RED CARPET LOAN कथित एजेंट ठगी कर रहे हैं, दो गिरफ्तार
       
        Loading...    
   

RED CARPET LOAN कथित एजेंट ठगी कर रहे हैं, दो गिरफ्तार

भोपाल। RedCarpet Loan Credit and Finance से लोन दिलाने के नाम पर ठगी के मामले में दो युवकों को गिरफ्तार किया गया है। दोनों खुद को रेड कारपेट लोन कंपनी का एजेंट बता रहे थे। उन्होंने एक युवक से ₹10000 की ठगी की। साइबर क्राइम पुलिस का कहना है कि इस तरह की वारदातें वह पहले भी कर चुके हैं। बता दें कि रेड कारपेट लोन क्रेडिट एंड फाइनेंस ATM Cash + Credit + Card + Coupons : RedCarpet के नाम से एक मोबाइल ऐप का संचालन करता है। 

किस तरह ग्राहकों के साथ ठगी की गई

एएसपी संदेश जैन के मुताबिक ऐशबाग निवासी हरप्रीत सिंह ने उनके साथ हुई धोखाधड़ी की शिकायत की थी। बताया गया था कि OLX के माध्यम से वह दो युवकों के संपर्क में आया। दोनों ने मुझे लोन दिलाने का विश्वास दिलाया और फिर रेड कारपेट लोन एप डाउनलोड करने के लिए कहा। आरोपियों द्वारा हरप्रीत के मोबाइल पर रेड कारपेट एप डाउनलोड कराकर एप के माध्यम से क्रेडिट कार्ड जारी कराया। इसके बाद एप में आरोपियों ने ओटीपी नंबर हासिल करने के लिए अपनी ईमेल आईडी, मोबाइल नंबर आदि रजिस्टर्ड करा दिया। क्रेडिट कार्ड का ओटीपी नंबर प्राप्त करके ऑनलाइन 10 हजार रुपए मोवीक्विक वॉलेट के द्वारा निकाल लिए गए।

ASP संदेश जैन ने बताया कि जांच में दो मोबाइल नंबर सामने आए थे। इन नंबर का इस्तेमाल पीएचई परिसर माता मंदिर, भोपाल निवासी अक्षय सेन और न्यू सुभाष नगर निवासी सन्नी ददृगाल द्वारा किया जा रहा है। अक्षय और सन्नी ओएलएक्स पर विजय पाल का फर्जी नाम इस्तेमाल कर क्रेडिट कार्ड बनाने व लोन दिलवाने का झांसा देते थे। आरोपी अक्षय सेन अपने साथी सन्नी ददृगाल के साथ मिलकर ओएलएक्स के माध्यम से रेड कारपेट एप के द्वारा लोन दिलवाने का झांसा देकर एवं ग्राहकों के मोबाइल में रेड कारपेट एप डाउनलोड करवाकर क्रेडिट कार्ड बनवा कर, ग्राहकों के क्रेडिट कार्ड की गोपनीय जानकारी अपनी फर्जी ईमेल आईडी में प्राप्त कर उनसे ऑनलाइन पैसे अपने वॉलेट में ट्रांसफर कर लेते थे। दोनों के खिलाफ आईपीसी की धारा 420 और साइबर एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया है।