कोर्ट में राजीनामा की शर्त: सुरक्षाबलों के खाते में 12.50 हजार रुपए दान करें | GWALIOR NEWS

ग्वालियर। खबर मिली है कि पुलिस में शिकायत करने के बाद आरोपी से समझौता कर कोर्ट में केस खत्म करने के लिए आवेदन करने वाली युवती पर कोर्ट ने राजीनामा की शर्त लगाई है। राजीनामा की कार्रवाई तभी पूरी होगी जब फरियादी लड़की ढाई हजार रुपे और आरोपित लड़की ₹10000 भारत के सुरक्षाबलों के खाते में जमा करा देंगे।

मामला क्या है
एक युवती ने पुलिस में शिकायती आवेदन दिया कि कोई उसके ही रिश्तेदारों को उसकी आपत्तिजनक फोटो भेज रहा है। सायबर पुलिस ने मामले की जांच की तो पता चला कि युवती की ही चचेरी बहन ने यह कारनामा किया है। पुलिस ने मामला दर्ज किया। शिकायतकर्ता और आरोपी, दोनों एक ही परिवार के हैं। ऐसे में घर के बुजुर्गों ने मामले को समझौते से सुलझाने का सुझाव दिया। दोनों पक्षों ने कोर्ट में समझौते के लिए आवेदन लगाया, जिसे कोर्ट ने स्वीकार कर लिया। तय किया गया कि जिस बहन के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है, वह 10 हजार और जिस बहन की शिकायत पर एफआईआर दर्ज हुई है, वह ढाई हजार रुपए भारत के वीर एप में जमा कराएं। 

जानिए भारत के वीर एप क्या है 

जैसा कि नाम से समझ में आ रहा है यह एप्प भारत के वीरों के लिए है। इस मोबाइल एप्लीकेशन के माध्यम से Central Armed Police Forces (CAPF) यानी भारत के सुरक्षा बलों को दान दिया जाता है। लोगों से मिलने वाले सहयोग से सुरक्षाबलों के जवानों के लिए सुविधाएं (जैसे दवाइयां, जूते, बुलेट प्रूफ जैकेट, अत्याधुनिक हथियार) जुटाई जाती है। 

भारत में कितने हथियार बंद सुरक्षा बल है

1. Assam Rifles (AR) 
2. Border Security Force (BSF) 
3. Central Industrial Security Force (CISF) 
4. Central Reserve Police Force (CRPF) 
5. Indo-Tibetan Border Police (ITBP) 
6. National Disaster Response Force (NDRF) 
7. National Security Guard (NSG) 
8. Sashastra Seema Bal (SSB)