JABALPUR के जुआ किंग की गैंगवार में हत्या, जंगल पर कब्जा कर लिया था, पुलिस को ₹600000 महीने देता था

जबलपुर
। जुआ किंग बबलू पंडा की गैंगवार में हत्या कर दी गई। एक ढाबे पर बबलू पंडा और रोहित सोनकर के अंक के बीच गैंगवार हुई। इसमें करीब 50 राउंड फायरिंग की गई। बबलू पंडा को 4 गोलियां लगी और वह मौके पर ही ढेर हो गया। बताया गया है कि उस पर हमला करने वाली गैंग में वह सब लोग शामिल थे जिन्हें बबलू पंडा ने पहले कभी धोखा दिया था। कहा जा रहा है कि हमला करने वालों में उसकी महिला मित्र का बेटा भी शामिल है।

मंडला जिले के पुलिस थाना बीजाडांडी टीआई राजेंद्र बर्मन के मुताबिक यह गैंगवार दशमेश ढाबे पर हुआ। दोनों तरफ से करीब 50 राउंड फायरिंग हुई। बबलू पंडा को 4 गोलियां लगी। वह मौके पर ही ढेर हो गया था परंतु हमलावरों ने गोली मारने के बाद चाकू से उसकी गर्दन काट दी ताकि उसके बचने की कोई संभावना ना रहे। पुलिस ने कुछ संदिग्ध लोगों को हिरासत में लिया है परंतु अभी तक हत्यारे का नाम नहीं बताया है। चर्चा है कि जबलपुर में बरेला वाले रोहित सोनकर और उसके साथियों ने बबलू पंडा गैंग पर हमला किया था।

उदयपुरा जंगल में दोनों ने मिलकर फड़ बनाया था

बताया जाता है कि बरेला वाला रोहित सोनकर पहले गांजे की तस्करी करता था। जेल भी जा चुका है। बाद में उसने बबलू पंडा के साथ बीजाडांडी के उदयपुरा जंगल में जुआघर बना लिया। पुलिस के साथ अच्छा संपर्क होने के कारण धंधा काफी चल निकला लेकिन बबलू पंडा की नियत बिगड़ गई। उसने रोहित सोनकर को शराब और अय्याशी की लत लगा दी। रोहित बर्बाद हो गया। बाद में बबलू पंडा ने रोहित को धंधे से अलग कर दिया।

बीजाडांडी के जंगल में हर रोज 5000000 का जुआ होता था

सूत्रों का कहना है कि बबलू पंडा का धंधा जम गया था। हर रोज लगभग 5000000 के दांव लगाए जाते थे। आठ लाख रुपए सिर्फ नाल कटती थी। रोहित सोनकर में काफी कोशिश की कि वह अपना धंधा अलग से जमा ली परंतु बबलू पंडा ने उसे उदयपुर के जंगल में टिकने नहीं दिया। यही कारण था कि रोहित सोनकर ने बबलू पंडा को खत्म करने की ठान ली।

अमित तिवारी भाईजी का नाम भी चर्चा में है

बबलू पंडा व रोहित की गैंग में जबलपुर निवासी अमित तिवारी भाईजी का नाम सामने आया है। सूत्रों का कहना है कि अधारताल थाना क्षेत्र निवासी अमित तिवारी जुआ फड़ में जुआरियों को 20% ब्याज पर पैसे देता था। बबलू पंडा के साथ बीजाडांडी में वह भी जुआ फड़ में पार्टनर बन गया था।

अमित तिवारी जुआ फड़ के लिए जुआरियों की भी व्यवस्था करता था। कुछ समय पहले बबलू पंडा की अमित से भी विवाद हो गया और उसने उसे भी अलग कर दिया। इसी मौके की ताक में बैठे रोहित सोनकर ने अमित को अपने पाले में कर लिया। बताया जाता है कि ढाबा में बबलू पंडा की हत्या के दौरान अमित तिवारी भी मौजूद था।

डेढ़ साल से जमा हुआ था धंधा, पांच जिलों के बड़े व्यापारी आते थे

बबलू पंडा जबलपुर-मंडला के बॉर्डर पर बीजाडांडी क्षेत्र के उदयपुरा जंगल में पिछले डेढ़ साल से जुआ खेला रहा था। जुआ फड़ ऐसे स्थान पर था कि एक बार भी वहां तक पुलिस नहीं पहुंच पाई। उसके फड़ में जुआ खेलने नरसिंहपुर, मंडला, सिवनी, जबलपुर, उमरिया से जुआरी पहुंचते थे। नरसिंहपुर का शातिर जुआरी भाईलाल पटेल भी खिलाड़ियों को लेकर अक्सर उसकी फड़ पर जाता रहता था। नरसिंहपुर से पिछले दिनों चार लोग स्ट्रेचर पर लेकर एक जुआरी को पहुंचे थे।

जुआरी पैर से लाचार था, लेकिन जुआ का लत होने के चलते वह बड़े जुआ फड़ में जाया करता था। बबलू पंडा ने पूरी व्यवस्था बना रखी थी। बीजाडांडी सोयाबीन फैक्ट्री के पास जुआरियों के वाहन खड़े करा लिए जाते थे। दशमेश ढाबे के पास उसके आदमी दो वाहन से मौजूद रहते थे। आगे का सफर इन वाहनों में बैठ कर पूरी करना पड़ता था।

मंडला पुलिस को ₹600000 महीने देता था 

चर्चा तो यह भी है कि बबलू पंडा हर महीने मंडला पुलिस को ₹600000 भेजता था। बदले में पुलिस ना केवल चुप रहती थी बल्कि बबलू पंडा की सुरक्षा भी करती थी। मंडला जिले में बबलू पंडा के खिलाफ किसी भी प्रकार की शिकायत की सुनवाई नहीं की जाती थी। ज्यादातर शिकायतों की पावती तक नहीं दी जाती थी। 


जबलपुर में क्राइम ब्रांच के कुछ जवानों से उसकी नजदीकी सामने आ रही है। बबलू पंडा, उसके पार्टनर और जुड़े हुए लोगों के मोबाइल की सीडीआर निकलवाई जाए तो ये चेहरे बेनकाब हो जाएंगे। बीजाडांडी और मंडला पुलिस ने कभी इस जुआ फड़ को बंद कराने की कोशिश नहीं की।

जबलपुर में 29 अपराध तो सागर में भी आधा दर्जन प्रकरण है दर्ज

जबलपुर के बिलहरी निवासी बबलू पंडा गोराबाजार थाने का हिस्ट्रीशीटर बदमाश था। उसके ऊपर ही जबलपुर में कुल 29 अपराध हत्या, हत्या के प्रयास, अपहरण कर हत्या, फिरौती, अवैध वसूली, जुआ, लूट आदि के दर्ज थे। आरोपी के खिलाफ जबलपुर के अलावा सागर में भी आधा दर्जन प्रकरण दर्ज हैं। 

आरोपी के खिलाफ गोराबाजार पुलिस ने 10 दिसंबर 2020 को जिला बदर का प्रकरण जिला दंडाधिकारी के समक्ष पेश किया था। उसे थाने में हर 15 दिन में हाजिरी देने का आदेश जारी हुआ था। 11 जून 2021 को उसने गोराबाजार में आखिरी हाजिरी दी थी। जबलपुर में 2018 के बाद उसके खिलाफ कोई प्रकरण दर्ज नहीं हुआ था।

दिन दहाड़े दासता पत्नी को मार दी थी गोली

बबलू पंडा ने 16 मार्च 2015 में अपनी दासता पत्नी मंजू सोधे की तिलहरी क्षेत्र में दिन-दहाड़े गोली मारकर हत्या कर दी थी। इस हत्याकांड के बाद वह फरार हो गया था। फरारी के दौरान ही आरोपी ने 4 मई 2015 को अपने साथी संजय रजक का बरेला क्षेत्र से अपहरण किया और गोली मारकर हत्या कर दी। संजय की लाश को उमरिया कटनी के जंगल में फेंक दिया था।

13 अगस्त को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

MP OBC 27% आरक्षण के लिए 3 घंटे चली मीटिंग
EMPLOYEE NEWS- त्यौहार से पहले एक और DA मिलने वाला है
MP BOARD News- 2000 स्टूडेंट्स का साल बर्बाद कर दिया, मार्कशीट में गड़बड़ कर दी, सुधार भी नहीं रहे
BHOPAL NEWS- 3 लाख लोगों की तलाश के लिए 1800 आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं की ड्यूटी
MP POLICE ONLINE e-FIR कहां और कैसे दर्ज करें, यहां पढ़िए
GWALIOR NEWS- महाराजा सिंधिया दिल्ली में पुराने बंगले में पहुंचे, यहीं मिलेंगे
BHOPAL NEWS- सीनियर डॉक्टर के खिलाफ FIR, इलाज के बहाने आपत्तिजनक हरकत करने का आरोप
INDORE NEWS- डॉक्टर ने मरीज के सिर की हड्डी बेच दी, पुलिस इंक्वायरी शुरू
GWALIOR NEWS- एयरफोर्स का जवान, गर्भवती महिला और युवक पॉजिटिव, तीनों बाहर से आए
MP BJP- भाजपा की भुट्टा पार्टी में कमलनाथ के ठहाके
MP EMPLOYEE NEWS- लिपिकों की वेतनविसंगति दूर करने रमेश चंन्द्र शर्मा कमेटी की अनुशंसाएं लागू होंगी

महत्वपूर्ण, मददगार एवं मजेदार जानकारियां

GK in Hindiअंग्रेजी के अक्षरों में i और j के ऊपर बिंदी क्यों लगाई जाती है
CrPC Section 145यदि कोई दबंग खेत, मकान अथवा जल स्त्रोत पर कब्जा कर ले, तो कहां शिकायत करें
GK in Hindiमाचिस की तीली किस लकड़ी से बनती है, माचिस का आविष्कार किसने और कब किया 
GK in Hindiपरिक्रमा को इंग्लिश में क्या कहते हैं और हिंदी में इसका अर्थ क्या है
GK in Hindiदुबई के सभी शेख अमीर क्यों होते हैं, कोई कंगाल क्यों नहीं होता
GK in Hindi- वह कौन सी संख्या है जिसे रोमन में नहीं लिखा जा सकता
GK in Hindiरानियों के रेशमी वस्त्र किससे धुलते थे, वाशिंग पाउडर तो था नहीं
:- यदि आपके पास भी हैं ऐसे ही मजेदार एवं आमजनों के लिए उपयोगी जानकारी तो कृपया हमें ईमेल करें। editorbhopalsamachar@gmail.com
:- यदि आपके पास भी हैं ऐसे ही मजेदार एवं आमजनों के लिए उपयोगी जानकारी तो कृपया हमें ईमेल करें। editorbhopalsamachar@gmail.com


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here