Loading...    
   


सीएम शिवराज सिंह के बाद संगठन मंत्री सुहास भगत, कैबिनेट मंत्री तुलसी सिलावट कोरोना पॉजिटिव / MP NEWS

भोपाल। पूरी तरह से प्रमाणित हो गया है कि इस बार कोरोनावायरस का संक्रमण नेताओं और खासकर भारतीय जनता पार्टी के नेताओं के कारण फैला है। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान के बाद भाजपा के प्रदेश संगठन महामंत्री श्री सुहास भगत और कैबिनेट मंत्री श्री तुलसी सिलावट भी कोरोनावायरस संक्रमित पाए गए हैं। 

मुख्यमंत्री जी के कहने पर टेस्ट कराया था: सिलावट

कैबिनेट मंत्री श्री तुलसी सिलावट के साथ उनकी धर्मपत्नी भी पॉजिटिव पाई गई हैं। हालांकि श्री सिलावट का कहना है कि उनके अंदर कोरोनावायरस के संक्रमण जैसे कोई लक्षण नहीं है। उन्होंने तो केवल मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान के कहने पर टेस्ट कराया था।

भारतीय जनता पार्टी के कई बड़े नेता कोरोना पॉजिटिव 

पिछले कुछ दिनों में भारतीय जनता पार्टी के आधा दर्जन से ज्यादा विधायक और कई बड़े नेता कोरोनावायरस से संक्रमित पाए गए हैं। सोमवार को पिपरिया विधायक की रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। पिछले दिनों वह मुख्यमंत्री से मिलने आए थे। कैबिनेट मंत्री अरविंद भदौरिया अभी भी अस्पताल में भर्ती हैं और लोगों का उनसे मिलना जुलना जारी है। 

राजनीतिक कार्यक्रमों में कोरोना गाइडलाइन का खुला उल्लंघन हुआ है 

मध्यप्रदेश में विधानसभा उपचुनाव की तैयारी के चलते अनलॉक की प्रक्रिया शुरू होते ही राजनीतिक कार्यक्रम भी शुरू हो गए थे। यह लगातार जारी है। भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस पार्टी दोनों के कार्यक्रमों में कोरोनावायरस के संक्रमण की रोकथाम के लिए तय की गई गाइडलाइन का खुला उल्लंघन हो रहा है। बात शिवराज सिंह की हो या कमलनाथ की, दोनों के कार्यक्रमों में सोशल डिस्टेंसिंग का उल्लंघन किया गया एवं कार्यकर्ताओं सहित नेताओं के चेहरे पर भी फेस मास्क नहीं थे।

29 जुलाई को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे हैं समाचार

मध्य प्रदेश कोरोना: एक्टिव केस 8000 से ज्यादा, 830 की मौत
एक पहाड़ पर 11 शिवलिंग लेकिन कभी कोई मंदिर नहीं बना पाया
मप्र कैबिनेट मीटिंग का आधिकारिक प्रतिवेदन
मध्य प्रदेश से रूठ गए इंद्रदेव, बादल बिना बरसे ही लौट गए
बैतूल में जज को जहर देकर मारा गया है, भोपाल समाचार का संदेह सही निकला
इंदौर में जीतू पटवारी सहित 200 कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर केस दर्ज
ग्वालियर में पिज्जा डिलेवरी की तरह टाइम लिमिट में मिलेगा बिजली कनेक्शन
कोरोना के नाम पर कर्मचारियों को ही क्यों रोक रहे हैं, IAS अफसरों को क्यों नहीं


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here