि उनके जायदातर सदस्य बिटीपी (भारतीय ट्रायबल पार्टी) में पद ग्रहण कर चुके है तो जबरन जनता के सामने चुनाव नही लड़ने का ढोंग क्योँ कर रहे है समाज को गुमराह क्योँ कर रहे है 
मध्यप्रदेश और देश की प्रमुख खबरें पढ़ने, MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Loading...

Popular News This Week