Loading...    
   


ग्वालियर में दो कोरोना पॉजीटिव मरीजों की मौत, टोटल 10 / GWALIOR CORONA NEWS

ग्वालियर। शहर में बढ़ते कोरोना मरीजों की संख्या के साथ ही अब कोरोना संक्रमित मरीजों के मौत के आंकड़े ने प्रशासन की चिंता बढ़ा दी है। बेकाबू कोरोना संक्रमण से जहां रोजाना संक्रमितों की संख्या तेजी से बढ़ रही है वहीं बीते छत्तीस घंटों के दौरान आधा दर्जन कोरोना पॉजीटिव मरीजों की मौत का आंकड़ा दस हो चुका है। वहीं बीते छत्तीस घंटों के दौरान शहर में आधा दर्जन मरीजों की कोरोना संक्रमण से मौत हुई है।

जेएएच के सहायक अधीक्षक जेएस नरवरिया ने बताया कि मुरैना निवासी 82 वर्षीय पूरन जो बीपी व शुगर की बीमारी से पीडि़त था, उसके परिजन मुरैना जिला अस्पताल द्वारा रैफर किए जाने के बाद उपचार के लिए ग्वालियर लेकर पहुंचे थे पूरन को उपचार के लिए आठ जुलाई को आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया था। शुक्रवार को मरीज पूरन कोरोना पॉजीटिव पाया गया था। पूरन ने शनिवार की सुबह सात बजे उपचार के दौरान दम तोड़ दिया। इलाज कर रहे चिकित्सकों ने बताया किमृतक पूरन का शुगर व बीपी लेवल दवा देने के बाद भी कंट्रोल नहीं हो पा रहा था जिसके कारण उसकी मौत हो गई। 

वहीं दाल बाजार निवासी गिरीश कुमार पुत्र हरीशचन्द्र को भी उपचार के लिए गंभीर हालत में शुक्रवार को जेएएच के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया गया था। जब तक मरीज गिरीश का डॉक्टर उपचार शुरु कर पाते, उसने भर्ती होने के पन्द्रह मिनट बाद ही दम तोड़ दिया। दोनों ही मृतक कोरोना पॉजीटिव थे। 

19 जुलाई को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

मांसाहारी जानवर हमेशा शाकाहारी जानवरों का शिकार क्यों करते हैं
रेलवे स्टेशन का नाम बताने वाले बोर्ड पर समुद्र तल से ऊंचाई क्यों लिखी रहती है
न्यूनतम अंतर को दर्शाने 19-20 का फर्क क्यों कहते हैं, 4-5 या 9-10 का फर्क क्यों नहीं कहते
बड़ी संख्या में प्राइवेट स्कूल छोड़कर सरकारी स्कूलों में शिफ्ट हो रहे हैं स्टूडेंट्स
मध्य प्रदेश: रेत माफिया ने ASI को चांटा मारा (वीडियो देखें), ट्रैक्टर-ट्रॉली छुड़ा ले गया
मध्यप्रदेश में 24वें विधायक ने कमलनाथ का नेतृत्व अस्वीकारा, इस्तीफा दिया
प्रकृति में सिर्फ मनुष्यों की आइब्रो क्यों होती हैं, जानवरों की क्यों नहीं होती ?
कथन या वचन पर हस्ताक्षर करने से मना करने पर भी क्या FIR दर्ज हो सकती है, पढ़िए
चांद में ऐसा क्या होता है कि उससे टकराकर सूर्य की गर्म किरणें ठंडी चांदनी में बदल जातीं हैं


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here