Loading...

SHIVPURI में पथरीले मैदान पर राज्यस्तरीय प्रतियोगिता करा डाली, 15 खिलाड़ी घायल | MP NEWS

ललित मुदगल/शिवपुरी। मध्यप्रदेश में भ्रष्टाचार अब जानलेवा हो गया है। खेल प्रतियोगिताओं के आयोजन के लिए मैदान की साफ सफाई के लिए फंड दिया जाता है परंतु शिवपुरी में राज्यस्तरीय हैंडबॉल प्रतियोगिता का आयोजन पथरीले मैदान पर करा डाला। नतीजा 15 खिलाड़ी घायल हो गए। चौंकाने वाली बात यह है कि घायल खिलाड़ियों को बिना मेडिकल मुआवजा दिए घर भेजा जा रहा है और जानलेवा पथरीले मैदान पर प्रतियोगिता लगातार जारी है।

2 लड़कियां गंभीर रूप से घायल हुईं

शिवपुरी में शिक्षा विभाग की शालेय खेलकूद प्रतियोगिता के तहत राज्यस्तरीय हैंडबॉल प्रतियोगिता आयोजित की जा रही है। यह प्रतियोगिता शहर के पोलो ग्राउंड में हो रही है। ग्राउंड के पथरीले और कंक्रीट भरे होने के कारण दो दिनों से जारी हैंडबॉल प्रतियोगिता में ठोकरें खाने और फिसलने से 15 बालक-बालिका खिलाड़ी जख्मी हो चुके हैं। इनमें से ज्यादा जख्मी दो बालिकाओं को जिला अस्पताल में इलाज के लिए लाया गया।

कंधे की कॉलर की हड्डी टूटी

यहां डॉक्टर ने एक बालिका को कंधे की कॉलर की हड्डी टूट जाने पर डेढ़ महीने आराम की सलाह दी है। सागर की रहने वाली इस बालिका खिलाड़ी का कहना है कि माता-पिता को उससे अच्छे खेल प्रदर्शन की उम्मीद थी। वह घाव लेकर घर नहीं जाना चाहती थी। कुछ खिलाड़ियों का एंबुलेंस में ही प्राथमिक इलाज करके उन्हे वापस भेज दिया गया। 

सागर की प्रिया कुमारी घर जाने को तैयार नहीं

जख्ती खिलाड़ी प्रिया कुमारी को डॉक्टर ने डेढ़ महीने बेड रेस्ट की सलाह दी तो वह अपने कोच से कहने लगी कि इस घाव के साथ घर नहीं जाना। डॉक्टर ने कोच को सलाह दी कि बालिका को घर भेज दिया जाए ताकि वहां उसकी देखभाल ठीक से हो सके। कोच ने मैच खिलाने से मना कर दिया है। वहीं छात्रा घर जाने से इनकार कर ही है।

छात्रा प्रतिभा के दोनों पैर के घुटने घायल

पथरीले ग्राउंड में खेल के दौरान शुक्रवार को सागर की अंडर-17 टीम में शामिल बालिका खिलाड़ी प्रिया कुमारी पुत्री ओमकुमार की कॉलर की हड्डी टूट गई है, जिससे डॉक्टर ने उसे डेढ़ महीने तक आराम करने की सलाह दी है। दूसरी छात्रा प्रतिभा श्रीवास पुत्री बद्री श्रीवास को दोनों घुटनों में चोट है। एक घुटने में ज्यादा चोट होने पर पट्टी बांध दी है।

खेल अधिकारी का बेशर्म बयान

महेंद्र सिंह तोमर, जिला क्रीड़ा अधिकारी, शालेय खेलकूद शिक्षा विभाग शिवपुरी ने बेशर्मी भरा बयान दिया है। कहा: पिछले साल हैप्पी डेज स्कूल में कराई हैंडबॉल प्रतियोगिता का लोगों ने विरोध किया था। इस बार पोलो ग्राउंड पर प्रतियोगिता करानी पड़ी। दूसरा कोई मैदान नहीं मिला। अंडर 14 बालिका नेशनल प्रतियोगिता शिवपुरी में ही होना है। इसके लिए अच्छा मैदान ही चुनेंगे।