JABALPUR NAGAR NIGAM में घूसखोरी, 2 कर्मचारी गिरफ्तार

जबलपुर। लोकायुक्त पुलिस की टीम ने शनिवार को जबलपुर नगर निगम के पेंशन विभाग में योजनाबद्ध तरीके से 20 हजार रुपये की रिश्वत लेते दो निगम के दो कर्मचारियों राकेश पांडे और लता नामदेव को रंगेहाथों गिरफ्तार किया है। बताया गया है कि निगम कर्मियों ने एक रिटायरमेंट सफाईकर्मी से पेंशन फंड दिलाने के एवज में रिश्वत की मांग की थी, जिसकी शिकायत लोकायुक्त पुलिस से की गई थी। इसके बाद लोकायुक्त पुलिस ने यह कार्रवाई की।

महिला सफाई कर्मचारी का पेंशन फंड अटका रखा था

जबलपुर लोकायुक्त डीएसपी जेपी वर्मा ने बताया कि नगर निगम के अंतर्गत सफाई कर्मचारी रही श्यामा बाई जून 2019 में रिटायर हुए थी और उसका पेंशन फंड करीब पांच लाख रुपये था, जिसके लिए वह निगम में पेंशन विभाग के चक्कर काट रही थी। पेंशन विभाग में पदस्थ बाबू राकेश पांडे और लिपिक लता नामदेव ने उससे फंड दिलाने के एवज में 40 हजार रुपये की रिश्वत की मांग की थी और यह राशि दो किश्तों में चुकानी थी। श्यामा बाई के पुत्र मनीष महतो ने इसकी शिकायत लोकायुक्त पुलिस से की। 

क्लर्क राकेश पांडे और लता नामदेव गिरफ्तार

शनिवार को लोकायुक्त पुलिस ने योजना के तहत फरियादी मनीष को रिश्वत की पहली किश्त के 20 हजार रुपये लेकर नगर निगम के पेंशन कार्यालय भेजा और जैसे ही उसने दोनों कर्मियों को उक्त राशि दी, उसी समय लोकायुक्त की टीम ने दोनों को गिरफ्तार कर लिया। लोकायुक्त की टीम ने बाबू राकेश पांडे और लिपिक लता नामदेव के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत प्रकरण दर्ज कर लिया है और आगे की कार्रवाई जारी है।

लोकायुक्त की टीम

इस कार्रवाई में लोकायुक्त डीएसपी जेपी वर्मा के साथ निरीक्षक मंजू किरण तिर्की, आरक्षक अमित गावड़े, आरक्षक शरद पांडे, आरक्षक दिनेश दुबे, महिला आरक्षक लक्ष्मी रजक और चालक रविन्द्र सिंह व जीत सिंह ने अहम भूमिका निभाई।