MP NEWS: कॉलेज हॉस्टल खोलने की गाइडलाइन पर प्रोफेसर्स का विरोध शुरू

भोपाल।
मध्य प्रदेश में कॉलेज और हॉस्टल के संबंध में उच्च शिक्षा विभाग की गाइडलाइन के अनुसार  हॉस्टल में रहने वाले छात्रों की तबीयत बिगड़ी तो पूरी जिम्मेदारी संबंधित विवि और कॉलेज प्रबंधन की होगी। जबकि कॉलेज के प्रोफेसर्स के अनुसार कॉलेज में पढ़ने वाले छात्र समझदार हाेते हैं और हॉस्टल में खान-पान व अन्य कोविड प्रोटोकाल के पालन का ध्यान रखा जा सकता है, लेकिन स्वास्थ्य की जिम्मेदारी व्यवहारिक नहीं है। प्रोफेसर्स ने इस गाइडलाइन का विरोध भी शुरू कर दिया है।  

मप्र में 15 सितंबर से कॉलेज के साथ हॉस्टल भी खुल जाएंगे कॉलेज और हॉस्टल के संबंध में उच्च शिक्षा विभाग ने गाइडलाइन भी जारी कर दी है। कॉलेज में कक्षा अटेंड करने के संबंध में स्कूलों की तर्ज पर अभिभावकों से छात्र को भेजने की सहमति ली जाएगी। साथ ही छात्राें से भी सहमति ली जाएगी। इसके फॉर्मेट विभाग ने तैयार कर लिए हैं। इसे छात्र और अभिभावकों को भरना होगा। छात्रों के लिए दिए गए फॉर्मेट में संबंधित छात्र को यह घोषणा करना होगी कि वह किस कक्षा का छात्र है और उसे कोविड 19 से उत्पन्न स्थितियों और स्वास्थ्य पर होने वाले विपरीत प्रभावों की जानकारी है। छात्र के अभिभावक को भी तय फॉर्मेट में अपनी सहमति देना होगी।

गाइडलाइन में कॉलेज और विवि के हॉस्टल में रहने वाले छात्रों के स्वास्थ्य की संपूर्ण जिम्मेदारी प्रबंधन को सौंपने के कारण प्रोफेसर्स ने विरोध भी शुरू कर दिया है। इसकी मुख्य वजह यह है कि छात्र ज्यादा समय बाहर रहते हैं और उनका लगातर मूवमेंट भी रहता है। ऐसे में अगर कोई पॉजिटव हुआ तो उसके लिए प्रबंधन क्या कर सकता है। इस पर पुनर्विचार होना चाहिए। स्वास्थ्य की संपूर्ण जिम्मेदारी कैसे संबंधित वार्डन या प्रोफेसर पर डाली जा सकती है।

गाइडलाइन पर पुनर्विचार होना चाहिए

प्रांतीय शासकीय महाविद्यालयीन प्राध्यापक संघ के उपाध्यक्ष डॉ. राजेश श्रीवास्तव ने कहा कि हॉस्टल में सुरक्षा की जिम्मेदारी प्रबंधन की होती है, लेकिन किसी छात्र के स्वास्थ्य की संपूर्ण जिम्मेदारी वार्डन या प्रोफेसर कैसे रख सकेंगे। इस पर पुनर्विचार होना चाहिए। 

आपत्ति पर विचार किया जाएगा 

उच्च शिक्षा विभाग के अवर सचिव वीरन सिंह भलावी ने बताया कि गाइडलाइन शासन ने तैयार की है। अगर संबंधितों को किसी बिंदु पर आपत्ति है तो लिखकर दें। उस पर विचार किया जाएगा। 

13 सितम्बर को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

मध्य प्रदेश कर्मचारी कांग्रेस के चुनाव सम्पन्न, नए प्रांताध्यक्ष की घोषणा
INDORE NEWS- सरकारी इंजीनियर के घर में बंधुआ लड़की का 1 साल तक रेप
MP NEWS- पुलिस अधिकारी पर मंत्री प्रह्लाद पटेल के काफिले की कार चढ़ाई
SC-ST आयोग की तरह सामान्य वर्ग आयोग बनेगा: मुख्यमंत्री शिवराज सिंह
BHOPAL NEWS- हलाली डैम में अशोका गार्डन के तीन लड़कों की मौत
WHATSAPP- महीनों पुराने मैसेज DELETE FOR ALL कैसे करें
BHOPAL NEWS- शताब्दी में टिकट के कारण रेलवे कर्मचारी की बेटी ने सुसाइड किया
ना सिम चाहिए, ना रिचार्ज, Gmail से फोन कीजिए, टोटल फ्री
कोलेस्ट्रॉल बढ़ने पर क्या न खाएं, कैसे कम करें, घरेलू उपचार - CHOLESTEROL HOME REMEDY
MP NEWS- मुख्यमंत्री ने खरगोन के एसपी को हटाया, लोगों ने थाने पर हमला कर दिया था

महत्वपूर्ण, मददगार एवं मजेदार जानकारियां

GK in Hindiसोने के सिक्के को मोहर, तो चांदी और तांबे के सिक्के को क्या कहा जाता है
GK in Hindiमछली पानी में रहती है, फिर उसमें से बदबू क्यों आती है
GK in Hindiभारत की एक ऐसी जगह जहां आज भी ब्रिटिश सरकार का राज है
GK in Hindiबिजली के तार को कैसे पता होता है, पंखे को 60 वाट और एसी को 1160 वाट बिजली देना है
GK in Hindiउल्लू घोंसला क्यों नहीं बनाते, खंडहर में क्यों रहता है
:- यदि आपके पास भी हैं ऐसे ही मजेदार एवं आमजनों के लिए उपयोगी जानकारी तो कृपया हमें ईमेल करें। editorbhopalsamachar@gmail.com


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here