Loading...    
   


INDORE में हॉस्पिटल को हॉस्टल बना दिया, एक प्राइवेट रूम में 2-2 COVID मरीज, किराया खर्चा भी डबल - MP NEWS

इंदौर। इंदौर के प्राइवेट अस्पताल पैसा कमाने के लिए क्या कुछ नहीं करते। अस्पतालों में खुलेआम लूट से यह तो प्रदर्शित होता ही है कि सरकार उनकी जेब में है, लेकिन जब पब्लिक का ज्यादा दबाव आता है तब भी वह पैसा कमाने का कोई ना कोई नया रास्ता ढूंढ ही लेते हैं। इन दिनों बात कोरोना की चल रही है। प्राइवेट अस्पताल मरीजों से 1 दिन का ₹35000 से लेकर ₹100000 तक वसूल रहे थे। मीडिया ने शोर मचाया तो मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने निर्देश जारी किए और इंदौर कलेक्टर श्री मनीष सिंह ने अस्पतालों के फीस और शुल्क फिक्स कर दिए। अस्पतालों ने कलेक्टर की रेट लिस्ट का पालन किया लेकिन हॉस्पिटल को हॉस्टल बना दिया। एक प्राइवेट रूम में एक की जगह दो बेड लगा दी है। कलेक्टर की रेट लिस्ट भी फॉलो हो रही है और एक कमरे से कमाई डबल।

इंदौर के पत्रकार श्री अवनीश राठौर की एक रिपोर्ट के अनुसार इंदौर में सबसे ज्यादा फीस वसूलने वाले एक प्राइवेट अस्पताल ने छठे फ्लाेर के 14 प्राइवेट रूम में से 10 में एक-एक पलंग बढ़ा दिया है। अब यहां 32 के बजाय 42 मरीजों को भर्ती किया जा रहा है। शिकायत करने पर कहा जाता है कि कोविड मरीज बढ़ रहे हैं, एडजस्ट करना होगा।

पति पत्नी को एक ही रूम में रखा लेकिन किराया दोनों से पूरा-पूरा लिया

जावरा के वरुण श्रोेत्रिय को 24 अगस्त को रूम नं. 611 में रखा। दो दिन बाद पत्नी शशिप्रभा पॉजिटिव आईं। कागजों में शशि को रूम नं. 401 में भर्ती करना बताया, जबकि उन्हें वरुण के रूम में ही भर्ती किया। शशि के पेपर में सेमी प्राइवेट का जिक्र था, लेकिन चार्ज प्राइवेट का वसूला। वरुण ने बताया कि उनके रूम में पत्नी को ही रखा, इसलिए आपत्ति नहीं ली। बताते हैं कि शशि को जहां से शिफ्ट किया, वहां दूसरा मरीज भर्ती कर दिया। 

अस्पताल नहीं माना तो दूसरी जगह शिफ्ट हो गए

राऊ की सप्तश्रृंगी कॉलोनी के चंद्रशेखर परांजपे 28 अगस्त को एप्पल हॉस्पिटल के प्राइवेट रूम नंबर 617 में भर्ती हुए। इसी रूम में एक अन्य मरीज मित्तल को भी भर्ती कर दिया। दो दिन बाद मित्तल चले गए तो दूसरा मरीज आ गया। परांजपे ने आपत्ति ली तो सुनवाई नहीं हुई। इस पर वे 1 सितंबर को यहां से अरबिंदो शिफ्ट हो गए।

इंदौर के अस्पतालों में 2000 वाला रूम 3500 में वह भी आधा

हॉस्पिटल में सेमी प्राइवेट रूम का चार्ज आम दिनों में 2 से ढाई हजार रुपए होता है, उसे बढ़ाकर 3500 से 4500 कर दिया है। प्राइवेट रूम का अधिकतम 7500 था, उसे बढ़ाकर 10 हजार तक कर दिया है।

अस्पताल के रूम चार्ज में फूड इंक्लूड होता है लेकिन इंदौर में ₹950 एक्स्ट्रा

हॉस्पिटल के रूम चार्ज में चाय, नाश्ता और दोनों समय का भोजन शामिल है, लेकिन कोविड मरीजों से 500 रुपए मील और 450 रुपए डायटीशियन विजिट के अलग से वसूले जा रहे। यानी हर दिन मरीज को रूम रेंट के अलावा 950 रुपए अलग से देना पड़ रहे।

07 सितम्बर को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

वेटिकन सिटी में बच्चे पैदा क्यों नहीं होते?
BF ने GF से कैंसर पीड़ित पिता के लिए खून बदले आबरू ले ली
यदि ब्रांच मैनेजर BANK ACCOUNT CLOSE करने से मना कर दे तो क्या करें
MADHYA PRADESH में नई शिक्षा नीति के तहत नया शिक्षा सत्र कब से शुरू होगा, क्या खास होगा
पत्नी को परीक्षा दिलाने स्कूटी से ग्वालियर आये थे फ्लाइट से जाएंगे झारखंड वाले धनंजय कुमार
SHALBY HOSPITAL ने आधी रात में भर्ती अधिकारी को बाहर निकाला, मौत
मध्य प्रदेश मौसम: 18 जिलों में बारिश होगी, 12 में धूप खेलेगी, 7 जिलों में बूंदाबांदी
BHOPAL में SBI के ATM में घुसे चोर, हैदराबाद में बजा अलार्म
BHOPAL NEWS: महिला ग्राहक को पुरुष ट्रायल रूम में भेज दिया फिर ताक-झांक करने लगा
BHOPAL-INDORE चार्टर्ड बस सेवा शुरू, कितने यात्री जाएंगे, किराया कितना होगा पढ़िए
यदि रेल की पटरी में करंट का तार लगा दें तो क्या होगा
कूलर की मोटर जाम क्यों हो जाती है, जबकि पंखे की सालों-साल चलती है
मंत्री नरेंद्र तोमर को महिलाओं ने घेरा, बोलीं: चलो हमारे साथ, दलदल बन गई सड़क पर चलकर दिखाओ
MADHYA PRADESH के स्कूलों में 5+3+3+4 पाठ्यक्रम को लागू किया जायेगा
ग्वालियर नगर निगम में नामांतरण विज्ञापन के नाम पर 30 लाख का गबन
JABALPUR- INDORE से 4 प्रमुख ट्रेनों शुरू करने की मंजूरी मिली
JABALPUR से 6 सितंबर से चलने वाली ट्रेनों का टाइम-टेबल जारी
AFTER CORONA: ग्वालियर में 40% लोग नई बीमारी का शिकार
GWALIOR में सोने-चांदी की परख रखने वाले व्यापारी इंसान पहचानने में चूक गए, 1.5 करोड़ का चूना लग गया
कूलर की मोटर जाम क्यों हो जाती है, जबकि पंखे की सालों-साल चलती है
संविदा कर्मचारी का ट्रांसफर नहीं किया जा सकता: हाईकोर्ट ने आदेश पर स्टे लगाया
MADHYA PRADESH की ग्राम पंचायतों के लिए 996 करोड़ रुपए ट्रांसफर


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here