INDORE NEWS: दीवार की दरार में स्केल लगाते ही 70 लाख मिले

इंदौर।
 इंदौर लगभग पिछले छह महीने के भीतर ही यहां एक करोड़ रूपये की हवाला राशि का खुलासा हुआ है। STF ने एक घर पर दबिश देकर हवाला रैकेट का पर्दाफाश किया। हवाला कारोबारियों ने रिहायशी बस्ती में एक घर को अपना अड्डा बना रखा था। इस घर की दीवार में चैंबर बनाकर उसमें 70 लाख छुपा रखे थे। पुलिस ने फिलहाल सात आरोपियों को गिरफ्तार किया है।

STF की इंदौर यूनिट ने मंगलवार देर रात संयोगितागंज थाना इलाके के जावरा कम्पाउंड स्थित एक बिल्डिंग के फ्लैट पर छापा मारा। पुलिस को मौके से 70 लाख रूपये मिले जो फ्लैट की दीवार में एक तहनुमा चैंबर बनाकर रखे हुए थे। सिर्फ स्केल से दबाने से ही यह चैंबर खुलता था। यहां मौजूद सात आरोपियों को पकड़ लिया गया। पिछले लम्बे समय से ये रैकेट चल रहा था। कुछ समय पहले तुकोगंज और राजेंद्र नगर पुलिस ने लाखों रूपये की राशि जब्त की थी और मामले की जांच के लिए आयकर विभाग से आग्रह किया था। हालांकि आयकर विभाग फिलहाल मामले में जांच ही कर रहा है।

हवाला रैकेट के सभी सदस्य गुजरात के रहने वाले हैं। गिरोह के तार अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर भी जुड़े हैं। एसटीएफ यूनिट को कुछ दिन से लगातार हवाला कारोबार के बारे में जानकारी मिल रही थी। मंगलवार शाम को एसटीएफ को सूचना मिली कि जावरा कम्पाउंड स्थित नाकोड़ा बिल्डिंग की तीसरी मंजिल पर एक फ्लैट में सात लोग इकट्ठा हुए हैं। यह सभी हवाला कारोबार में लिप्त हैं। सूचना की तस्दीक होने पर पुलिस ने दबिश दे दी और आरोपियों को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी। आरोपियों ने हवाला कारोबार की बात स्वीकार कर ली, लेकिन उन्होंने मौके पर रकम होने से इंकार कर दिया। पुलिस ने भी घर में तलाशी ली लेकिन उन्हें कुछ नहीं मिला। काफी देर तक पुलिस परेशान होती रही। आरोपियों ने पुलिस को बरगलाने का प्रयास किया।

पुलिस ने घर के चप्पे चप्पे की तलाशी के बाद दीवार को एक हथोड़ी से ठोकना शुरू कर दिया। हालांकि इस दौरान भी पुलिस खाली हाथ रही। अंत में पुलिस को एक जगह आशंका हुई कि आरोपियों ने दीवार में एक विशेष चैंबर बनाया है, और वह एक मामूली स्केल से ही खुलता है। स्केल जब डरार से भीतर जाएगी, तब स्प्रिंग की मदद से दीवार पर लगा टाइल बाहर निकल आएगा। 

जानकारी मिलते ही पुलिस ने हथोड़ा छोड़कर स्केल ढूंढा और दीवार में दिखाई दे रही दरार में डाल दिया. टाइल बाहर आ गया और उसमे नोटों की रखी गड्डी नजर आने लगी। पुलिस को मौके से 70 लाख रुपये नगद, नोट गिनने की दो मशीन, नोट की गड्डी पर टेप चिपकने वाला स्टेपलर और अन्य सामान मिला। आरोपियों के रैकेट के बारे में स्थानीय पुलिस अनजान थी, उन्हें कभी इसके बारे में जानकारी नहीं लगी। पिक्चर की तरह हूबहू आरोपियों ने घर की दीवार में चैंबर तैयार किया था और यहां से हवाला कारोबार चलाया जा रहा था। आरोपियों ने किराये का फ्लैट भी इसीलिए ऐसी जगह लिया था जो रहवासी इलाका था। आरोपियों को पूरा भरोसा था कि यदि किसी दफ्तर से यह व्यापार चलाया जाएगा तो जल्द ही पकड़ में आ जाएगा। उनकी संदिग्ध गतिविधि के बारे में जल्द ही किसी को भनक लग जाएगी, लेकिन पुलिस को भनक लग गई और उसने छापा मार दिया।

04 अगस्त को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

मध्य प्रदेश मानसून: गुड न्यूज़, सिर्फ 3 जिलों में मूसलाधार और 2 में भारी वर्षा की चेतावनी
MPPSC NEWS- 33 सहायक प्राध्यापकों की नियुक्ति निरस्त
MP IFS TRANSFER LIST- वन विभाग आईएफएस अफसरों के तबादले
GWALIOR NEWS- आधे घंटे में 3 पुल टूट कर बह गए, विकास की पोल खोली, वीडियो देखें
MP NEWS- टॉवर पर हेलीकॉप्टर का इंतजार कर रहे 12 लोग बह गए, शिवपुरी के नरवर की घटना
MP NEWS- श्योपुर का मध्य प्रदेश से कनेक्शन कट, कूनो का पुल टूटा
MP NEWS- शर्ट उतारकर अमर्यादित प्रदर्शन, 44 पंचायत कर्मचारियों के खिलाफ FIR
MP EMPLOYEE NEWS- पंचायत कर्मचारी ज्योतिरादित्य सिंधिया का घेराव करने दिल्ली जाएंगे
MP NEWS- नगरीय निकायों में प्रतिनियुक्ति पर मलाई काट रहे 800 प्रभारी अधिकारियों की लिस्ट तैयार
पंचायत कर्मचारी ज्योतिरादित्य सिंधिया का घेराव करने दिल्ली जाएंगे

महत्वपूर्ण, मददगार एवं मजेदार जानकारियां

GK in Hindiअंधेरा होने पर भी मच्छरों को हमारी लोकेशन कैसे मिल जाती है 
GK in Hindiरत्ती भर शर्म में, रत्ती से क्या तात्पर्य होता है, पढ़िए मजेदार जानकारी
GK in Hindiसाबुन, शैंपू या टूथपेस्ट सबके झाग सफेद क्यों होते हैं, जबकि कलर अलग-अलग होते हैं
GK in Hindiठंड और डर दोनों के कारण रोंगटे खड़े हो जाते हैं, ऐसा क्यों
GK in Hindi- वह कौन सी संख्या है जिसे रोमन में नहीं लिखा जा सकता
GK in Hindiरानियों के रेशमी वस्त्र किससे धुलते थे, वाशिंग पाउडर तो था नहीं
:- यदि आपके पास भी हैं ऐसे ही मजेदार एवं आमजनों के लिए उपयोगी जानकारी तो कृपया हमें ईमेल करें। editorbhopalsamachar@gmail.com


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here