सबसे पहले किसने कहा था, 10,000 कदम चलने से बीमार नहीं होते, पढ़िए रोचक जानकारी- GK Today

फिटनेस एक्सपर्ट कहते हैं कि हर रोज 10000 कदम चलना चाहिए। स्वस्थ रहना है तो कम से कम 7500 कदम तो चलना ही चाहिए लेकिन यदि सचमुच उनकी बात मान कर इतना पैदल चलना शुरू कर दिया तो मोटापा भले ही थोड़ा कम हो जाए लेकिन एड़ी में दर्द पक्का शुरू हो जाएगा। दुनिया की कोई रिसर्च नहीं कहती कि स्वास्थ्य के लिए 7500 कदम प्रतिदिन चलना जरूरी है लेकिन तमाम अध्ययन बताते हैं कि ज्यादा पैदल चलने से पैर की एड़ियां खराब हो जाती हैं। दौड़ लगाने वाले खिलाड़ियों की भी एड़िया ही खराब होती है।

10000 कदम पैदल चलने का आईडिया किसने दिया 

सन 1984 में जापान की टोक्यो शहर में ओलंपिक गेम्स होने वाले थे। यह तो अपन जानते ही हैं कि ओलंपिक गेम्स की ब्रांडिंग उनकी तारीख से 1 साल पहले शुरू हो जाती है। जापान में भी ऐसा ही हुआ। डिस्कशन के दौरान विशेषज्ञों ने बताया कि जापान के लोगों का लाइफस्टाइल कितना खराब है। वहां के विशेषज्ञ ने बताया कि यदि जापान के लोगों को बीमार होने से बचना है तो उन्हें ओलंपिक गेम्स तक हर रोज 10,000 कदम पैदल चलना चाहिए। जब ओलंपिक गेम्स का आयोजन हुआ तो जापान के ज्यादातर शहरों में लोग अपनी फिटनेस को लेकर कोई ना कोई एक्टिविटी कर रहे थे। 

इसी मौके का फायदा उठाते हुए एक कंपनी ने दुनिया का पहला कदम गिरने वाला मीटर बना दिया जिसका नाम Manpo-kei रखा गया। जापानी भाषा में इसका मतलब होता है 10,000 कदम। यह स्पीडोमीटर लोगों में काफी पॉपुलर हो गया। जापान के बाहर भी सप्लाई होने लगी और इस तरह सारी दुनिया में 10000 कदम का टारगेट सेट हो गया। 

तो फिर स्वस्थ रहने के लिए प्रतिदिन कितना चलना चाहिए

मेडिकल साइंस कहता है कि स्वस्थ रहने के लिए प्रतिदिन पैदल चलना जरूरी है। यदि आप 2000 कदम प्रतिदिन पैदल चलते हैं तब भी काफी है। यह जलवायु और मौसम के हिसाब से कम और ज्यादा हो सकता है। मेडिकल साइंस यह भी कहता है कि यदि थकान महसूस होती है तो चलना बंद कर देना चाहिए। सिर्फ उतने कदम चलना चाहिए जब तक आप आनंद पूर्वक चल सकते हैं। @Copyright.

✔ इसी प्रकार की जानकारियों और समाचार के लिए कृपया यहां क्लिक करके हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें एवं यहां क्लिक करके हमारा टेलीग्राम चैनल सब्सक्राइब करें। क्योंकि भोपाल समाचार के टेलीग्राम चैनल पर कुछ स्पेशल भी होता है।