उच्च शिक्षा विभाग ने अतिथि विद्वानों को रिकॉल किया, सेवा शर्तों पर असंतोष - MP NEWS

भोपाल
। प्रदेश के सरकारी कॉलेजों में सत्र 2020-21 में कार्यरत अतिथि विद्वानों को उच्च शिक्षा विभाग ने पुनः रिकॉल के आदेश जारी कर दिए हैं। नए प्रारंभ हो रहे सत्र में सरकार ने तैयारी शुरू कर दी है। इसी तारतम्य में कार्यरत अतिथि विद्वानों को नए सत्र के लिए रिकॉल क़िया गया है।

उल्लेखनीय है कि माननीय उच्च न्यायालय द्वारा अतिथि विद्वानों के निरंतरता का आदेश दिया गया है।अतिथि विद्वान लम्बे अरसे से नियमितिकरण की मांग कर रहे हैं,साथ ही अतिथि विद्वान महासंघ तात्कालिक राहत के रूप में सेवा शर्तों में सुधार के साथ-साथ,बढ़ती महंगाई को दृष्टिगत रखते हुए यूजीसी गाइड लाइन के अनुसार न्यूनतम मानदेय भुगतान की मांग कर रहा है लेकिन इस मामले में भी अतिथि विद्वानों को निराशा ही हाथ लगी है।महासंघ के अध्यक्ष डॉ देवराज सिंह ने कहा है कि कोरोना काल मे अतिथि विद्वानों के लिए आकस्मिक व चिकित्सा अवकाश के साथ साथ अन्य सेवा शर्तों में सुधार किया जाना अत्यावश्यक हो गया है।

कई अतिथि विद्वान हो चुके हैं कोरोना महामारी के शिकार

अतिथि विद्वान नियमितीकरण संघर्ष मोर्चा के प्रदेश प्रवक्ता डॉ मंसूर अली ने कहा है कि कोरोना महामारी की दूसरी लहर के दौरान कई अतिथि विद्वान असमय काल कवलित हो चुके हैं।वर्षों विभाग कि सेवा करने के बावजूद सेवा शर्तों में सुधार न हो पाने के कारण मृत्य के बाद भी अतिथि विद्वानों के परिजनों को शासकीय सुविधा का कोई लाभ नही मिल पाता है।कोरोना की दूसरी लहर की व्यापकता व उसके घातक परिणामों के प्रकाश में अब यह अत्यावश्यक हो चुका है की अतिथिविद्वानों को भी आकस्मिक तथा चिकित्सा अवकाश जैसी सुविधाओं का लाभ दिया जाए।

अतिथि विद्वानों का भविष्य सुरक्षित करे सरकार

अतिथि विद्वान महासंघ वा मोर्चा के मीडिया प्रभारी डॉ आशीष पांडेय का कहना है कि वर्तमान सरकार के मुखिया शिवराज सिंह चौहान ने अतिथि विद्वान नियमितीकरण का भरोसा दिलाया था,दुर्भाग्यपूर्ण है कि नियमितीकरण तो दूर आज तक फॉलेन ऑउट अतिथि विद्वानों को सेवा में वापस लाने के लिए और 450 पदों को स्वीकृति देने की दिशा में भी एक कदम नहीं बढ़ा सके हैं।जबकि प्रदेश के अतिथि विद्वानों को इस सरकार से फॉलेन आउट अतिथि विद्वानों को सेवा बहाली और नियमितीकरण की पूरी उम्मीद थी। 

डॉ आशीष पांडे ने कहा कि हम एक बार फिर से सरकार से मांग करते हैं की तत्काल सभी फॉलेन ऑउट अतिथि विद्वानों को सेवा में वापस लिया जाए और अतिथि विद्वानों का भविष्य सुरक्षित करने की दिशा में कोई ठोस नीति बनाई जाए।जब तक अतिथि विद्वानों के नियमितीकरण के लिए कोई नीति नहीं बन जाती तब तक के लिए तत्कालिक राहत के रूप में अतिथि विद्वानों को यूजीसी द्वारा निर्धारित न्यूनतम मानदेय देते हुए सेवा शर्तों में सुधार किया जाए।

30 जून को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

MP COLLEGE REOPEN- नए शिक्षा सत्र का कैलेंडर तैयार
MP NEWS- मप्र कैबिनेट मीटिंग का आधिकारिक प्रतिवेदन
MP NEWS- सतना डीईओ, सीईओ और पीएस को हाईकोर्ट की अवमानना का नोटिस
मध्य प्रदेश मानसून- सभी जिलों में मौसम खराब रहेगा, बादल रूठ कर चले गए
MP NEWS- मरना है तो मर जाओ- शिक्षा मंत्री ने विद्यार्थियों के माता-पिता से कहा
MP SAS TRANSFER LIST 2021 - मप्र राप्रसे अधिकारियों की तबादला सूची
MP BOARD NEWS- कक्षा 12 के रिजल्ट का डिटेल प्लान जारी किया
MP NEWS- यशोधरा पर भड़के प्रद्युम्न सिंह- मुख्यमंत्री के बाद मंत्री समूह भी नाराज
MP NEWS- अंग्रेजी के शिक्षकों के लिए पीजी डिप्लोमा इन टीचिंग इंग्लिश हेतु आवेदन आमंत्रित
BHOPAL NEWS- एक्सीडेंट में SI की मौत, BIKE के दो टुकड़े हो गए
MP NEWS देवास नरसंहार: पूरे परिवार की हत्या कर के खेत में दफना दिया
MP NEWS- पेट्रोल-डीजल महंगा है तो साइकिल क्यों नहीं चलाते: ऊर्जा मंत्री ने जनता से कहा

महत्वपूर्ण, मददगार एवं मजेदार जानकारियां

मध्य प्रदेश की समस्त भूमि पर राज्य सरकार का अधिकार है, पढ़िए- MP land revenue code 1959
GK in Hindiमनुष्य की दो आंखें क्यों होती है जबकि एक आंख से भी पूरा दिखाई देता है
GK IN HINDI- इंटरनेट डाटा का उत्पादन कहां और कैसे होता है 
HEALTH TIPS IN HINDI- मात्र ₹20 में पेट का पॉइजन खत्म, 20 से ज्यादा बीमारियां नहीं होंगी 
RASHIFAL- 12 में से 6 राशि वालों के लिए गुड न्यूज़
GK IN HINDI- BIKE का इंजन CC में क्यों होता है, हॉर्स पावर में क्यों नहीं होता
GK IN HINDI- ATM से थर्मल पेपर की पर्ची क्यों निकलती है, सादा कागज क्यों नहीं है
:- यदि आपके पास भी हैं ऐसे ही मजेदार एवं आमजनों के लिए उपयोगी जानकारी तो कृपया हमें ईमेल करें। editorbhopalsamachar@gmail.com


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here