शिक्षक भर्ती- हाई कोर्ट में तारीख बढ़ी, अब सीएम शिवराज के अगले कदम पर नजर - MP NEWS

भोपाल
। मध्यप्रदेश हाईकोर्ट ने जनसंख्या के आधार पर पिछड़ा वर्ग को आरक्षण (14% से बढ़ाकर 27%) देने के मामले में आज कोई डिसीजन नहीं सुनाया बल्कि उच्च न्यायालय में तारीख बढ़ा दी गई। यानी हाई कोर्ट में डिसीजन आने तक शिक्षक भर्ती और मध्य प्रदेश लोक सेवा आयोग सहित 3 भर्ती प्रक्रियाओं पर 27% ओबीसी आरक्षण के लिए स्टे आर्डर प्रभावशाली रहेगा। 

ओबीसी आरक्षण मामले में हाई कोर्ट की कार्यवाही का विवरण

मध्य प्रदेश हाई कोर्ट ने 27 फीसद ओबीसी आरक्षण पर रोक बरकरार रखी है। इसी के साथ मामले की अगली सुनवाई 30 सितंबर तक के लिए बढ़ा दी। मुख्य न्यायाधीश मोहम्मद रफीक व जस्टिस विजय कुमार शुक्ला की युगलपीठ के समक्ष मामले की सुनवाई हुई। इस दौरान अधिवक्ता आदित्य संघी ने सुप्रीम कोर्ट के न्यायदृष्टांत रेखांकित करते हुए 27% ओबीसी आरक्षण को अनुचित करार दिया। जबकि रामेश्वर सिंह ठाकुर ने 27% ओबीसी आरक्षण का समर्थन किया। सरकार की ओर से भी समर्थन में तर्क रखे गए। यूथ फार इक्वेलिटी की ओर से एक याचिका प्रस्तुत की गई थी। 

हाईकोर्ट ने शिक्षक भर्ती में ओबीसी आरक्षण पर इस से हटाने से मना किया

इसके लिए 20 सितंबर तक की मोहलत दी गई थी। सोमवार को सुनवाई शुरू होने के साथ राज्य शासन की ओर से महाधिवक्ता के अभिमत की रोशनी में तर्क रखे गए। याचिकाकर्ता यूथ फार इक्वेलिटी की ओर से अधिवक्ता सुयश ठाकुर ने पक्ष रखा। उन्होंने दलील दी कि राज्य शासन के सामान्य प्रशासन विभाग द्वारा दो सितंबर, 2021 को ओबीसी आरक्षण के सबंध में जारी नया आदेश चुनौती के योग्य है। ऐसा इसलिए क्योंकि यह आदेश ओबीसी आरक्षण मामला कोर्ट में लंबित होने के बावजूद मनमाने तरीके से जारी किया गया है। हाई कोर्ट ने अपने पूर्व आदेश में पहले से चला आ रहा स्थगन आदेश वापस लेने से इनकार कर लिया था।

यह कदम सालीसिटर जनरल तुषार मेहता व महाधिवक्ता पुरुषेंद्र कौरव के तर्क सुनने के बाद उठाया गया था। लिहाजा, सवाल उठता है कि जब 27 फीसद ओबीसी आरक्षण पर रोक कायम है, तो राज्य शासन ने मनमाना आदेश कैसे जारी कर दिया। इस आदेश में हाई कोर्ट के लंबित तीन मामलों को छोड़कर शेष में 27 फीसद ओबीसी आरक्षण लागू किए जाने की व्यवस्था दी गई है। इससे हाई कोर्ट के स्थगन आदेश की मूल भावना आहत हुई है।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह के अगले कदम पर नजर 

अब मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के अगले कदम पर नजर बनी हुई है। उन्होंने ऐलान किया है कि 30 सितंबर 2021 तक 30,000 रिक्त पदों पर शिक्षक भर्ती प्रक्रिया पूरी कर ली जाएगी। डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन हो चुका है। सरकारी नौकरी का इंतजार कर रहे उम्मीदवारों को केवल स्कूलों का आवंटन एवं पदस्थापना आदेश जारी करना है। हाई कोर्ट ने अगली तारीख 30 सितंबर 2021 लगाई है। अब देखना यह है कि मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान अपना वचन निभाने के लिए क्या करते हैं।

20 सितम्बर को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

MP NEWS- चयनित शिक्षकों की नियुक्ति व्यस्था के लिए आदेश जारी
MP COLLEGE ADMISSION- 10 लाख में से 8.50 लाख सीटें खाली, स्टूडेंट्स एडमिशन ही नहीं ले रहे
MP NEWS- चयनित शिक्षक अधीर, डिपार्टमेंट की तैयारियां अंतिम दौर में
MP BOARD NEWS- लो सिलेबस में भी संशोधन, त्रैमासिक परीक्षा के लिए, यहां पढ़िए
Google TV APP यहां से DOWNLOAD करें- सैकड़ों चैनल फ्री में देखने को मिलेंगे
BHOPAL NEWS- शासकीय उचित मूल्य दुकान के लिए आवेदन बुलाए
MP NEWS- चयनित शिक्षकों की नियुक्ति के लिए हलचल तेज
MP NEWS- 14 जिलों में आंगनवाड़ी मानदेय घोटाला, 94 अधिकारी-कर्मचारियों के खिलाफ FIR
MP BOARD NEWS- त्रैमासिक परीक्षा का सिलेबस जारी, यहां पढ़िए
CTET REGISTRATION NEWS - नोटिफिकेशन जारी, परीक्षा की तारीख घोषित
GK in Hindi- जीभ पर कड़वा स्वाद थोड़ी देर से क्यों आता है जबकि मीठा पहले 

महत्वपूर्ण, मददगार एवं मजेदार जानकारियां

GK in Hindiदुर्योधन की पत्नी कौन थी, किसकी पुत्री थी और कैसे विवाह हुआ
GK in Hindiघड़ी की सुई उत्तर से दक्षिण क्यों घूमती है जबकि सूर्य पूर्व से पश्चिम जाता है
GK in Hindiशिवलिंग पर जल क्यों चढ़ाते हैं, कोई वैज्ञानिक कारण है या बस परंपरा
GK in Hindiगेहूं की रोटी में हवा कैसे भर जाती है, ज्वार और मक्का की रोटी में क्यों नहीं भरती
GK in Hindiजब अमेरिका 110V बिजली से जगमगाता है तो भारत में 220V बिजली सप्लाई क्यों की जाती है
:- यदि आपके पास भी हैं ऐसे ही मजेदार एवं आमजनों के लिए उपयोगी जानकारी तो कृपया हमें ईमेल करें। editorbhopalsamachar@gmail.com


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here