भाजपा नेता प्रीतम लोधी के कब्जे से 120 करोड़ की जमीन मुक्त कराई | GWALIOR NEWS
       
        Loading...    
   

भाजपा नेता प्रीतम लोधी के कब्जे से 120 करोड़ की जमीन मुक्त कराई | GWALIOR NEWS

ग्वालियर। जिला प्रशासन द्वारा भू माफिया के खिलाफ जारी मुहिम के तहत पुरानी छावनी क्षेत्र में जलालपुर गांव के बाहर मैन रोड पर लगी 60 बीघा भूमि पर से अवैध कब्जा हटाया। एसडीएम प्रदीप तोमर ने बताया कि प्रीतम लोधी (Pritam Lodhi) और उनके परिजनों ने 60 बीघा शासकीय भूमि पर अवैध रूप से कब्जा करते हुये सरसों व गेहूं की फसल कर ली थी। कब्जा करने वालों के नाम परमाल सिंह, रामकरण, प्रीतम लोधी, राजू, शेरा, पंकज, मोहनलाल, सोनेराम, निहाल सिंह, अमरीक सिंह, पंकज लोधी, शरमन लोधी, विजय लोधी और भूप सिंह बताये गये हैं। 

कुल भूमि की बाजारू कीमत 1.20 अरब बताई गई है। एक बीघा की कीमत करीब 2 करोड़ रुपये आंकी गयी है।कब्जेधारियों ने मुख्य सडक़ से लगी और तलवार वाले हनुमान मंदिर के पास की इस भूमि पर लंबे समय से अवैध रूप से कब्जा कर लिया है। जिला प्रशासन पहले भी इस भूमि से चार दीवारी तोडक़र कब्जा ले चुका है। मगर इसके बाद प्रशासन ने स्थायी तौर पर भूमि की बाउंड्री नहीं की। इस वजह से कब्जेधारियों ने फिर से अपने पैर पसारते हुए शासकीय भूमि पर कब्जा कर लिया। भाजपा नेता प्रीतम लोधी शिवपुरी में पिछोर से भाजपा के टिकट पर विधानसभा का चुनाव लड़ चुके हैं। 

उन्हें पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती का बेहद करीबी माना जाता है और लोधी के खिलाफ पूर्व में भी जिला प्रशासन गैंगस्टर की कार्यवाही कर चुका है। इस मामले में प्रीतम लोधी को जेल भी जाना पड़ा था। वर्तमान में प्रीतम लोधी की बहू जलालपुर क्षेत्र से पार्षद भी हैं।

उधर जिला प्रशासन द्वारा पूर्व में सिटी सेंटर में तोड़े गये भाजपा नेताओं के करीबी राजू कुकरेजा और ललित नागपाल के होटल लासफायर की क्षतिग्रस्त इमारत को विस्फोट से पूरी तरह गिराने के लिये इंदौर से विस्फोट विशेषज्ञ शरद सरवटे ग्वालियर आ रहे हैं। वे यहां रुककर क्षतिग्रस्त इमारत को विस्फोट से पूरी तरह नीचे गिरायेंगे।