MP NEWS- कक्षा 5 और 8 में TOP-10 और BOTTOM-10 जिलों के नाम, मास्टरों की मार्कशीट

Madhya Pradesh school education news

मध्यप्रदेश शासन, स्कूल शिक्षा विभाग के अंतर्गत राज्य शिक्षा केंद्र, भोपाल द्वारा बोर्ड पेटर्न प्राइजेस कक्षा 5 और कक्षा 8 की वार्षिक परीक्षाओं के परिणाम भी बोर्ड पैटर्न पर ऑनलाइन जारी कर दिए गए हैं। इसके साथ ही मध्य प्रदेश के सबसे बढ़िया और सबसे घटिया जिलों की सूची भी जारी कर दी गई है। यह लिस्ट को मार कर दिया कि किस जिले में शिक्षक बच्चों को पढ़ाते हैं और किस जिले में केवल अटेंडेंस लगाने के लिए स्कूल जाते हैं। 

मध्य प्रदेश स्कूल शिक्षा टॉप टेन जिलों के नाम-2023

कक्षा 5 में- नरसिंहपुर, डिंडोरी, अनूपपुर, सीहोर, मंडला, छिंदवाड़ा, झाबुआ, मुरैना एवं बड़वानी जिलों का प्रदर्शन सबसे अच्छा रहा। बड़वानी में 91.73 प्रतिशत विद्यार्थी पास हुए जबकि नंबर वन पर नरसिंहपुर में 98.41% विद्यार्थी पास हुए। 
कक्षा 8 में- डिंडोरी, नरसिंहपुर, अलीराजपुर, अनूपपुर, सीहोर, मंडला, छिंदवाड़ा, बड़वानी, दतिया एवं बुरहानपुर जिलों का प्रदर्शन सबसे अच्छा रहा। दसवें नंबर पर बुरहानपुर में 86.16% जबकि नंबर वन पर डिंडोरी में 95.87% बच्चों उत्तीर्ण हुए। 

मध्य प्रदेश स्कूल शिक्षा बॉटम टेन जिलों के नाम-2023 

कक्षा 5- टीकमगढ़, उज्जैन, राजगढ़, सागर, छतरपुर, नीमच, सतना, दमोह, ग्वालियर, आगर मालवा, श्योपुर, जबलपुर और विदिशा जिलों का प्रदर्शन सबसे घटिया रहा। टीकमगढ़ का रिजल्ट 50.25% और विदिशा का रिजल्ट 76.28% रहा। 
कक्षा 8- टीकमगढ़, उज्जैन, सागर, सतना, राजगढ़, जबलपुर, नीमच, ग्वालियर, दमोह, छतरपुर, उमरिया, विदिशा और खरगोन जिलों का प्रदर्शन सबसे घटिया रहा। टीकमगढ़ का रिजल्ट है 47.81% और खरगोन का रिजल्ट 72.02% रहा। 

कक्षा 5 और 8 में 2 जिले फेल

यदि 55% को पासिंग मार्क्स माना जाए तो कक्षा 5 में उज्जैन एवं टीकमगढ़ और कक्षा 8 में भी उज्जैन एवं टीकमगढ़ जिले फेल हो गए हैं। यहां के सभी शिक्षकों को किसी दूसरे शासकीय कार्य में लगा देने की आवश्यकता है और यहां पर गांव के शिक्षक से लेकर जिला शिक्षा अधिकारी तक नए सिरे से नियुक्ति करने की जरूरत है। 

✔ इसी प्रकार की जानकारियों और समाचार के लिए कृपया यहां क्लिक करके हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें एवं यहां क्लिक करके हमारा टेलीग्राम चैनल सब्सक्राइब करें। यहां क्लिक करके व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन कर सकते हैं। क्योंकि भोपाल समाचार के टेलीग्राम चैनल - व्हाट्सएप ग्रुप पर कुछ स्पेशल भी होता है।

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Check Now
Accept !