बिजली कंपनी ने 14 आउटसोर्स कर्मचारियों को निकाला- MP outsource karmchari news

भोपाल
। मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी ने मीटर रीडिंग के काम पर लगाए गए 14 आउटसोर्स कर्मचारियों को नौकरी से निकाल दिया। इसके पहले 40 कर्मचारियों को निकाला गया था। कंपनी का कहना है कि सभी कर्मचारी मीटर रीडिंग में लापरवाही कर रहे थे। 

मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी ने बताया है कि उपभोक्ताओं के परिसर में स्थापित मीटर की फोटो मीटर रीडिंग में लापरवाही बरतने और गलत मीटर रीडिंग लेने पर मीटर वाचकों पर सख्त कार्यवाही किये जाने के निर्देश जारी किये गये हैं। कंपनी कार्यक्षेत्र के अंतर्गत संचारण संधारण सोहागपुर में 2, इटारसी में 2. बुदनी में 3. भोपाल में 3 एवं संचारण संधारण संभाग नसरूल्लागंज में 4 आउटसोर्स मीटर वाचकों को आदेशों की अव्हेलना और मीटर वाचन में गड़बड़ी के आरोप में सेवा से पृथक करने के साथ ही सोहागपुर में एक मीटर रीडर का तीन दिन का वेतन काटा गया है। 

मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के प्रबंध संचालक श्री गणेश शंकर मिश्रा ने बताया है कि फोटो मीटर रीडिंग ऑडिट पोर्टल की समीक्षा के उपरांत मीटर रीडिंग में लापरवाही बरतने वाले कार्मिकों पर नियमानुसार वेतन काटने एवं 50 प्रतिशत से अधिक गलत रीडिंग करने वाले मीटर रीडर की सेवाएं समाप्त करने की कार्यवाही की जा रही है। 

भिंड-मुरैना में आउटसोर्स कर्मचारी मीटर रीडिंग नहीं करेंगे

मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी द्वारा मुरैना शहर एवं भिण्ड शहर में उपभोक्ताओं के परिसर में मीटर रीडिंग के कार्य में गुणवत्ता और पारदर्शिता लाने के उद्देश्य से मीटर रीडिंग का कार्य कंपनी के नियमित विभागीय कार्मिकों से कराये जाने का निर्णय लिया है। कंपनी द्वारा अब मुरैना शहर एवं भिण्ड शहर के विद्युत उपभोक्ताओं की मीटर रीडिंग का कार्य कंपनी के नियमित विभागीय कार्मिकों से संपादित कराया जाएगा।