CAR या BIKE को शैंपू से धोना चाहिए या नहीं, और क्यों, पढ़िए- GK in Hindi

भारत में बहुत सारे लोग जब कोई नई कार या बाइक खरीदते हैं तो उसे हमेशा क्लीन और चमकदार बनाए रखने के लिए शैंपू का उपयोग करते हैं। कुछ विशेषज्ञ बताते हैं कि किसी भी मैटेलिक कलर वाले व्हीकल को शैंपू से नहीं धोना चाहिए। वह एक स्पेशल लिक्विड रिकमेंड करते हैं। आइए जानते हैं कि क्या वह सचमुच सही बोल रहे होते हैं या फिर यह उनका एक मार्केटिंग फंडा है:- 

हम इंसान अपने बाल धोने के लिए जिस शैंपू का उपयोग करते हैं उसमें sodium laureth sulfate काफी मात्रा में होता है। SLES अधिक कोमल होता है और किसी भी अतिरिक्त नमी (moisturizer) के एपिडर्मिस को नहीं हटाता है, जिससे आपको अपने सिर की त्वचा नरम, चिकना और पोषित महसूस होता है, लेकिन यह केमिकल मैटेलिक कलर के लिए काफी हार्मफुल होता है। 

आजकल जो कार, बाइक अथवा स्कूटर बाजार में आ रहे हैं उनमें मैटेलिक कलर यूज किए जाते हैं। उनमें एक खास किस्म की शाइनिंग होती है। sodium laureth sulfate केमिकल इस शाइनिंग का दुश्मन है। यदि आप अपनी कार वॉश करते समय अपना शैंपू यूज़ करते हैं और वह किसी कारण से कार पर सूख जाता है तो उतने हिस्से में आपके कार की चमक खत्म कर देता है। यही कारण है कि टू व्हीलर एवं फोर व्हीलर को धोने के लिए स्पेशल लिक्विड लॉन्च किया गया है।