Loading...

KHANDWA में हनीट्रैप के शिकार इंजीनियर ने सुसाइड किया, लड़की गिरफ्तार, जेल भेजा

खंडवा। हनीट्रैप के शिकार एक इंजीनियर आकाश राजकुमार हल्दवानी ने रेल से कटकर आत्महत्या कर ली। पुलिस का कहना है कि जिस एनजीओ में इंजीनियर आकाश काम करता था उसी एनजीओ की प्रोजेक्ट को-ऑर्डिनेटर शीना नेगी ने उसे अपने प्यार के जाल में फंसा लिया था। वो आकाश को ब्लैकमेल कर रही थी। इसी से तंग आकर आकाश ने आत्महत्या की। मोघट पुलिस ने प्रारंभिक जांच के बाद जिले में संचालित एक एनजीओ की प्राेजेक्ट को-आर्डिनेटर शीना नेगी पिता सुभाष नेगी (25) निवासी आजाद नगर के खिलाफ धारा 306 (आत्महत्या के लिए प्रताड़ित) का मामला दर्ज किया। सोमवार शाम 4 बजे मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट रश्मि वाल्टर की कोर्ट में पेश किया, जहां से उसे जेल भेज दिया।

मोघट थाने में मृतक आकाश की मां सीमा व भाई अभिषेक ने बयान के दौरान शीना नेगी पर आरोप लगाए कि वह आकाश पर शादी के लिए दबाव बना रही थी। इंकार करने पर झूठे केस में फंसाने की धमकी दे रही थी। इससे प्रताड़ित होकर आकाश ने ट्रेन की पटरी पर सिर रखकर आत्महत्या कर ली। आकाश को शनिवार शाम 6 बजे शीना का फोन आया था। तब से ही वह परेशान था। शाम 6.30 बजे आकाश घर से निकल गया। आकाश की मां सीमा ने कई बार फोन लगाया, लेकिन बात नहीं हो सकी। रात 10.45 बजे आकाश ने मां से फोन पर कहा कि आधा-एक घंटे में घर आ रहा हूं लेकिन रात 12.30 बजे उसकी मौत की खबर आई। आकाश की मोबाइल कॉल डिटेल व शीना द्वारा आकाश की मां के वाट्सएप पर मैसेज, देहरादून में रह रही मां के मोबाइल की कॉल डिटेल व वाइस रिकार्डिंग के आधार पर प्रारंभिक जांच में पुलिस ने मामला दर्ज किया।

शीना बोली: आकाश ने मुझे रिकॉर्डिंग के लिए कहा था

मेरी कोई गलती नहीं है। आकाश का मेरे पास फोन आया था, उसने कहा कि मेरे मम्मी पापा का ध्यान रखना और मैं ये सब अपनी मर्जी से कर रहा हूं। तुम इस चीज काे रिकार्ड कर लो वरना लोग तुम्हें टार्चर करेंगे। मेरे मम्मी पापा भी तुम्हें टार्चर करेंगे। इसलिए आप रिकार्ड कर लो। मैं ये सब अपनी मर्जी से कर रहा हूं। मेरे पास वह रिकार्डिंग है, पुलिस को भी सुनाई है।

सराफा में युवक को चप्पल से पीटा, मीडियाकर्मियों को धमकाया था

युवती का विवादों से पुराना नाता है। 28 जुलाई 19 को फेसबुक पर दोस्त बनाने के बाद सराफा व्यवसायी के बेटे ने इनबॉक्स में अश्लील चेटिंग कर दी थी। शीना ने अपने फेसबुक वॉल पर युवक की करतूत को शेयर किया। अपने एक दोस्त के साथ सराफा बाजार में घर के बाहर युवक की चप्पल से पिटाई कर दी। फेसबुक के माध्यम से पत्रकारों को धमकाया था कि अगर किसी ने भी उसका वीडियो वायरल किया तो उसका भी यही हाल कर कानूनी कार्रवाई भी करवाऊंगी। आरोपी ने महिला होने का कई बार गलत फायदा उठाया।

जेल वारंट सुनते ही जज के सामने रोने लगी

मोघट पुलिस ने शीना के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया। शीना के बयान दर्ज किए। इसके बाद उसे कोर्ट ले गए। केस डायरी पढ़ने के बाद जज द्वारा जेल वारंट का आदेश सुनते ही रोने लगी। जज के आगे रोई-गिड़गिड़ाई, जमानत आवेदन लगाने वाले अधिवक्ता वीरेंद्र वर्मा ने जमानत की अपील की, लेकिन उसे खारिज कर दिया। अभियोजन अधिकारी हरिप्रसाद बांके ने जमानत आवेदन पर आपत्ति लेते हुए तर्क दिया कि मामला अभी जांच में है। जमानत देना उचित नहीं होगा।

प्रारंभिक जांच के दौरान मामला प्रताड़ना का लग रहा है। कॉल डिटेल के अनुसार दोनों के बीच प्रेम-प्रसंग की बात भी सामने आई है। आकाश कुछ दिनों से शीना को लेकर परेशान था। आरोपी के खिलाफ केस दर्ज कोर्ट में पेश किया। जहां से उसे जेल भेज दिया है। पीएम रिपोर्ट में ट्रेन से कटने से मौत होना बताया है।
मोहनसिंह सिंगोरे, टीआई, मोघट थाना