MANDSAUR में PASHUPATINATH के अलौकिक दर्शन: पशुपतिनाथ के सभी 8 मुख जलमग्न

भोपाल। मध्य प्रदेश के मंदसौर स्थित पशुपतिनाथ मंदिर में अलौकिक दर्शन हो रहे हैं। महादेव का अष्टमुखी शिवलिंग पूरी तरह से जलमग्न हो गया है। पशुपतिनाथ के सभी 8 मुख जलमग्न हैं। अब सिर्फ शिव का त्रिशूल दिखाई दे रहा है। बता दें कि यहां शिवान नदी हर साल शिवलिंग का अभिषेक करने आती है। 

रातभर हुई तेज बारिश के कारण पूरा मंदसौर तो पानी से तरबतर है ही, पशुपतिनाथ मंदिर भी पानी भर गया है। ये मंदिर शिवना नदी के तट पर बसा है। नदी उफान पर आने के कारण दो दिन पहले ही पानी मंदिर के गर्भगृह में आ गया था और शिवलिंग के चार मुख जलमग्न हो गए थे। आज मंदिर में इतना पानी भर गया कि पूरा शिवलिंग जलमग्न हो गयी। भगवान पशुपतिनाथ के आठों मुख जलमग्न हो गए। अब सिर्फ मूर्ति का थोड़ा-सा ऊपरी हिस्सा और त्रिशूल ही दिखाई दे रहा है।

डैम के 8 गेट खोले
मंदसौर की कई निचली बस्तियों में भी हालात खराब हैं। कई बस्तियां खाली करा ली गयी हैं। यहां रहने वाले लोगों को राहत शिविरों में भेजा गया है। बाढ़ से जनजीवन अस्त-व्यस्त है। काला भाटा स्थित अटल सागर बांध के छह गेट 8 फीट तक खोल दिए गए हैं। रेतम बेराज गाडगिल सागर के गेट भी खोलने पड़े. प्रशासन ने अलर्ट जारी किया है।

पानी में डूबी बस्तियां
मंदसौर शहर की कई निचली बस्तियों में पानी भर गया है। धान मंडी ,पतासा गली ,खानपुरा नयापुरा रोड, भारत माता चौराहा, बस स्टैंड जिला चिकित्सालय सहित कई इलाकों में बाढ़ का पानी घुसा हुआ है। प्रशासन ने राहत कार्य शुरू कर दिए हैं।