MP NEWS- सहायक प्रध्यापक पदों पर दिव्यांग अभ्यर्थियों की नियुक्ति की मांग

भोपाल
। सहायक प्रध्यापक परीक्षा -2017 में 22 आरक्षित वर्ग के पूर्व चयनित दिव्यांग अभ्यर्थियों जिनका पूर्व चयन सूची में चयन हुआ था तथा उच्च शिक्षा विभाग द्वारा समस्त दस्तावेजों का पूर्व मे भोपाल में वेरीफिकेशन भी कराया गया था परन्तु उन्हें संशोधित सूची मे बाहर कर दिया गया था। जिसके बाद आरक्षित वर्ग के पूर्व चयनित दिव्यांग अभ्यर्थियों ने जबलपुर हाईकोर्ट में याचिका लगाई थी जिसका आदेश उनके पक्ष में आया था। 

उक्त जबलपुर हाईकोर्ट  WP/19393 दिनांक 29-4-2020 का आदेश के अनुसार सरकार को एक माह मे दिव्यांगो को नियुक्ति कुल केैडर इस्टैन्थ का  6% आरक्षण दिव्यांग अभ्यर्थियों को देते हुए नियुक्ति देने का आदेश दिया था जिसके कारण 22 आरक्षित वर्ग के पूर्व चयनित दिव्यांग अभ्यर्थियों के साथ साथ आरक्षित वर्ग के कई दिव्यांग अभ्यर्थियों का भी चयन होगा और रोजगार मिलेगा। लोक सेवा आयोग ने पूर्व जबलपुर हाईकोर्ट में MCC/938 लगाई थी जिसमें उन्हें पूर्व में नियुक्ति के लिए 31-12-2020 तक का समय दिया था(29-4-2020 के आदेश के बाद 8 माह का समय) परन्तु नियुक्ति तो दूर लोक सेवा आयोग ने चयन सूची तक जारी नहीं की। 

इसके बाद भी लोक सेवा आयोग ने पुनः जबलपुर हाईकोर्ट में MCC/1349 लगाई जिसमें नियुक्ति के लिए 28-2-2021 तक का समय दिया परन्तु पुनः विज्ञापन 8/2/2021 में भी दिव्यांग उम्मीदवार को गलत आरक्षण दिया गया। इसके बाद नियुक्ति न मिलने पर दिव्यांग उम्मीदवारो ने हाईकोर्ट में अवमानना प्रकरण दायर CONC/538 किया, दिनांक 01/09/2021 के आदेश में  सरकार को केैडर इस्टैन्थ का  6% आरक्षण दिव्यांग अभ्यर्थियों को व जबलपुर हाईकोर्ट  WP/19393 दिनांक 29-4-2020 का आदेश का पूरी तरह पालन कर नियुक्ति देने का आदेश दिया है। जिसके लिए दिव्यांग उम्मीदवारो ने हाईकोर्ट का आभार माना है।

जबलपुर हाईकोर्ट के आदेश के WP/19393 के दिनांक 29/04/2020 पैराग्राफ 13 के अनुसार जो विषय के पद दृष्टिबाधित उम्मीदवारों के लिए  चिन्हित नही है यह पद अन्य चिन्हित विषय के दृष्टिबाधित उम्मीदवारों को दिये जाए। उच्च शिक्षा विभाग ने अपने हलफनामे मे माना है कि विभाग में दिव्यांगजनों के 384 पद रिक्त है जिसमें से 62 लगभग पद एेसे विषयों में दिये गए हैं जो अचिन्हित(Botany, Chemistry,Geography, Geology, Home Science, Mathematics, Physics, sanskrit, Zoology) है दृष्टिबाधित उम्मीदवारों के लिए। अतः इन 62 लगभग पदों को अन्य चिन्हित विषयों के दृष्टिबाधित उम्मीदवारों को दिये जाए जैसे commerce , hindi , sociology, political science व अन्य  विषय। 

सहायक प्राध्यापक के 2003,2006,2008 के पूर्व के विज्ञापन में जो पद दृष्टिबाधित उम्मीदवारों के लिए अचिन्हित विषय थे वो विषय Botany, Chemistry,Geography, Geology,Home Science, Mathematics, Physics, sanskrit, Zoology जिसका विज्ञापन में स्पष्ट रूप से उल्लेख किया गया है। परन्तु दृष्टिबाधित उम्मीदवारों के लिए अचिन्हित विषय का ध्यान वर्तमान विज्ञापन में नहीं रखा गया है। 

अजाक्स ने 22 आरक्षित वर्ग के पूर्व चयनित दिव्यांग अभ्यर्थियों व अन्य दिव्यांग अभ्यर्थियों के प्रति संवेदनशीलता दिखाते हुए दिव्यांग अभ्यर्थियों की चयन सूची जारी करने के लिए प्रमुख सचिव उच्च शिक्षा विभाग तथा सचिव, लोक सेवा आयोग, इंदौर को पत्र लिखा है ताकि दिव्यांगजनों को नियुक्ति मिल सके।

21 सितम्बर को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

MP NEWS- चयनित शिक्षकों की नियुक्ति व्यस्था के लिए आदेश जारी
MP COLLEGE ADMISSION- 10 लाख में से 8.50 लाख सीटें खाली, स्टूडेंट्स एडमिशन ही नहीं ले रहे
MP NEWS- चयनित शिक्षक अधीर, डिपार्टमेंट की तैयारियां अंतिम दौर में
MP BOARD NEWS- लो सिलेबस में भी संशोधन, त्रैमासिक परीक्षा के लिए, यहां पढ़िए
Google TV APP यहां से DOWNLOAD करें- सैकड़ों चैनल फ्री में देखने को मिलेंगे
BHOPAL NEWS- शासकीय उचित मूल्य दुकान के लिए आवेदन बुलाए
MP NEWS- चयनित शिक्षकों की नियुक्ति के लिए हलचल तेज
MP NEWS- 14 जिलों में आंगनवाड़ी मानदेय घोटाला, 94 अधिकारी-कर्मचारियों के खिलाफ FIR
MP BOARD NEWS- त्रैमासिक परीक्षा का सिलेबस जारी, यहां पढ़िए
CTET REGISTRATION NEWS - नोटिफिकेशन जारी, परीक्षा की तारीख घोषित
GK in Hindi- जीभ पर कड़वा स्वाद थोड़ी देर से क्यों आता है जबकि मीठा पहले 

महत्वपूर्ण, मददगार एवं मजेदार जानकारियां

GK in Hindiदुर्योधन की पत्नी कौन थी, किसकी पुत्री थी और कैसे विवाह हुआ
GK in Hindiघड़ी की सुई उत्तर से दक्षिण क्यों घूमती है जबकि सूर्य पूर्व से पश्चिम जाता है
GK in Hindiशिवलिंग पर जल क्यों चढ़ाते हैं, कोई वैज्ञानिक कारण है या बस परंपरा
GK in Hindiगेहूं की रोटी में हवा कैसे भर जाती है, ज्वार और मक्का की रोटी में क्यों नहीं भरती
GK in Hindiजब अमेरिका 110V बिजली से जगमगाता है तो भारत में 220V बिजली सप्लाई क्यों की जाती है
:- यदि आपके पास भी हैं ऐसे ही मजेदार एवं आमजनों के लिए उपयोगी जानकारी तो कृपया हमें ईमेल करें। editorbhopalsamachar@gmail.com


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here