dussehra wishes, happy dussehra wishes images, dussehra rangoli, dussehra wishes in hindi message

आश्विनस्य सिते पक्षे दशम्यां तारकोदये।
स कालो विजयो ज्ञेयः सर्वकार्यार्थसिद्धये।।
अधर्म पर धर्म की, असत्य पर सत्य की, अंधकार पर प्रकाश की विजय के प्रतीक महापर्व विजयादशमी (दशहरा) की समस्त देश एवं प्रदेश वासियों को हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं! 

दशहरा का यह पावन त्यौहार, जीवन में लाए खुशियां अपार।
श्री राम जी करें आपके घर सुख की बरसात, शुभकामना हमारी करें स्वीकार।
दशहरे की शुभकामनाएं। 

जरूरी है जहन में राम को ज़िंदा रखना।
पुतले जलाने से कभी रावण नहीं मारता।

बुराई का नाश हो सुख का वास हो,
राम बसे मन में रावण ना आस पास हो। 
दशहरे की शुभकामनाएं।

अधर्म पर धर्म की, असत्य पर सत्य की, अंधकार पर प्रकाश की विजय के प्रतीक पर्व विजयादशमी की आप सभी को हार्दिक शुभकामनाएं।

यह पावन पर्व हम सभी को धर्म, न्याय, सत्य के मार्ग पर चलने की प्रेरणा देता रहे, प्रभु श्री राम से मेरी यही प्रार्थना है। 

अधर्म, अन्याय और अहंकार पर धर्म, न्याय और विनम्रता की विजय के महापर्व विजयादशमी की आप सभी को हार्दिक शुभकामनाएं।

आज की नई सुबह बेहद सुहानी हो जाए।
दुखों की सारी कड़वाहट पुरानी हो जाए
दे बेशुमार खुशियां यह दशहरा आपको।
हर प्यारी खुशी आपकी दीवानी हो जाए।
हैप्पी विजयादशमी! 

 जैसे श्री राम ने जीत ली थी लंका, 
वैसे आप भी जीतें सारी दुनिया।
इस दशहरे मिल जाए आप को, 
दुनिया भर की सारी खुशियां। 

सुख, समृद्धि, शांति का साथ हो, बुराई और असत्य का नाश हो, मंगलमयी शुभकामना हमेशा आपके साथ हो, इसी कामना के साथ विजयदशमी की सभी को ढेर सारी शुभकामनाएं। 

होती जीत सत्य की और असत्य की हार। 
यही संदेश देता है, विजयदशमी का त्यौहार। 

पर्व दशहरा कह रहा,सदा विनत हों भाव ।
अहंकार की लुप्तता, निशिदिन सत्य प्रभाव ।।
धर्म सदा होता विजयी ,शुभ मंगलमय गान ।
सत्ता मद होता बुरा कर देता अवसान।।
आप सभी को विजयदशमी पर्व की अनंत शुभकामना। 

ॐ जयंती मंगला काली भद्रकाली कपालिनी ।
दुर्गा क्षमा शिवा धात्री स्वाहा स्वधा नमोऽस्तु‍ते ।।

क्रोध पर दया क्षमा की विजय,
अज्ञान पर ज्ञान की विजय,
हर सच्चे इंसान की विजय।
अधर्म पर धर्म की विजय,
अन्याय पर न्याय की विजय,
बुरे पर अच्छे की जयजयकार,
यही है दशहरे का त्यौहार। 

न तू धर्मोपसंहारम धर्मफलसंहितम्। 
तदेव फलमंवेति धर्मशास्त्र धर्मनाशन:
विजयदशमी की हार्दिक शुभकामना 

भगवत: रामस्‍य एष: विजयदिवस: सर्वेषां सद् मानवानां 
अधर्मस्‍योपरि जय: इति आसीत् अत: 
वयं अस्‍य दिवसस्‍य उल्‍लासं मोदयाम:। 

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Check Now
Accept !