Loading...    
   


मंत्रालय में हड़कंप, लक्षण नहीं फिर भी कई IAS अफसरों ने खुद को आइसोलेट किया | MP NEWS

भोपाल। मध्य प्रदेश हेल्थ डिपार्टमेंट के डायरेक्टर डॉ जे विजय कुमार के कोरोनावायरस पॉजिटिव आते ही राजधानी भोपाल में स्थित मंत्रालय में हड़कंप मच गया। एक के बाद एक भारतीय प्रशासनिक सेवा के कई वरिष्ठ अधिकारी खुद ही आइसोलेशन में चले गए। घर, होटल, प्रशासनिक अकादमी जहां जिसको जगह मिली वह वहां आइसोलेशन में चला गया। कोरोनावायरस की जांच कराने के लिए अफसरों की भीड़ लग गई। हालात यह बनी कि जेपी अस्पताल में जांच की किट ही खत्म हो गई। जबकि सैंपल कलेक्ट करने वाले डॉक्टर्स के अनुसार एक भी अधिकारी में कोरोना वायरस के लक्षण नहीं है।

ज्यादा आईएएस अधिकारी आइसोलेशन में चले गए

डायरेक्टर हेल्थ डिपार्टमेंट डॉक्टर जे विजय कुमार को संक्रमण की वजह से सतपुड़ा भवन में बने कोरोना वायरस के लिए राज्य स्तरीय कंट्रोल रूम के कई अधिकारियों को भी संक्रमण की आशंका बढ़ गई है। वहीं मंत्रालय में पदस्थ कई प्रमुख सचिव सहित सात से ज्यादा वरिष्ठ आईएएस अधिकारी भी एहतियातन आईसोलेशन में चले गए हैं। भोपाल में अब कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 9 हो गई है।

मुख्यमंत्री और प्रमुख सचिव की बैठक में भी शामिल हो चुके हैं विजय कुमार

मध्यप्रदेश में गुना वायरस के संक्रमण को नियंत्रित करने के लिए डॉ जे विजय कुमार पिछले दिनों संचालनालय में लगातार बैठक ले रहे थे। मध्य प्रदेश पब्लिक हेल्थ सप्लाई कॉर्पोरेशन और आयुष्मान भारत योजना के कार्यालय में भी उनकी बैठकें हुई थी। मुख्यमंत्री और प्रमुख सचिव की अध्यक्षता में कई बैठकों में भी शामिल हुए।

अभी तक स्पष्ट नहीं आईएएस अफसर हो कोरोनावायरस का संक्रमण कैसे हुआ

उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद आईएएस अफसरों, स्वास्थ्य संचालनालय के अधिकारियों और कर्मचारियों में हड़कंप है। बताया जा रहा है कि आईएएस अधिकारी कुछ दिन पहले बेंगलुरु से आए थे। उन्होंने कुछ कंपनियों के प्रतिनिधियों से भी मुलाकात की थी। इस कारण यह साफ नहीं हो रहा है कि उन्हें संक्रमण कैसे हुआ?

कई आईएएस अफसरों ने सैंपल दिए 

स्वास्थ्य विभाग के संचालक डॉ जे विजय कुमार गुरुवार को आई रिपोर्ट में पॉजिटिव पाए गए थे। इसके बाद एहतियात के तौर पर उन्होंने एक बार फिर सैंपल जांच के लिए भेजा। शुक्रवार की रिपोर्ट में भी पॉजिटिव पाए गए। उन्हें एम्स में भर्ती किया गया है। इसके बाद उनके संपर्क में आए 7 से ज्यादा आईएएस अधिकारियों ने कोरोनावायरस की जांच के लिए अपने सैंपल दिए हैं। इनकी रिपोर्ट शनिवार को आने की उम्मीद है। 

अकादमी, होटल, घर जहां जगह मिली आइसोलेशन में चले गए

डॉक्टर जी विजय कुमार के संपर्क में आए दूसरे भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारियों में से कुछ प्रशासन अकादमी, कुछ होटल और कुछ अपने घरों में आइसोलेशन में है।इसमें कई प्रमुख सचिव स्तर के अधिकारी भी हैं। 

संचालनालय के पांच अफसरों को बुखार 

स्वास्थ्य संचालनालय में एक एडिशनल डायरेक्टर, एक ज्वाइंट डायरेक्टर, कोरोना वायरस के लिए काम करने वाली एकीकृत रोग निगरानी कार्यक्रम के दो डिप्टी डायरेक्टर व एक अन्य उप संचालक बुखार से पीड़ित है।

स्वास्थ्य संचालनालय के सभी कक्षों को सैनिटाइज कराया गया

सभी के सैंपल कोरोना वायरस की जांच के लिए भेजे जा रहे हैं। स्वास्थ्य संचालनालय को शुक्रवार को पूरी तरह से बंद कर सभी कक्षों को सैनिटाइज कराया गया। शनिवार से संभवतः 50 फीसदी अधिकारी, कर्मचारी ही रोटेशन में काम करेंगे। स्वास्थ्य संचालनालय के कई अधिकारी, कर्मचारियों के क्वारंटाइन होने से कोरोना वायरस के नियंत्रण में दिक्कत आएगी। 

इतने प्रशासनिक अधिकारी आएगी जांच की किट खत्म हो गई

स्वास्थ्य संचालनालय से एक आईएएस अफसर समेत संयुक्त संचालक, उपसंचालक व अन्य कर्मचारी सुबह से ही जांच कराने जेपी अस्पताल पहुंच गए। यहां स्वास्थ्य जांच के बाद 85 लोगों के कोरोना वायरस के सैंपल जांच करने लिए हैं। शाम को भी कुछ संयुक्त संचालक व उपसंचालक जांच कराने पहुंचे लेकिन वायरल ट्रांसपोर्ट मीडिया (वीटीएम) किट खत्म होने की वजह से कई लोग बिना जांच लौटे। रात 8 बजे दोबारा किट मंगाई गई, इसके बाद कुछ अधिकारियों के सैंपल लिए गए।

03 अप्रैल को सबसे ज्यादा पढ़ी गईं खबरें

मध्य प्रदेश के हेल्थ डायरेक्टर डॉ जे विजय कुमार (IAS) दूसरी रिपोर्ट में भी कोरोना पॉजिटिव
कोरोना संक्रमण के डर से कई लोगों ने आत्महत्या कर ली
उज्जवला योजना: फ्री सिलेंडर का पैसा किसके अकाउंट में कब आएगा, पढ़िए
सीएम सर, क्या कोरोना ड्यूटी में सभी कर्मचारियों को समान लाभ मिलेंगे
भागकर घर में छुपा कोरोना मरीज, 12 घरवालों को पॉजिटिव कर गया
मंगलयान की तरह यदि AC को भी बार-बार ऑन-ऑफ करें तो क्या आधी बिजली खर्च होगी
इंदौर की महिला डॉक्टर लखनऊ से संक्रमित होकर आई थी: MGM रिपोर्ट
इंदौर में डॉक्टरों को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा, पथराव, संक्रमण की जांच करने गए थे
योद्धाओं की मूर्ति में घोड़ों की टांगे कभी ऊपर कभी नीचे क्यों होती है
MP BOARD 10th-12th के बाकी बचे पेपर कब होंगे, यहां पढ़िए


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here