MBA चोटीवाला INDORE के खिलाफ NSA की कार्रवाई, अबोध लड़कियों से छेड़छाड़ का आरोप

इंदौर।
चोटीवाला के नाम से फेमस MBA पास हरजीत सिंह छाबड़ा के खिलाफ पुलिस ने राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत कार्रवाई की है। पुलिस ने दावा किया है कि हरजीत सिंह अवयस्क लड़कियों को टारगेट करता था। उसके खिलाफ एक से अधिक मामले दर्ज हैं। ताजा मामले में वह सीसीटीवी कैमरे के सामने 10 साल की लड़की के साथ आपत्तिजनक हरकत करता हुआ दिखाई दे रहा है। 

INDORE NEWS- रशियन उपन्यास लोलिता पढ़कर लड़कियों को निशाना बनाता था

10 फरवरी को भंवरकुआं क्षेत्र में मामा की शादी में गई 10 साल की बच्ची से छेड़छाड़ के आरोप में पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज के आधार पर हरजीत सिंह छाबड़ा को गिरफ्तार किया था। आरोपी के पुराने रिकार्ड निकलने के बाद उस पर DCP राजेश सिंह ने रासुका की कार्रवाई की है। डिप्टी कमिश्नर ऑफ पुलिस ने बताया कि हरजीत सिंह विवादित रशियन उपन्यास लोलिता से काफी प्रभावित था। विवादित उपन्यास पढ़ने के बाद वह बच्चियों को अपना निशाना बनाता था।

INDORE CITY LIVE- हरजीत सिंह के खिलाफ जूनी और MIG में क्राइम रिकॉर्ड

डीसीपी इंदौर ने बताया कि रिकॉर्ड की छानबीन करने पर MIG और जूनी इंदौर में उसके प्रकरण मिले थे। आरोपी को जब वरिष्ठ अधिकारियों के सामने लेकर आया था तो उसके प्रकरणों की जानकारी दी गई थी। जिसमें बाद उसे रासुका के तह्त जेल भेजा गया।

INDORE LOCAL NEWS- हरजीत सिंह का बेटा विदेश में बेटी बड़ौदा में

हरजीत पहले MIG इलाके में कोचिंग चलाता था लेकिन साल 2008 में पारिवारिक विवाद के बाद वह बच्चियों से हरकत करने लगा। MIG थाना क्षेत्र में भी एक नाबालिग से छेड़छाड़ के मामले में आरोपी पकड़ा जा चुका है। आरोपी का बड़ा बेटा विदेश में नौकरी करता है जबकि बेटी बड़ौदा में जॉब करती है।

INDORE ONLINE NEWS- पीड़ित बच्चों ने नाम रखा था चोटीवाला

हरजीतसिंह का नाम चोटीवाला बच्चों ने ही रखा था। उसने जिन बच्चों के साथ हरकत की सभी ने इसकी पहचान चोटवाला के रूप में ही की। इसके बड़े-बड़े बाल के कारण यह चोटी बांधता था। इस वजह से बच्चे इसे चोटवाला ही कहते थे।

व्लादीमीर नबोकोव का उपन्यास लोलिता विवादित क्यों है

व्लादीमीर नबोकोव द्वारा लिखी यह किताब एक अधेड़ आदमी हम्बर्ट और 12 साल की लड़की डोलोरस हेज़ के रिश्ते पर आधारित है। इसमें लेखक ने एक बच्ची के प्रति अपने प्यार के बारे में विस्तार से बताया है। इस वजह से इस पुस्तक को दुनिया के अधिकांश देशों ने बैन कर दिया था। इंदौर की महत्वपूर्ण खबरों के लिए कृपया indore news पर क्लिक करें.