GWALIOR अंचल में 400 साल पुराने पुल खड़े हैं, 4 साल पुराने पुल कैसे बह गए - Kuhla Khat

"बारिश नहीं हुई तो मध्यप्रदेश को सूखे से गुजरना पड़ेगा।" लगभग एक महीने पहले यह बात जन-जन से लेकर प्रत्येक नेतागण के मुख से निकल रही थी। प्रशासन भी जल स्त्रोतों में पानी की स्थिति की जानकारी लगभग प्रतिदिन सरकार को भेज रहा था। 

जनता को इस संबंध में सवाल करना चाहिए

लेकिन पिछले सात दिन से जिस तरह मध्यप्रदेश में बारिश हो रही है उसने स्मार्ट होते शहरों और विकास के नाम पर गड्डे में ढकेले गये गांवों से प्रशासन और शासन की तैयारियों की पोल खोलकर रखी दी। जनता को इस संबंध में सरकारों से सवाल करना चाहिए कि कैसे कुछ वर्ष पूर्व बने हुए पुल 04 दिन की बारिश में बह गये जबकि ब्रिटिश काल के अनेकों पुल आज भी सुरक्षित हैं? 

भ्रष्टाचार की कीमत मासूम गरीब जनता को क्यों भोगना पड़े

भ्रष्टाचार की कीमत मासूम गरीब जनता को क्यों भोगना पड़े? अवैध रेत खनन ने नदी को जिस तरह से खोखला किया है उसने नदी को प्रलयंकारी बना दिया। यह सवाल भी जनता को अधिकारियों से पूछना चाहिए कि मध्यप्रदेश की भौगोलिक संरचना उत्तरपूर्व की तरह नहीं है और ना ही यहां कोसी जैसे कोई नदी है फिर यहां क्यों बाढ़ जैसे हालात बन गये हैं? 

स्मार्ट सिटी के नाम पर टैक्स के अरबों रुपये फूंकने पर भी यदि शहर चार दिन की बारिश में डूबने लगे तो फिर सवाल प्रकृति से नहीं बल्कि प्रकृति से छेड़छाड़ करने वाले लोगों से पूछना चाहिए? ✒ डॉक्टर प्रवेश सिंह भदौरिया

04 अगस्त को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

मध्य प्रदेश मानसून: गुड न्यूज़, सिर्फ 3 जिलों में मूसलाधार और 2 में भारी वर्षा की चेतावनी
MPPSC NEWS- 33 सहायक प्राध्यापकों की नियुक्ति निरस्त
MP IFS TRANSFER LIST- वन विभाग आईएफएस अफसरों के तबादले
GWALIOR NEWS- आधे घंटे में 3 पुल टूट कर बह गए, विकास की पोल खोली, वीडियो देखें
MP NEWS- टॉवर पर हेलीकॉप्टर का इंतजार कर रहे 12 लोग बह गए, शिवपुरी के नरवर की घटना
MP NEWS- श्योपुर का मध्य प्रदेश से कनेक्शन कट, कूनो का पुल टूटा
MP NEWS- शर्ट उतारकर अमर्यादित प्रदर्शन, 44 पंचायत कर्मचारियों के खिलाफ FIR
MP EMPLOYEE NEWS- पंचायत कर्मचारी ज्योतिरादित्य सिंधिया का घेराव करने दिल्ली जाएंगे
MP NEWS- नगरीय निकायों में प्रतिनियुक्ति पर मलाई काट रहे 800 प्रभारी अधिकारियों की लिस्ट तैयार
पंचायत कर्मचारी ज्योतिरादित्य सिंधिया का घेराव करने दिल्ली जाएंगे

महत्वपूर्ण, मददगार एवं मजेदार जानकारियां

GK in Hindiअंधेरा होने पर भी मच्छरों को हमारी लोकेशन कैसे मिल जाती है 
GK in Hindiरत्ती भर शर्म में, रत्ती से क्या तात्पर्य होता है, पढ़िए मजेदार जानकारी
GK in Hindiसाबुन, शैंपू या टूथपेस्ट सबके झाग सफेद क्यों होते हैं, जबकि कलर अलग-अलग होते हैं
GK in Hindiठंड और डर दोनों के कारण रोंगटे खड़े हो जाते हैं, ऐसा क्यों
GK in Hindi- वह कौन सी संख्या है जिसे रोमन में नहीं लिखा जा सकता
GK in Hindiरानियों के रेशमी वस्त्र किससे धुलते थे, वाशिंग पाउडर तो था नहीं
:- यदि आपके पास भी हैं ऐसे ही मजेदार एवं आमजनों के लिए उपयोगी जानकारी तो कृपया हमें ईमेल करें। editorbhopalsamachar@gmail.com


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here