Loading...

विधायक पति के खिलाफ DATIA का पूरा जिला प्रशासन लामबंद, गिरफ्तारी का दवाब

दतिया। एसडीएम दतिया जेपी गुप्ता के हाथ से मोबाइल छीनना व उनके चैंबर में कार्यकर्ताओं के साथ हंगामा करना भांडेर विधायक रक्षा सिरौनिया के पति संतराम सिरौनिया काे भारी पड़ गया। बड़ौनी थाना पुलिस ने एसडीएम गुप्ता की रिपोर्ट पर गुरुवार काे विधायक के पति संतराम सिराैनिया, जीतू दांगी व अजय शुक्ला के साथ चार-पांच अन्य लोगों पर सरकारी काम में बाधा डालने, गाली गलौच करने सहित विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया है। 

बड़ौनी थाना पुलिस ने एक अधिकारी को धमकाने के आरोप में भांडेर से कांग्रेस विधायक रक्षा सिरौनिया के पति संतराम सिरौनिया सहित कुछ अन्य लोगों के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है। सिर्फ इतना ही नहीं, विधायक के पति सहित सभी आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर प्रशासनिक और अन्य विभागों के अधिकारियों ने एकजुट होकर कलेक्टर बीएस जामोद को ज्ञापन भी सौंपा।

ज्ञापन में चेतावनी दी कि आरोपी तीन दिन में गिरफ्तार नहीं हुए तो वे चरणबद्ध आंदोलन करेंगे। उधर, धारा 144 लागू होने के बावजूद बिना अनुमति पूर्व मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा का पुतला दहन करने और पुलिस के साथ धक्कामुक्की करने वाले कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर भी कोतवाली पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है।

बता दें कि बुधवार को गिट्‌टी की ट्रैक्टर-ट्रॉली छुड़वाने के लिए भांडेर की कांग्रेस विधायक रक्षा सिरौनिया के पति संतराम सिरौनिया ने एसडीएम गुप्ता को फोन किया था। जब एसडीएम ने ट्रैक्टर-ट्रॉली नहीं छोड़ी तो विधायक के पति अपने समर्थकों के साथ एसडीएम के चैंबर में पहुंच गए। इस दौरान एसडीएम अपने मोबाइल में रिकार्डिंग करने लगे तो संतराम ने उनके हाथ से मोबाइल फोन छीन लिया था। साथी कार्यकर्ताओं ने एसडीएम पर 10 हजार रुपए कि रिश्वत मांगने के आरोप के साथ गाली गलौज की थी। मोबाइल छीनकर संतराम कलेक्टर के पास पहुंचे और कलेक्टर के चैंबर में मोबाइल छोड़कर चले गए। साथ ही जब्त की गई गिट्‌टी की ट्रैक्टर-ट्रॉली ले गए थे।

गुरुवार को मामले ने तूल पकड़ा। सभी प्रशासनिक अधिकारियों के साथ विभिन्न विभागों के अधिकारी लामबंद हो गए। अधिकारियों के लामबंद होते ही एसडीएम गुप्ता के आवेदन पर बड़ौनी थाना पुलिस ने विधायक के पति और उनके समर्थकों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली।