Loading...    
   


छतरपुर में कांग्रेस नेता पर रात को मामला दर्ज, सुबह 10000 का इनाम घोषित - MP NEWS

छतरपुर
। बड़ामलहरा उपचुनाव के 3 दिन पहले ही कांग्रेस नेता और यूपी के रेत कारोबारी चरण सिंह यादव पर छतरपुर पुलिस ने बड़ी कार्यवाही की है। कांग्रेस नेता पर बीती रात भगवां थाना क्षेत्र में चैकिंग के दौरान पुलिसकर्मियों के साथ अभद्रता किए जाने के मामले में प्रकरण दर्ज किया गया और शुक्रवार को पुलिस अधीक्षक सचिन शर्मा ने चरण सिंह की गिरफ्तारी पर 10 हजार रूपए का इनाम घोषित कर दिया। एक तरफ पुलिस चरण सिंह को तलाश रही है तो वहीं दूसरी तरफ चुनाव के ठीक पहले हुई इस कार्यवाही के समय को लेकर कांग्रेस सवाल खड़े कर रही है।

पुलिस बैरिकेड तोड़कर फरार हो गया था

गुरुवार-शुक्रवार की रात भगवां थाना इलाके के घुवारा में एफएसटी टीम के द्वारा चेकिंग के लिए रोकने पर कांग्रेस नेता चरण सिंह यादव कथित रूप से पुलिस टीम के साथ उलझ गया। मौके पर मौजूद एफएसटी टीम के साथ झूमाझटकी करते हुए चेकिंग तोड़कर फरार हो गया। जिसके बाद एफएसटी टीम की शिकायत पर भगवां थाना पुलिस ने चरण सिंह के खिलाफ शासकीय कार्य में बाधा डालने, धमकाने समेत अन्य धाराओं में केस दर्ज किया है। वहीं चरण सिंह के अपराधिक रिकॉर्ड को देखते हुए पुलिस अधीक्षक सचिन शर्मा ने चरण सिंह पर 10 हजार का इनाम घोषित कर दिया है।

कमलनाथ की सभा में ली थी कांग्रेस की सदस्यता

बड़ामलहरा में आयोजित चुनावी सभा में रेत कारोबारी नेता चरण सिंह यादव कमलनाथ के मंच पर कांग्रेस में शामिल हुए। चरण सिंह यादव पिछले दो महीने से बड़ामलहरा विधानसभा में सक्रिय हैं। पहले बड़ामलहरा से चुनाव लडऩे को लेकर भी उनके नाम की अटकलें थीं लेकिन जब टिकिट नहीं मिली तो वे बड़ामलहरा क्षेत्र में यादव समाज की बैठकों के माध्यम से कांग्रेस के लिए काम कर रहे थे। सभा के दौरान कमलनाथ ने उन्हें कांग्रेस में शामिल किया था।

चरण सिंह यादव का आपराधिक रिकार्ड भी है

चरण सिंह यादव के खिलाफ उत्तरप्रदेश के झांसी व लखनऊ में राष्ट्रीय सुरक्षा अधिनियम, गैंगस्टर, डकैती, घर में घुसकर मारपीट, शासकीय कार्य मे बाधा, एससीएसटी एक्ट, पीसीआर एक्ट,लोकप्रतिनिधित्व एक्ट, गुड़ा अधिनियम समेत 16 केस दर्ज हैं। जिसमें से राष्ट्रीय सुरक्षा अधिनियम के केस में चरण सिंह को सजा हुई है, जबकि कुछ केसों की सुनवाई कोर्ट में चल रही है। 

एसपी छतरपुर का बयान
भगवां थाना इलाके में एफएसटी टीम की चेकिंग के दौरान शासकीय कार्य में बाधा, धमकाना और जबरन भाग जाने के मामले में केस दर्ज किया गया है। वहीं, पुराने अपराधिक रिकॉर्ड को देखते हुए इनाम भी घोषित किया गया है।
सचिन शर्मा, पुलिस अधीक्षक

30 अक्टूबर को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here