प्राइमरी से 12वीं तक का स्कूल टाइम बदला | JABALPUR SCHOOL TIME CHANGE
       
        Loading...    
   

प्राइमरी से 12वीं तक का स्कूल टाइम बदला | JABALPUR SCHOOL TIME CHANGE

जबलपुर। कलेक्टर श्री भरत यादव ने पिछले एक सप्ताह से तापमान में लगातार गिरावट और बढ़ती ठंड के कारण छात्र-छात्राओं को हो रही परेशानी को देखते हुए प्राथमिक से लेकर हायर सेकेण्डरी तक सुबह की पाली में संचालित जिले के सभी विद्यालयों का संचालन सुबह 8.20 बजे के बाद करने के आदेश दिये हैं। कलेक्टर द्वारा जारी यह आदेश सभी शासकीय, अशासकीय स्कूलों के साथ-साथ मान्यता प्राप्त सीबीएसई एवं आईसीएसई विद्यालयों पर तत्काल प्रभाव से लागू होगा।

नेशनल हैण्डलूम एक्सपो 13 दिसम्बर से 

जबलपुर। संस्कारधानी जबलपुर में पहली बार हाथकरघा क्षेत्र में राष्ट्रीय स्तर के नेशनल हैण्डलूम एक्सपो का आयोजन एमएलबी स्कूल मैदान राइट टाउन में 13 दिसम्बर से 26 दिसम्बर तक किया जा रहा है। यह आयोजन भारत सरकार के विकास आयुक्त (हाथकरघा) वस्त्र मंत्रालय, भारत सरकार के सहयोग से मप्र हस्तशिल्प एवं हाथकरघा विकास निगम लिमिटेड द्वारा किया जा रहा है। आयोजन का शुभारंभ प्रदेश के कुटीर एवं ग्रामोद्योग मंत्री श्री हर्ष यादव तथा सामाजिक न्याय एवं नि:शक्तजन कल्याण तथा अनुसूचित जाति कल्याण मंत्री श्री लखन घनघोरिया द्वारा दोपहर 12 बजे किया जाएगा। आयोजन स्थल पर बुनकर सेवा केन्द्र (वस्त्र मंत्रालय भारत सरकार) नागपुर द्वारा वस्त्र निर्माण की प्रक्रिया का प्रदर्शन किया जाएगा। इस आयोजन में देश की लगभग 70 बुनकर समितियां सम्मिलित होंगी।

राष्ट्रीय स्तर के इस आयोजन में लगभग 100 स्टॉल लगाए जाएंगे तथा बच्चों क मनोरंजन के लिए बोन्सी, स्वादिष्ट व्यंजन भी उपलब्ध रहेंगे। प्रतिदिन सांस्कृतिक कार्यक्रम भी आयोजित होंगे ताकि वस्त्रों की खरीदी के साथ लोगों का मनोरंजन भी हो सके। इस आयोजन का मूल उद्देश्य हाथकरघा बुनकरों को मार्केटिंग प्लेटफार्म उपलब्ध कराना है ताकि उन्हें प्रोत्साहन मिल सके।

नेशनल हैण्डलूम एक्सपो में सभी बुनकर अपने उत्पादों को उनके द्वारा निर्धारित दरों पर ग्राहकों को सीधे विक्रय करेंगे। एक्सपो में राजस्थान की सुप्रसिद्ध रजाईयां, जम्मू-कश्मीर की शालें, भागलपुर की चादरें, बिहार के कोसा वस्त्र, पश्चिम बंगाल की हैण्डलूम साड़ियां और तांत शिल्प, उड़ीसा का हाथकरघा, पंजाब की फुलकारी, लखनऊ की चिकनकारी के कपड़े, मेरठ का प्रसिद्ध सूती कपड़ा, भदोही उत्तरप्रदेश के कालीन, कर्नाटक की कांजीवरम् साड़ियों के साथ मध्यप्रदेश की चंदेरी साड़ियां एवं सूट भी क्रय किए जा सकेंगे। आयोजन स्थल पर पार्किंग व्यवस्था नि:शुल्क रहेगी।