Loading...

OYO के कारण INDORE का परिवार आधी रात को JODHPUR में सड़क पर भटकता रहा

इंदौर। पवन मुछाल अपने परिवार के साथ जोधपुर घूमने गए हैं। उन्होंने OYO के जरिए एडवांस पेमेंट देकर होटेल बुक किया था परंतु जब वहां पहुंचे तो पता चला कि उनका कोई रिजर्वेशन नहीं है। यह घटना रात 11 बजे की है। मुछाल परिवार रात 11 बजे जोधपुर में सड़क पर था। उन्होंने OYO से शिकायत की तो उसने 70 किलोमीटर दूर दूसर होटल में चेकइन करने को बोला, वहां फोन किया तो पता चला ​कि वो होटल भी OYO वालों की बुकिंग नहीं ले रहा है। रात करीब 2 बजे उन्होंने बिना OYO की मदद के प्राइवेट होटल बुक किया। 

एडवांस पेमेंट किया था, बुकिंग कंफर्म थी

इंदौर के पवन मुछाल परिवार के चार सदस्यों के साथ बीकानेर होते हुए रविवर रात 11 बजे जोधपुर पहुंचे थे। जोधपुर टूर के लिए इन्होंने OYO मोबाइल एप से होटल मोनार्च रीजेंसी में दो दिन के लिए रूम बुक करवाए थे। बुकिंग कन्फर्म थी, 1701 रुपए किराए का भी भुगतान कर दिया था। पवन निश्चिंत थे कि होटल बुक है। रात करीब 11:30 बजे वे टैक्सी कर होटल पहुंचे। होटल में कमरों की चॉबी मांगी तो होटल स्टाफ ने उनकी बुकिंग होने से इनकार कर दिया। 

रात 12:45 ओयो ने दूसरे जिले में होटल बुकिंग बताई

पवन के मुताबिक होटल वाले ने उन्हें रात 11:30 बजे रूम देने से मना कर दिया। रात में परिवार को लेकर अब वे कहां जाएं, इस सवाल का जवाब पाने के लिए उन्होंने कई बार ओयो के कस्टमर केयर पर फोन किया। हर बात कई मिनट तक कॉल वेटिंग में रखने के बाद बंद कर दी जाती। आखिर रात करीब 12:45 बजे ओयो ने आमबा हवेली होटल में रूम बुक करने की जानकारी दी। जब उन्होंने कार ड्राइवर से होटल के बारे में पूछा तो पता चला कि वह जोधपुर से 75 किलोमीटर दूर पाली जिले में है।

होटल वाला बोला हम ओयो के साथ काम ही नहीं करते

पवन ने फिर से ओयो में फोन कर कहा कि अहसान कर ये जो रूम दिए हैं, वहां जाने के लिए टैक्सी कौन देगा? पवन ने टैक्सी मांगी तो ओयो ने इंतजार करने का कहकर फिर फोन काट दिया। इस बीच पवन ने आमबा हवेली होटल में फोन कर अपने रूम की कंफर्मेशन के बारे में पूछा तो वहां से भी यही जवाब मिला कि वे ओयो के साथ काम नहीं करते। 

रात 1:45 बजे ओयो ने कहा कि हम रिफंड कर देंगे

पवन फिर ओयो में फोन करते रहे। आखिर रात 1:45 बजे ओयो ने यह कहकर पल्ला झाड़ लिया कि वे बुकिंग राशि रिफंड कर देंगे। आधी रात परिवार के साथ सड़क पर परेशान होने के बाद पवन ने अपने टैक्सी ड्राइवर से शहर की होटल्स के बारे में जानकारी लेकर दूसरे एप के माध्यम से होटल में बुकिंग करवाई और वहां पहुंच राहत की सांस ली।

ओयो से हमारा अनुबंध खत्म

जोधाणा होटल्स एंड रेस्टोरेंट सोसाइटी के अध्यक्ष जेएम बूब के मुताबिक, होटल संचालक ओयो से अनुबंध खत्म कर चुके हैं, फिर भी वह बुकिंग ले रहा है। होटल संचालक अब इस बात पर विचार कर रहे हैं कि उनकी अनुमति के बिना लोगों से उनके रूम के पैसे लेने के खिलाफ पुलिस में धोखाधड़ी के मुकदमे दर्ज करवाएं जाएं।