DAVV NEWS- स्टूडेंट्स एडमिशन लेने नहीं आ रहे, BEd की 31000 सीटें खाली

इंदौर।
देवी अहिल्या विश्वविद्यालय में कतारें लगती थी। b.Ed जैसे कोर्स में एडमिशन के लिए स्टूडेंट के पेरेंट्स को बड़ा जोर लगाना पड़ता था, लेकिन अब हालात बदल गए हैं। b.ed और m.Ed जैसे कोर्स की हजारों सीटें खाली हैं।

बीएड-एमएड, बीपीएड, एमपीएड सहित अन्य एनसीटीई कोर्स की 72 हजार सीटों के लिए उच्च शिक्षा विभाग ने तीन चरण में काउंसिलिंग रखी। अगस्त से शुरू हुई काउंसिलिंग के जरिए अभी तक 48 प्रतिशत सीटों पर प्रवेश हुआ है। दो चरणों में पचास प्रतिशत सीटें नहीं भरने से कालेजों की चिंताएं बढ़ने लगी है। 63 हजार में से बीएड की 31 हजार सीटें खाली हैं। सागर, सतना, जबलपुर, ग्वालियर के कालेजों की स्थिति ठीक नहीं है। इन सीटों पर प्रवेश के लिए 12 से 16 सितंबर तक आवेदन बुलवाए हैं।

इस बीच दस्तावेज सत्यापन भी किए जाएंगे। इसके आधार पर मेरिट बनाई जाएगी। यह सूची 20 सितंबर को जारी होगी। फिर 25 सितंबर को विद्यार्थियों को कालेज आवंटित होंगे। फीस भरने के लिए विभाग ने पांच दिन का समय दिया है। 30 सितंबर तक छात्र-छात्राओं को आनलाइन फीस देना है। अशासकीय शिक्षा महाविद्यालय संचालक संघ के रवि भदौरिया और कमल हिरानी का कहना है कि खाली सीटों की संख्या ज्यादा है। इन्हें भरने के लिए सीएलसी राउंड करवाना होंगे। इसके लिए विभाग पत्र लिखा जा रहा है।

13 सितम्बर को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

मध्य प्रदेश कर्मचारी कांग्रेस के चुनाव सम्पन्न, नए प्रांताध्यक्ष की घोषणा
INDORE NEWS- सरकारी इंजीनियर के घर में बंधुआ लड़की का 1 साल तक रेप
MP NEWS- पुलिस अधिकारी पर मंत्री प्रह्लाद पटेल के काफिले की कार चढ़ाई
SC-ST आयोग की तरह सामान्य वर्ग आयोग बनेगा: मुख्यमंत्री शिवराज सिंह
BHOPAL NEWS- हलाली डैम में अशोका गार्डन के तीन लड़कों की मौत
WHATSAPP- महीनों पुराने मैसेज DELETE FOR ALL कैसे करें
BHOPAL NEWS- शताब्दी में टिकट के कारण रेलवे कर्मचारी की बेटी ने सुसाइड किया
ना सिम चाहिए, ना रिचार्ज, Gmail से फोन कीजिए, टोटल फ्री
कोलेस्ट्रॉल बढ़ने पर क्या न खाएं, कैसे कम करें, घरेलू उपचार - CHOLESTEROL HOME REMEDY
MP NEWS- मुख्यमंत्री ने खरगोन के एसपी को हटाया, लोगों ने थाने पर हमला कर दिया था

महत्वपूर्ण, मददगार एवं मजेदार जानकारियां

GK in Hindiसोने के सिक्के को मोहर, तो चांदी और तांबे के सिक्के को क्या कहा जाता है
GK in Hindiमछली पानी में रहती है, फिर उसमें से बदबू क्यों आती है
GK in Hindiभारत की एक ऐसी जगह जहां आज भी ब्रिटिश सरकार का राज है
GK in Hindiबिजली के तार को कैसे पता होता है, पंखे को 60 वाट और एसी को 1160 वाट बिजली देना है
GK in Hindiउल्लू घोंसला क्यों नहीं बनाते, खंडहर में क्यों रहता है
:- यदि आपके पास भी हैं ऐसे ही मजेदार एवं आमजनों के लिए उपयोगी जानकारी तो कृपया हमें ईमेल करें। editorbhopalsamachar@gmail.com


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here