छिंदवाड़ा शर्मसार: टॉपर छात्रा ने सुसाइड कर लिया, स्कूल फीस नहीं भर पाई थी - MP NEWS

भोपाल
। पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के छिंदवाड़ा मॉडल पर कभी न मिटने वाला दाग लगा है। ऐसा विकास किस काम का जहां बच्चों को पढ़ने का मौका भी नहीं मिल पाए। 12 साल की एक प्रतिभावान छात्रा ने फांसी लगाकर इसलिए आत्महत्या कर ली, क्योंकि उसके पिता स्कूल की फीस नहीं भर पाए थे और स्कूल ने उसे पढ़ाने से मना कर दिया था। CORONA लॉकडाउन के कारण पिता का धंधा ठप हो गया था। इन दिनों वो मजदूरी कर रहे हैं।

पढ़ाई के लिए किताबें और मोबाइल तक नहीं थे

बड़कुही चौकी प्रभारी मोहन मर्सकोले के मुताबिक बड़कुही में रहने वाले इदरीश अंसारी की 12 साल की मासूम बच्ची फायजा अंसारी कक्षा 7वीं की छात्रा थी। शुक्रवार की शाम जब उसकी मां पड़ोस में थी, तभी उसने फांसी पर झूल कर आत्महत्या कर ली। पड़ोसियों ने बताया कि इस परिवार की आर्थिक स्थिति काफी खराब है। बेटी की पढ़ाई के लिए ना तो मोबाइल खरीद पा रहे थे और ना ही किताबें। यहां तक की बेटी की स्कूल फीस भी नहीं भरी थी।

पढ़ाई में काफी होनहार थी

12 साल की मासूम फ़ायजा अंसारी पढ़ाई में काफी होनहार थी ,उसके पड़ोसियों ने बताया कि पुस्तक और मोबाइल ना होने के बाद भी है अपने दोस्तों के मोबाइल से पढ़ने का प्रयास करती थी। पढ़ाई करने और अपनी कक्षा में अव्वल आने का जुनून सवार था। उसने आत्महत्या करने से पहले पढ़ाई को जारी रखने के लिए हर आखरी कोशिश की, जो व कर सकती थी, परंतु परिवार के अलावा पड़ोसियों से भी कोई मदद नहीं मिल पाई।

फीस के कारण स्कूल ने पढ़ाने से मना कर दिया था 

लोगों ने बताया कि आस पड़ोस के लोग अपना मोबाइल दे देते थे। पुरानी किताबों का भी इंतजाम हो जाता लेकिन स्कूल फीस नहीं भर पाई थी इसलिए स्कूल वालों ने पढ़ाने से मना कर दिया था। शायद स्कूल के मना करने के बाद ही छात्रा की उम्मीद टूट गई थी।

कोरोना के बाद आर्थिक तंगी से जूझ रहा था परिवार

गौरतलब हो कि मृत छात्रा के पिता शादी में लाइटिंग का व्यवसाय करते थे लेकिन कोरोना की पहली लहर के बाद से ही शादी लाइटिंग का व्यवसाय ठप हो गया तभी से परिवार को माली हालत बिगड़ी चली गई और परिवार आर्थिक तंगी से जूझने लगा था।

कई महीनों से मकान का किराया भी नहीं दे पाए

बच्ची के पिता ने भाई के यहां ट्रक में हेल्पर का काम भी भी शुरू कर दिया। इदरीश अंसारी की हालत इतनी खराब थी की वह कई महीनो से मकान मालिक को किराया भी नही दे पाया था।

कमलनाथ के छिंदवाड़ा मॉडल पर सवाल 

निश्चित रूप से इस आत्महत्या के लिए मध्य प्रदेश की शिवराज सिंह चौहान सरकार जिम्मेदार है परंतु पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ छिंदवाड़ा से विधायक हैं। छिंदवाड़ा मॉडल के नाम पर पूरे देश में उनका प्रचार किया जाता है। विकास का ऐसा मॉडल किस काम का जो करोड़पतियों को अच्छी सुविधाएं देता है परंतु गरीबों की आवाज कमलनाथ तक पहुंचने ही नहीं देता। विधायक होने के नाते नागरिकों को सरकारी सहायता उपलब्ध कराना कमलनाथ की जिम्मेदारी है।

06 सितम्बर को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

ELECTRIC BIKE- ₹12 में 100 किलोमीटर, कीमत मात्र ₹50000
मध्यप्रदेश मानसून: 5 जिलों में भारी वर्षा की संभावना
MP COLLEGE NEWS- अतिथि विद्वानों से आवेदन आमंत्रित, भर्ती कार्यक्रम जारी
INDORE NEWS- रात भर ऑनलाइन रहती थी, व्हाट्सएप कॉल आते थे, फांसी पर झूलती मिली
BAJAJ FINANCE में लोन घोटाला, कर्मचारी ने सुसाइड किया - BHOPAL NEWS
MP NEWS- कल से बिना कपड़ों के ही आना: यूनिफॉर्म पर भड़के प्राचार्य ने छात्राओं से कहा
MP CORONA NEWS- 11 जिलों में संक्रमण का खतरा, तीसरी लहर की आहट फिर सुनाई दी
अतिथि शिक्षक: इंग्लिश वाले फल का ठेला लगाते हैं, विज्ञान वाले बाल काटते हैं
MP IAS TRANSFER LIST 2021- मध्य प्रदेश आईएएस अधिकारियों की तबादला सूची
MP IPS TRANSFER LIST 2021- मध्य प्रदेश आईपीएस अधिकारियों की तबादला सूची
कलेक्टर, तुम्हारी औकात क्या है: विधायक लक्ष्मण सिंह ने कहा - MP NEWS

महत्वपूर्ण, मददगार एवं मजेदार जानकारियां

GK in Hindiयदि पृथ्वी के 4 टुकड़े हो जाएं तो क्या सभी वैसे ही घूमते रहेंगे
GK in Hindiदर्पण के पीछे कौन सा पदार्थ लगा होता है, जो पारदर्शी से परावर्ती बन जाता है 
GK in Hindiभूखे कृष्ण का मंदिर, सिर्फ 2 मिनट के लिए बंद होता है
GK in Hindiभगवान विष्णु विश्राम मुद्रा में क्यों रहते हैं, सिंहासन पर क्यों नहीं बैठते
GK in Hindi- जूतों के फीते में लगे प्लास्टिक या धातु के लॉक को क्या कहते हैं
GK in Hindiपृथ्वी पर हिमालय लेकिन ब्रह्मांड का सबसे ऊंचा पर्वत कौन सा है
:- यदि आपके पास भी हैं ऐसे ही मजेदार एवं आमजनों के लिए उपयोगी जानकारी तो कृपया हमें ईमेल करें। editorbhopalsamachar@gmail.com
:- यदि आपके पास भी हैं ऐसे ही मजेदार एवं आमजनों के लिए उपयोगी जानकारी तो कृपया हमें ईमेल करें। editorbhopalsamachar@gmail.com


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here