Loading...    
   


सरकारी स्कूल और हॉस्टल क्वॉरेंटाइन सेंटर, रेल कोच आइसोलेशन वार्ड: भारत सरकार | NATIONAL NEWS

To control coronavirus infection, school, hostel and rail coach use as medical ward

नई दिल्ली। भारत सरकार ने सभी जिलों में स्थित केंद्रीय विद्यालयों, सरकारी स्कूलों एवं छात्रावासों को क्वॉरेंटाइन सेंटर बनाने का आदेश दिया है। भारत सरकार की ओर से कहा गया है कि आने वाले 2 या 3 दिनों में सभी तैयारियां पूरी कर दी जाए ताकि संक्रमण के संभावित लोगों को अलग-अलग वर्गों में विभाजित करके उन्हें क्वॉरेंटाइन किया जा सके। 

HRD मंत्रालय ने दी केंद्रीय विद्यालयों को इस्‍तेमाल करने की अनुमति 

दुनिया के दूसरे देशों में जिस तरह से इसके संक्रमण के विस्फोटक तरीके से बढ़ने के मामले सामने आये हैं। उसे देखते हुए और सतर्कता बरती जा रही है। इस बीच मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने केंद्रीय विद्यालयों का भी इसके लिए इस्तेमाल करने की अनुमति दे दी है। मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने इससे पहले नवोदय विद्यालयों और सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय ने वृद्धाश्रमों को अपने परिसर उपलब्ध कराने के निर्देश दिए है। 

शैक्षिक संस्‍थानों के साथ छात्रावास का भी किया जा सकेगा उपयोग 

मौजूदा समय में देशभर के करीब 230 जिलों में चार सौ से ज्यादा वृद्धाश्रम है। वहीं देश में करीब 12 सौ केंद्रीय विद्यालय है। इसी तरह लगभग सभी जिलों में शैक्षणिक संस्थानों के पास छात्रावास भी हैं। इनमें एससी-एसटी छात्रावास शामिल हैं। कोरोना के चलते शैक्षणिक संस्थानों के बंद होने से इनमें से ज्यादा छात्रावास मौजूदा समय में खाली है।

रेल कोचों को आइसोलेशन वार्ड में बदला जाएगा 

कोरोना वायरस से निपटने के लिए रेलवे ने भी कमर कस ली है। केंद्र सरकार के आह्वान पर रेलवे ने रेल कोचों को आइसोलेशन वार्ड में तब्‍दील करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। कपूरथला के रेल कोच फैक्टरी (आरसीएफ) की ओर से आइसोलेशन वार्ड वाले कोचों को तैयार करने का काम शुरू हो गया है। आरसीएफ के पास फिलहाल 40 ऐसे नॉन एसी कोच तैयार हैं, जिन्हें दो-तीन दिनों की मशक्कत के बाद आइसोलेशन वार्ड में तबदील किया जा सकेगा। एक कोच में दो या तीन आइसोलेशन बेड होंगे, इस पर अभी विचार चल रहा है। डॉक्टर के लिए भी कोच के भीतर ही व्यवस्था की जाएगी।

28 मार्च को सबसे ज्यादा पढ़ी गईं खबरें

CRPC की धारा 144 का उल्लंघन करने पर IPC की धारा 188 के तहत FIR क्यों होती है
'पास आउट' का सही अर्थ, 'अकॉर्डिंग टू मी' का मतलब क्या होता है 
टोटल लॉक-डाउन में पैसा कैसे कमाए, यहां पढ़िए 
VVIP कारों की प्लेट पर नंबर क्यों नहीं होते, कोई लॉजिक है या अकड़ दिखाने के लिए, पढ़िए
यदि पेट्रोल को इंडक्शन कुकर पर उबाला जाए तो क्या होगा, पढ़िए 
MP VIMARSH PORTAL 9th-11th EXAM RESULT DIRECT LINK यहां देखें
मध्यप्रदेश में शराब की दुकान मामले में शिवराज सिंह का यू-टर्न 
CORONA को खत्म करने महुआ के पेड़ से देवी प्रकट हुई, अफवाह उड़ी, मेला लगा, प्रशासन सोता रहा 
मप्र लॉकडाउन: कलेक्टर/एसपी के नाम संशोधित गाइडलाइन
मध्य प्रदेश कोरोना बुलेटिन: इंदौर-उज्जैन गंभीर, भोपाल-शिवपुरी चिंताजनक, जबलपुर-ग्वालियर कंट्रोल


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here