Loading...

ITI छात्र चेन स्नेचर: मास्टर माइण्ड का पिता शराब कारोबारी | GWALIOR NEWS

ग्वालियर। शौक पूरा करने के लिए आईटीआई (ITI) करने आए छात्र चेन स्नेचर बन गए और चार दिन में एसएफ के डिप्टी कमाडेंट की पत्नी सहित लूट की आधा दर्जन वारदातों को अंंजाम दे दिया। सीसीटीवी फुटेज के आधार पर कंपू थाना पुलिस ने तीन बदमाशों को दबोच लिया है। पकड़े गए गिरोह का मास्टर माइण्ड एक शराब ठेकेदार का बेटा है। पुलिस ने बदमाशों से लूटी गई चेन बरामद कर पूछताछ शुरू कर दी हॅै। पुलिस अफसरों का मानना है कि पकड़े गए बदमाशों से पूछताछ के बाद अन्य वारदातों का भी खुलासा होगा।

एसपी नवनीत भसीन ने बताया कि पिछले कुछ दिनों में शहर में लगातार चेन स्नेचिंग की वारदातों को बदमाशों ने अंजाम दिया था। वारदातों को देखते हुए जिन इलाकों में वारदात हुई, उन इलाकों से संदेही बदमाशों के फुटेज लिए और पड़ताल के बाद दो युवकों आकाश जादौन पुत्र अरविन्द सिंह जादौन (Akash Jadoun son Arvind Singh Jadoun) निवासी थाने के सामने सबलगढ़ और क्रष्णकांत त्यागी पुत्र सुरेश त्यागी (Krishnakant Tyagi son Suresh Tyagi) निवासी सबलगढ को आमखो बस स्टैण्ड से बाइक सहित पकड़ा। पुलिस पूछताछ के बाद उनसे लूट की पांच वारदातों का खुलासा हुआ है। साथ ही बताया कि उनके साथ ही छोटू पण्डित (CHOTU Pandit )उर्फ सौरभ शर्मा पुत्र योगेश शर्मा (Saurabh Sharma son Yogesh Sharma) निवासी जेल के पीछे सबलगढ व सूरज खरे निवासी लखनपुरा सबलगढ़ बताया। पुलिस ने दबिश देकर छोटू पण्डित उर्फ सौरभ शर्मा को दबोच लिया है। 

जबकि मौका पाकर सूरज खरे भाग निकला। पूछताछ में पकड़े गए आरोपियों ने बताया कि वे छात्र है और शौक पूरा करने के लिए घर वालों द्वारा भेजे जाने वाले रुपए कम पड़ते थे, इसलिए लूट की वारदातों को अंजाम देने लगे।

बताया गया है कि इस गिरोह का मास्टर माइण्ड आकाश जादौन है और वह शराब ठेकेदार का बेटा है। साथ ही पता चला है कि फरार आरोपी सूरज खरे एसएएफ से बर्खास्त जवान है और चौदवीं बटालियन मेें पदस्थ था। पुलिस ने उसकी तलाश में पुलिस टीम मुरैना रवाना की है।

पुलिस ने चेन बरामद करने के लिए पूछताछ की तो आकाश ने बताया कि लूटी गई सभी चेन थाटीपुर स्थित उनके रूम में रखी हुई है। इसका पता चलते ही पुलिस ने उसके कमरे से लूटी गई पांच चेन बरामद कर ली है। बरामद चेनों में हाल ही में डिप्टी कमाण्डेट अश्वनी शर्मा की पत्नी सहित दो वारदातें कंपू, एक गोला का मंदिर और माधौगंज व पड़ाव की वारदाते ट्रेस हुई है।

तीन साल से फरार ठग पकड़ा

तीन साल से फरार ठगी के आरोपी को कंपू थाना पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर कानपुर देहात से प्रदीप कुमार पुत्र रमेश चंद्र पाल को पकड़ा है। आरोपी वर्ष 216 से फरार चल रहा था और उसने सीआईएसएफ में भर्ती होने के लिए फर्जी जाति प्रमाण-पत्र व मूल निवासी बनवाए थे। पुलिस ने पकड़े गए आरोपी से पूछताछ शुरू कर दी है।