Loading...    
   


MP में मंत्री ने नियुक्ति प्रक्रिया को बाईपास कर प्रतिनियुक्ति की नोटशीट लिखी: कांग्रेस का आरोप - TODAY NEWS

भोपाल
। मध्य प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री श्री प्रभु राम चौधरी पर आरोप है कि उन्होंने NHRM द्वारा सिविल इंजीनियर की प्रतिनियुक्ति हेतु निर्धारित प्रतियोगिता को बाईपास करते हुए एक अधिकारी की प्रतिनियुक्ति के लिए नोटशीट लिख दी। कांग्रेस पार्टी का कहना है कि महामारी के वक्त जब स्वास्थ्य मंत्री को जनता को इंजेक्शन देना चाहिए तब वह अपने पसंदीदा अधिकारियों को डेपुटेशन दिलवा रहे हैं।

मंत्री प्रभु राम चौधरी एब्यूज ऑफ अथारिटी के दोषी: कांग्रेस

मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी की ओर से मीडिया उपाध्यक्ष भूपेंद्र गुप्ता के नाम से जारी प्रेस बयान में आरोप लगाया है कि राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन की भर्तियों में नियम प्रक्रियाओं को दरकिनार कर मंत्री प्रभुराम चौधरी हस्तक्षेप कर रहे हैं वे एब्यूज ऑफ अथारिटी के दोषी हैं।

NHRM ने मानव संसाधन में सिविल इंजीनियर्स की प्रतिनियुक्ति पर भर्ती के दृष्टिकोण से 23 अप्रैल को एक विज्ञापन जारी किया था। जिसमें वरिष्ठ सिविल इंजीनियर को प्रतिनियुक्ति या रिटायर्ड इंजीनियर की भी आउटसोर्स सेवाएं लेने हेतु आवेदन आमंत्रित किए गए थे। विज्ञापन के प्रकाश में कई इंजीनियरों ने अपने आवेदन NHRM को भेजे हैं।  कार्यवाही प्रचलन में है। अधीक्षण यंत्री आनंद प्रकाश राणे जो कि वर्तमान में लोक निर्माण विभाग के पीआईयू में अतिरिक्त प्रोजेक्ट डायरेक्टर हैं, ने अपना आवेदन लगाने के बजाय सीधे स्वास्थ्य मंत्री को प्रतिनियुक्ति पर आने के लिए दिनांक 5 मई को अपना सहमति पत्र प्रस्तुत कर दिया। 

इन नियुक्तियों के प्रक्रियाधीन होने के बावजूद स्वास्थ्य मंत्री ने 7 मई को राणे के पक्ष में उन्हें नियमानुसार प्रतिनियुक्ति देने हेतु मिशन संचालक एनआरएचएम को नोटशीट लिख दी। गुप्ता ने कहा कि यह व्यापम वायरस की थर्ड वेव है, पुनरावृत्ति है जहां मेरिट और प्रतिस्पर्धा की उपेक्षा कर हितलाभ के लिये अपनों अपनों को बैठाया जाता है।

गुप्ता ने कहा कि सरकार को यह जवाब देना चाहिए कि क्या विज्ञापन निकाल देने के बावजूद भी बिना स्पर्धा में शामिल किए मध्यप्रदेश में इसी तरह नियुक्तियां की जा रही हैं, और रेवड़ियां बांटीं जा रहीं हैं। अगर नहीं तो स्वयं मंत्री द्वारा प्रक्रिया उल्लंघन कर अपनी शक्ति के दुरुपयोग से यह दबाव क्यों बनाया जा रहा है। 

25 मई को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here