Loading...    
   


JABALPUR में SAF जवान ने पिता की हत्या की

जबलपुर।
 मध्य प्रदेश के जबलपुर शहर में SAF का बर्खास्त जवान ही 70 वर्षीय पिता का कातिल निकला। रायफल चोरी प्रकरण में एसएएफ से बर्खास्त आरोपी बहाली के लिए पिता से 50 हजार रुपए मांग रहा था। उसकी शराब पीने व जुआ के लत से परेशान पिता ने पैसे देने से मना करते हुए सार्वजनिक रूप से अपमान कर दिया।पिता की यही बात नागवार गुजरी और उसने आधी रात बाद पिता की बेरहमी से हत्या कर दी।  

SP जबलपुर सिद्धार्थ बहुगुणा ने सोमवार 28 जून को इस मर्डर मिस्ट्री से पर्दा उठाया। बताया कि 8 जून को हिनौतिया भोई गांव में शिव मंदिर के पास कमरे बनाकर रहने वाले गोपाल मार्को (70) की बेरहमी से हत्या कर दी गई थी। उनके गले, चेहरे व सिर पर चाकू के कुल चार वार किए गए थे। इस मामले में बड़े बेटे अशोक मार्को ने हत्या का प्रकरण दर्ज कराया। गोपाल मार्को के जनेऊ से चाबी और पेटी से कुछ पैसे गायब थे। गोपाल वीकल फैक्ट्री से रिटायर्ड थे और 18 हजार 500 रुपए पेंशन भी मिलते थे। रिटायर्ड होने के बाद घर से 100 मीटर दूरी पर बने पारिवारिक शंकर जी के मंदिर के पास 2 कमरे का कच्चा मकान बनाकर रहते थे। पत्नि और तीनों बेटे गांव में रहते हैं।

परिवार के लोगों से पूछताछ में सामने आया कि गोपाल मार्को का छोटा बेटा कमलेश मार्को (40) एसएएफ से 26 नवंबर 2020 को बर्खास्त हाे चुका है। वह 27 अगस्त 2008 को एसएएफ में भर्ती हुआ था। 6वीं वाहिनी की सी- कंपनी खण्डवा में तैनात आरक्षक कमलेश मार्को 29 अप्रैल 2019 को गार्ड रूम से एक एसएलआर 7.62 रायफल और उसके साथ बंधा रखा 40 कारतूस चुराकर गायब हो गया था। इस मामले में रांझी पुलिस ने चोरी का मामला दर्ज करते हुए उसी दिन उसे गांव से गिरफ्तार कर लिया था। इसी मामले में विभागीय जांच के बाद उसे बर्खास्त किया गया था। चोरी का ये प्रकरण अब भी न्यायालय में लंबित है।

गोपाल के बड़े बेटे अशोक से ये भी जानकारी मिली की वारदात से दो दिन पहले उसके छोटे भाई कमलेश का पिता से विवाद हुआ था। दरअसल कमलेश ने पिता से 50 हजार रुपए मांगे कि उसे भोपाल में किसी को देना है, जिससे वह एसएएफ की नौकरी फिर से पा लेगा। इसके पूर्व वह इसी काम के लिए 30 हजार रुपए ले चुका था, लेकिन इस रकम काे शराब पीने और जुआ खेलने में उड़ा दिया था। यही कारण था कि गोपाल ने उसे मना कर दिया और परिवार के लोगों के साथ बेइज्ज्त भी किया था। पूछताछ में ये भी बात सामने आई कि 2019 में उसने पिता पर कुल्हाड़ी से मारने की कोशिश की थी, लेकिन तब गांव वालों ने बीच-बचाव किया था।

संदेह की पूरी सूई कमलेश की तरफ ही केंद्रित हो चुकी थी। जांच के दौरान ये भी सामने आया कि आरोपी की शराब पीने व जुआ खेलने की लत से परेशान होकर उसकी पत्नी भी दोनों बेटियों के साथ मायके में रह रही है। आरोपी ने नौकरी के दौरान एसएएफ से भी 3.50 लाख रुपए का लोन लिया था। रांझी में पिता ने उसके लिए मकान खरीदा था। उसे भी उसने 4.50 लाख रुपए में बेच डाला था। इसी तरह खेती की जमीन गिरवी रखकर भी 30 हजार रुपए लेकर खर्च कर दिए थे। तब पिता ने पैसे देकर जमीन छुड़ाई थी। एक बार फिर उसने जमीन गिरवी रखकर 30 हजार रुपए लेने की कोशिश की थी। पर बात नहीं बन पाई।

कमलेश पूरी वारदात के बाद बढ़ चढ़कर मीडिया को बाइट दे रहा था। हैरानी की बात ये थी कि पिता की हत्या के बाद भी उसके आंख से आंसू नहीं निकल रहे थे। खारी विसर्जन में भी वह शामिल नहीं हुआ था। कमाई नहीं थी, फिर भी उसने कर्म-क्रिया में 14 हजार रुपए खर्च किए थे। इसी संदेह पर पुलिस ने उसे हिरासत में लिया और सख्ती से पूछताछ की तो वह टूट गया। उसने जुर्म स्वीकार करते हुए बताया कि पिता बात-बात पर सार्वजनिक तौर पर बेइज्जत करते रहते थे। दोनों बड़े भाईयों और उनके बच्चों पर पैसे खर्च करते थे, लेकिन उसे नहीं देते थे। दो दिन पहले उसने नौकरी की बहाली के लिए पैसे मांगे, तो नहीं दिए और बेइज्जत भी किए। तभी उसने कत्ल करने का निर्णय ले लिया था।

आरोपी कमलेश ने बताया कि 7 जून की रात ढाई बजे वह पीछे के रास्ते से लुकते-छिपते पहुंचा और मंदिर के सामने मंच पर सो रहे पिता पर चाकू से सिर के नीचे माथे में, बाये गाल में, दाहिने तरफ आंख के पास, गले में ताबड़तोड़ वार कर हत्या कर दी। इसके बाद पिता के कुर्ते से 400 रुपए निकाले। फिर जनेउ में बंधी चाबी खोली और हाथ में लगा खून खम्बे से पोछा। कुएं के पास जाकर हाथ व चाकू को धोया। मंदिर के पास वाले कमरे का ताला खोलकर पेटी में रखे 14 हजार रुपए निकाल कर कमरे में ताला लगाकर घर चला गया और सो गया था। पुलिस की पूरी कार्रवाई में वह शामिल रहा। पुलिस ने कमलेश की निशानदेही पर हत्या में प्रयुक्त चाकू और चाबी जब्त कर लिया है। सोमवार की शाम उसे कोर्ट में पेश किया गया। जहां से उसे जेल भेज दिया गया।

28 जून को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार


महत्वपूर्ण, मददगार एवं मजेदार जानकारियां

GK in Hindi- यदि चंद्रमा पर खड़े होकर पृथ्वी पर गोली चलाएंगे तो क्या होगा
GK in Hindi- नया शिक्षा सत्र 1 जुलाई से क्यों शुरू होता है 1 जनवरी से क्यों नहीं
HEALTH TIPS IN HINDI- मात्र ₹20 में पेट का पॉइजन खत्म, 20 से ज्यादा बीमारियां नहीं होंगी 
HEALTH TIPS IN HINDI- घबराहट और बेचैनी क्यों होता है, कैसे कंट्रोल किया जा सकता है
RASHIFAL- 12 में से 6 राशि वालों के लिए गुड न्यूज़
GK IN HINDI- BIKE का इंजन CC में क्यों होता है, हॉर्स पावर में क्यों नहीं होता
GK IN HINDI- ATM से थर्मल पेपर की पर्ची क्यों निकलती है, सादा कागज क्यों नहीं है
:- यदि आपके पास भी हैं ऐसे ही मजेदार एवं आमजनों के लिए उपयोगी जानकारी तो कृपया हमें ईमेल करें। editorbhopalsamachar@gmail.com



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here